scorecardresearch
 

COVID-19: दिल्ली में तेज हुई कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में मिले 1500 से ज्यादा मामले, 1 मौत

दिल्ली में कोरोना के मामले तेज गति से बढ़ रहे हैं. पिछले 24 घंटे में राजधानी में 1520 कोरोना मामले सामने आ गए हैं. कई दिनों से दिल्ली में यही ट्रेंड देखने को मिल रहा है.

X
दिल्ली में कोरोना कहर दिल्ली में कोरोना कहर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री बोले- सभी को वैक्सीन लगी
  • अस्पताल में भर्ती हो रहे मरीजों की संख्या बेहद कम

देश में तो कोरोना के मामले फिर तेजी से बढ़ने ही लगे हैं, राजधानी दिल्ली में भी स्थिति चिंताजनक दिखाई पड़ रही है. पिछले कई दिनों से लगातार मामलों में बड़ा उछाल देखने को मिल रहा है. शनिवार को भी ये ट्रेंड जारी रहा है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 1520 कोरोना मामले सामने आ गए हैं. संक्रमण दर भी राजधानी में पांच फीसदी से ऊपर चला गया है. एक शख्स की मौत भी हुई है.

इस समय सिर्फ मामले ज्यादा नहीं आ रहे हैं बल्कि दिल्ली सरकार द्वारा टेस्टिंग भी बढ़ा दी गई है. जो टेस्ट पहले 10 हजार से 15 हजार के बीच में चल रहे थे, मामले बढ़ते ही आंकड़ा 30 हजार के पार हो गया है. पिछले 24 घंटे में 29,775 कोरोना टेस्ट किए गए हैं. कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में इस दिशा में और तेजी से काम किया जा सकता है. लेकिन अभी के लिए दिल्ली में बढ़ते मामले लोगों को एक और लहर को लेकर आशंकित कर रहे हैं. एक्सपर्ट जरूर अभी इसे नई लहर बोलने से बच रहे हैं, लेकिन मामलों के बढ़ने पर उनकी तरफ से भी चिंता जाहिर की जा रही है.

पिछले कुछ दिनों का ट्रेंड देखें तो दिल्ली में लगातार कोरोना के हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे हैं. गुरुवार को 1,490 मामले सामने आए. 27 अप्रैल को 1367, 26 अप्रैल को 1204, 25 अप्रैल को 1011, 24 अप्रैल को 1083, 23 अप्रैल को 1094 और 22 अप्रैल को 1042 मामले सामने आए थे. ऐसे कोरोना के मामलों में लगातार उछाल देखा जा रहा है. राज्य सरकार का तर्क है कि अस्पताल में मरीजों की संख्या नहीं बढ़ी है, ऐसे में पैनिक करने की जरूरत नहीं.

इस बारे में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी कहा है कि राजधानी में कोरोना मामले जरूर बढ़े हैं, लेकिन अस्पताल में भर्ती काफी कम हो रहे हैं. उनके मुताबिक जो भर्ती भी हुए हैं, उनमें कोई गंभीर लक्षण नहीं है. इस बात पर भी जोर दिया गया है कि दिल्ली में सभी का टीकाकरण कर दिया गया है. वैसे दावा तो दिल्ली सरकार की तरफ से ये भी हुआ है कि अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने पर पूरा फोकस है और जल्द 65 हजरा के करीब अतिरिक्त बेड मिल जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें