scorecardresearch
 

आज का दिन: मई में कितने बढ़ेंगे कोरोना केस, क्या UP बन सकता है नया हॉटस्पॉट

'आजतक रेडियो' के मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट 'आज का दिन' में सुनेंगे मई में कोरोना केस कितने बढ़ेंगे, यूपी में पंचायत चुनाव ड्यूटी करते हुए जान खोनेवालों का दोषी कौन, क्यों नया हॉटस्पॉट बन सकता है उत्तर प्रदेश.

X
कानपुर हॉस्पिटल का नजारा (फोटो-PTI)
कानपुर हॉस्पिटल का नजारा (फोटो-PTI)

आजतक रेडियो पर हम रोज़ लाते हैं देश का पहला मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट ‘आज का दिन’, जहां आप हर सुबह अपने काम की शुरुआत करते हुए सुन सकते हैं आपके काम की ख़बरें और उन पर क्विक एनालिसिस. साथ ही, सुबह के अख़बारों की सुर्ख़ियाँ और आज की तारीख में जो घटा, उसका हिसाब किताब. आगे लिंक भी देंगे लेकिन पहले जान लीजिए कि आज के एपिसोड में हमारे पॉडकास्टर नितिन ठाकुर किन ख़बरों पर बात कर रहे हैं.

कोरोना केस का पीक और ढलान कब?

आजकल एक दिन में कोरोना के जितने केस आ रहे हैं उतने पहले कभी नहीं आते थे. लोग उम्मीद कर रहे हैं कि रफ़्तार किसी तरह कम हो. अब आईआईटी कानपुर ने एक स्टडी की है और पाया है कि केस बढ़ने की ये स्पीड हाल फ़िलहाल तो कम नहीं होने जा रही. इस हिसाब से मई-जून में क्या हाल रहनेवाला है और ढलान कब देखने को मिलेगी इस पर आईआईटी कानपुर के Department of Computer Science and Engineering में प्रोफेसर मनिन्दर अग्रवाल बात कर रहे हैं.

चुनाव ड्यूटी में मरनेवालों का दोष किस पर?

यूपी में पंचायत चुनाव से पहले ही टीचर्स कह रहे थे कि हमें मौत के मुँह में ना धकेला जाए लेकिन सरकार ने नहीं सुनी. अब हालत ये है कि वोटिंग का आख़िरी चरण बाक़ी है और आरोप लग रहा है कि क़रीब ढाई सौ शिक्षक कोरोना से अपनी जान खो चुके हैं. आजतक रेडियो से बात करते हुए टीचर्स ने चुनाव में बदहाली का कहानी बयां की और उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने हालिया स्थिति को विस्तार से बताया.

यूपी पर ख़तरा क्यों मंडराया?

महाराष्ट्र और दिल्ली अब तक कोरोना के हॉटस्पॉट थे लेकिन केंद्र सरकार को आशंका है कि अगला ख़तरा यूपी पर है. मई में ही उत्तर प्रदेश से रोज़ाना पाँच लाख केस आने का डर है. इतने मामले फ़िलहाल पूरे देश से नहीं आ रहे तो ख़तरे का अनुमान आसानी से लग ही सकता है. केंद्र सरकार की आशंका के आधारों पर आजतक रेडियो रिपोर्टर स्नेहा मोरदानी  ने रौशनी डाली. 

इसके अलावा आज के पॉडकास्ट में सुनिए कि आज की तारीख़ में पहले क्या घट चुका है और साथ ही देश-विदेश के अख़बारों की सुर्ख़ियाँ भी, जिन्हें लेकर आए हैं जमशेद.

आज का दिन सुनने के लिए यहां क्लिक करें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें