scorecardresearch
 

मुंबई में कोरोना की रफ्तार ने बढ़ाई टेंशन, जंबो कोविड सेंटर को अलर्ट मोड पर रहने के ऑर्डर

मुंबई में कोरोना के केस तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में सरकार ने एक बार फिर से जंबो कोविड सेंटर को एक्टिव करने का फैसला लिया है. साथ ही लोगों से मास्क पहनने की अपील भी की जा रही है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में फिर से बढ़ा कोविड का खतरा
  • BA.4 और BA.5 वैरिएंट के मरीज मिले

महाराष्ट्र में एक बार फिर से कोविड का ख़तरा बढ़ता जा रहा है. सबसे ज्यादा रिस्क मुंबई में है. पिछले कुछ दिनों से मुंबई समेत महाराष्ट्र में कोविड के मामलों में तेजी से इज़ाफ़ा हुआ है. लिहाजा रोजाना औसतन मरीज एक हजार से अधिक मिल रहे हैं. महाराष्ट्र में अब Omicron के सब-वैरिएंट BA.4 के 3 और BA.5 के भी मरीज सामने आए हैं. इसी बीच सरकार ने लोगों को मास्क पहनने की हिदायत दी है. इसके साथ ही हालातों को देखते हुए एक बार फिर से मुंबई में कुछ जंबो सेंटर को तैयार किया जा रहा है, इन्हें सेंटर्स को अलर्ट पर रहने के लिए कहा है.

पिछले कुछ दिन से कोविड की रफ़्तार मुंबई में काफी बढ़ गई है. आंकड़ों की बात करें तो सोमवार को महाराष्ट्र में 1885 नए मामले सामने आए थे. जबकि कोविड संक्रमण की वजह से 1 मरीज की मौत भी हुई थी. जबकि मुंबई में सोमवार को 1,118 कोविड के नए मामले सामने आए थे.

BA.4 और BA.5 के तीनों मरीज स्वस्थ


भारत में आई तीसरी लहर में ओमिक्रोन ने नुकसान पहुंचाया था. ऐसे में ओमिक्रोन के सब -वैरिएंट के मरीज मिलने से सरकार अलर्ट मोड में आ गई है. हालांकि राहत की बात ये है कि BA.4 और BA.5 के तीनों मरीज होम आइसोलेशन में ठीक हो चुके है.

जंबो सेंटर को एक्टिव किए


कोविड की तीसरी लहर के दौरान मुंबई में जंबो सेंटर बनाए गए थे. इससे लोगों को बड़ी राहत मिली थी. ऐसे में मुंबई में जिस रफ़्तार से मामले बढ़ रहे हैं, एक बार फिर मुंबई में बने इन जंबो सेंटर को एक्टिव होने के लिए कहा है. 

ऑक्सीजन टैंक भरवाए गए 


मुंबई के मलाड इलाक़े में बने जंबो कोविड सेंटर में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. मलाड कोविड सेंटर के डीन ने बताया कि हम पूरी तरह तैयार हैं. हमें अलर्ट मोड पर रहने के लिए कहा है. हमने ऑक्सीजन के टैंक भी भरवा दिए है. अगर हालात बिगड़े तो 2 दिन में हम लोगों की मदद करने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएंगे. अभी हमारे पास कोविड वॉर रूम के लिए 11 डॉक्टर भी हैं. जबिक हालात के हिसाब से कुछ डॉक्टर्स को स्टैंडबाई पर भी रखा गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें