scorecardresearch
 

दिल्ली से केरल तक लौटने लगी कोरोना की लहर, 111 दिन बाद पॉजिटिविटी रेट 2% पार

Coronavirus in India: देश में कोरोना की रफ्तार एक बार फिर डराने लगी है. 24 घंटे में साढ़े 7 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं और 24 मरीजों की मौत हुई है. वीकली पॉजिटिविटी रेट और डेली पॉजिटिविटी रेट दोनों बढ़ रहा है.

X
देश के कई राज्यों में कोरोना की रफ्तार डराने लगी है. (फाइल फोटो-PTI) देश के कई राज्यों में कोरोना की रफ्तार डराने लगी है. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली में बढ़ रहा संक्रमण
  • हफ्तेभर में कई राज्यों में दोगुना हुए डेली केस
  • केंद्र की राज्यों को टेस्टिंग-ट्रैकिंग बढ़ाने की सलाह

Coronavirus in India: क्या देश में कोरोना की चौथी लहर ने दस्तक दे दी है? ये सवाल इसलिए, क्योंकि अब फिर से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं. चार महीने से कोरोना के मामलों में गिरावट आ रही थी, लेकिन बीते कुछ हफ्तों से नए मामलों में उछाल आ गया है. दिल्ली, मुंबई, कर्नाटक, केरल समेत देश के कई राज्य ऐसे हैं जहां एक हफ्ते में नए मामलों की संख्या दोगुनी तक बढ़ गई है. 

देश में भी कोरोना के नए मामले हफ्तेभर में लगभग दोगुने हो गए हैं. 2 जून को देश में करीब 4 हजार नए मामले सामने आए थे, जबकि गुरुवार को साढ़े 7 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. 

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 24 घंटे में कोरोना के 7,584 नए संक्रमित मिले हैं. 24 मरीजों की मौत भी हुई है. पॉजिटिविटी रेट भी 2 फीसदी के पार चला गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 111 दिन बाद संक्रमण दर दो फीसदी के पार हो गई है. संक्रमण दर का बढ़ना बता रहा है कि देश में कोरोना से हालात फिर बिगड़ने शुरू हो गए हैं.

दिल्ली से मुंबई तक बिगड़ रहे हालात

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 24 घंटे में सबसे ज्यादा 2,813 नए मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं. उसके बाद केरल में 2193, दिल्ली में 622, कर्नाटक में 471 और हरियाणा में 348 केस आए हैं. देश में जितने नए मरीज मिले हैं, उनमें से 85 फीसदी से ज्यादा इन्हीं पांच राज्यों से हैं. 

कोरोना की सबसे डरावनी रफ्तार महाराष्ट्र में दिख रही है. यहां हफ्तेभर में नए मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है. मुंबई एक बार फिर से हॉटस्पॉट बनता दिख रहा है. मुंबई में गुरुवार को 1,702 नए मामले सामने आए हैं. 

महाराष्ट्र के बाद केरल, दिल्ली, कर्नाटक और हरियाणा में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है. एक हफ्ते में कोरोना के नए मामले केरल में 60%, दिल्ली में 67%, कर्नाटक में 59% और हरियाणा में  85% तक बढ़ गए हैं. चिंता बढ़ाने वाली बात ये भी है कि अब अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी है. अकेले मुंबई में ही 24 घंटे में 78 नए मरीज अस्पताल में भर्ती हुए हैं.

क्यों बढ़ रहे हैं नए मामले?

कोरोना के नए मामलों में तेजी के लिए ओमिक्रॉन के दो सब-वैरिएंट्स BA.4 और BA.5 को जिम्मेदार माना जा रहा है. देश में महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना में इन दोनों वैरिएंट्स की एंट्री हो चुकी है.

ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारत में ही कोरोना के मामलों में तेजी आ रही है, बल्कि दुनिया के कई हिस्सों में इन दोनों सब-वैरिएंट्स से संक्रमण बढ़ रहा है. अप्रैल में BA.4 और BA.5 की वजह से दक्षिण अफ्रीका में पांचवीं लहर आई थी, जो अब थोड़ी कमजोर पड़ने लगी है. 

इन दोनों सब-वैरिएंट्स को कम गंभीर माना जा रहा है. यानी, इससे संक्रमित होने पर ज्यादातर मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही है. फिर भी ये दोनों सब-वैरिएंट्स ओमिक्रॉन के पिछले सब-वैरिएंट्स के मुकाबले ज्यादा संक्रामक हैं. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पिछले महीने चेताया था कि इन दोनों सब-वैरिएंट्स से संक्रमण में तेजी आ सकती है. यूरोपियन सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (ECDC) और अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (CDC) ने इन दोनों सब-वैरिएंट्स को 'वैरिएंट्स ऑफ कंसर्न' यानी 'चिंताजनक' घोषित कर रखा है. 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को चेताया

देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार भी अलर्ट मोड पर आ गई है. केंद्र ने राज्यों को टेस्टिंग और ट्रैकिंग बढ़ाने को कहा है. साथ ही वैक्सीनेशन में भी तेजी लाने को कहा है.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि चार महीनों से संक्रमण कम हो रहा था, लेकिन दो हफ्तों से नए मामले बढ़ रहे हैं. उन्होंने बताया कि वीकली पॉजिटिविटी रेट 1% और डेली पॉजिटीविटी रेट 2% के पार चला गया है. 

उन्होंने बताया कि राज्यों को सलाह दी गई है कि वो कोविड टेस्टिंग में RTPCR की हिस्सेदारी बढ़ाएं. इसके साथ ही विदेश से आने वाले यात्रियों और लोकल क्लस्टर के सैंपल भी जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएं, ताकि नए वैरिएंट का पता लगाया जा सके.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें