scorecardresearch
 

रंजीत सिंह मर्डर केसः अब 18 अक्टूबर को होगा गुरमीत राम रहीम की सजा का ऐलान

बहुचर्चित रंजीत सिंह हत्या मामले में 19 साल बाद सीबीआई की विशेष अदालत गुरमीत राम रहीम, कृष्ण लाल, अवतार, जसवीर और सबदिल के खिलाफ आज सजा सुनाएगी. इसी के मद्देनजर सुरक्षा चाक-चौबंद की गई है.

राम रहीम के खिलाफ सजा का होगा ऐलान (फाइल फोटो) राम रहीम के खिलाफ सजा का होगा ऐलान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राम रहीम के खिलाफ सजा का ऐलान 18 को
  • पुलिस ने पंचकूला में लागू की धारा 144
  • 17 पुलिस नाके लगे, 700 जवानों की तैनाती

पूर्व डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह की हत्या मामले में दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की सजा का ऐलान अब 18 अक्टूबर होगा. साल 2002 में रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मंगलवार को सीबीआई कोर्ट गुरमीत राम रहीम सिंह समेत 5 दोषियों के खिलाफ इस मामले में सजा का ऐलान होना था. जिसे अदालत ने टाल दिया. 

इसी के मद्देनजर पुलिस ने मंगलवार को पंचकूला में कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किये थे. पंचकूला पुलिस द्वारा शहर में 17 पुलिस नाके लगाए गए थे. जिसमें 700 जवानों की तैनाती की गई थी. 

बहुचर्चित रंजीत सिंह हत्या मामले में 19 साल बाद सीबीआई की विशेष अदालत बलात्कारी गुरमीत राम रहीम, कृष्ण लाल, अवतार, जसवीर और सबदिल के खिलाफ अब 18 को सजा सुनाएगी. आज की सुनवाई के दौरान मुख्य दोषी बलात्कारी गुरमीत राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुए. जबकि आरोपी कृष्णलाल, अवतार, जसवीर और सबदील प्रत्यक्ष रूप से सीबीआई कोर्ट में पेश होंगे. पुलिस द्वारा उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था.

चौकन्नी है पुलिस 

मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस ने पूरे शहर में धारा 144 लागू कर दी है. शहर में 17 पुलिस नाके लगाए गए हैं और 700 जवानों की तैनाती की गई है. इससे पहले 25 अगस्त 2017 को सीबीआई की विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दो साध्वियों के यौन शोषण मामले में दोषी करार दिया था. इसके बाद पंचकूला समेत पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और पांच अन्य राज्यों में हिंसा भड़क गई थी.

पंचकूला में दंगाई कई घंटे तक हिंसा करते रहे. इसमें करीब 30 लोगों की जान गई, जबकि 250 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इतना ही नहीं दिल्ली में एक ट्रेन के दो खाली डिब्बे जला दिए गए थे. उत्तर-प्रदेश के लोनी में भी हिंसा भड़क गई थी.

पंचकूला के अलावा पंजाब के पटियाला, फाजिल्का, फिरोजपुर, मानसा व बठिंडा में भी कर्फ्यू लगा दिया गया था. हिंसा के दौरान दंगाइयों ने करीब सौ वाहन जला दिए थे. इनमें अधिकतर वाहन मीडिया कर्मियों के थे. दंगाइयों ने हिंसा के दौरान एक बैंक को भी आग के हवाले कर दिया था.

और पढ़ें- हरियाणाः रणजीत हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम समेत 5 दोषी करार

मौके की गंभीरता को समझते हुए राम रहीम को हेलीकॉप्टर से रोहतक की सुनारिया जेल ले जाया गया था. तब से वह उसी जेल में कैद है और यही वजह है कि आज भी राम रहीम की कोर्ट में पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें