scorecardresearch
 

राजस्थान में लॉकडाउन में दी गई ढील, जान लें क्या बदला?

रेस्टोरेंट सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक खोले जा सकेंगे. हालांकि रेस्टोरेंट के अंदर बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी. ऐसे बाजार और मॉल्स अभी बंद रहेंगे. स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, मगर छात्र नहीं आएंगे. 30 जून तक विवाह संबंधित कार्यक्रमों पर प्रतिबंध जारी रहेगा.

राजस्थान में शुरू होगा अनलॉक (सांकेतिक फोटो) राजस्थान में शुरू होगा अनलॉक (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान में लॉकडाउन में ढील
  • सुबह छह से शाम 4 तक खुलेंगे दुकान
  • 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ खुलेंगे सरकारी कार्यालय

दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान में भी लॉकडाउन में छूट दी गई है. राज्य सराकर की गाइडलाइन के मुताबिक अब दुकान और बाजार सुबह छह बजे से लेकर शाम 4 बजे तक खोला जा सकेगा. इसके साथ ही सरकारी कार्यालय साढ़े 9 बजे सुबह से लेकर शाम चार बजे तक, पचास फ़ीसदी स्टाफ़ के साथ खुलेंगे और निजी कार्यालय भी पचास फ़ीसदी स्टाफ़ के साथ खुलेंगे.

वहीं रेस्टोरेंट सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक खोले जा सकेंगे. हालांकि रेस्टोरेंट के अंदर बैठकर खाने की अनुमति नहीं होगी. ऐसे बाजार और मॉल्स अभी बंद रहेंगे. स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, मगर छात्र नहीं आएंगे. 30 जून तक विवाह संबंधित कार्यक्रमों पर प्रतिबंध जारी रहेगा.

इसके साथ ही धार्मिक स्थल भी खुलेंगे, लेकिन वहां भीड़ की इजाज़त नहीं होगी. सरकार ने लोगों से अभी घर पर रहकर ही पूजा करने की अपील की है. नई गाइडलाइन के मुताबिक अंतिम संस्कार में 20 से ज़्यादा लोग शामिल नहीं होंगे. दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी.

देश के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना वायरस के मामले कम होने के बाद अब फिर से अनलॉक की शुरुआत हुई है. दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे राज्यों ने सोमवार से अनलॉक प्रक्रिया को शुरू कर दिया है. कई जगह बाज़ार, सार्वजनिक परिवहनों को छूट दी गई है.

और पढ़ें- सबको फ्री वैक्सीन के पीएम मोदी के ऐलान के क्या हैं मायने, पांच प्वाइंट में समझें

अब जब अनलॉक प्रक्रिया शुरू हुई है तो एक शहर से दूसरे शहर जाने और एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वालों की संख्या भी बढ़ने लगी है. ऐसे में अगर आपको दिल्ली से उत्तर प्रदेश, राजस्थान से उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश से तमिलनाडु जाना है तो अलग-अलग राज्यों की गाइडलाइन्स का पालन करना होगा. अपने यहां बाहरी प्रदेशों से आ रहे लोगों के लिए कई राज्यों ने छूट दी है तो कुछ जगह सख्ती है. 

आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कई राज्यों ने दूसरे राज्यों से आ रहे लोगों पर काफी तरह की पाबंदियां लगाई थीं. हालांकि, अब इन पाबंदियों को कम किया जा रहा है, लेकिन अभी भी किसी राज्य में जाने से पहले वहां की जानकारी रखना जरूरी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें