scorecardresearch
 

बजट से पहले बिखर गया बाजार, 938 कंपनियों पर लगा लोअर सर्किट, अब क्या करें!

बीएसई पर कुल 3,706 कंपनियों के शेयरों में आज ट्रेड हुआ. इनमें से 3,071 कंपनियों के शेयर नुकसान में रहे. मात्र 517 कंपनियों के शेयर ही चढ़ पाने में कामयाब हुए, जबकि 118 शेयर स्थिर रहे. नुकसान उठाने वाली कंपनियों में 68 के शेयर तो 52 सप्ताह के निचले स्तर पर आ गए. हालांकि 252 शेयर अभी भी 52 सप्ताह के हाई पर हैं.

X
नुकसान में रहे ज्यादातर स्टॉक नुकसान में रहे ज्यादातर स्टॉक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नुकसान में रहीं 3000 से ज्यादा कंपनियां
  • 52 सप्ताह के निचले स्तर पर 68 स्टॉक

बजट से ठीक पहले वाले सप्ताह (Pre-Budget Week) की शुरुआत बहुत खराब रही. सोमवार को बाजार चौतरफा बिकवाली के प्रेशर में बिखर गया. शेयर मार्केट (Share Market) के सारे सेक्टर आज रेड में चले गए और सेंसेक्स (BSE Sensex) का नजारा पूरा लाल हो गया. इस बीच बीएसई में 938 कंपनियों पर लोअर सर्किट (Lower Circuit) लग गया. लगातार जारी गिरावट से सबसे ज्यादा परेशान रिटेल इन्वेस्टर्स (Retail Investors) हो रहे हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा कि ऐसे मोड़ पर क्या कदम उठाया जाए. हालांकि एक्सपर्ट (Expert) मानते हैं कि यह नए स्टॉक खरीदने का उम्दा समय है.

नुकसान में रहे 3 हजार से ज्यादा शेयर

बाजार के ब्रॉड आंकड़ों को देखें तो सोमवार को हुई बिकवाली साफ दिखाई पड़ती है. बीएसई पर कुल 3,706 कंपनियों के शेयरों में आज ट्रेड हुआ. इनमें से 3,071 कंपनियों के शेयर नुकसान में रहे. मात्र 517 कंपनियों के शेयर ही चढ़ पाने में कामयाब हुए, जबकि 118 शेयर स्थिर रहे. नुकसान उठाने वाली कंपनियों में 68 के शेयर तो 52 सप्ताह के निचले स्तर पर आ गए. हालांकि 252 शेयर अभी भी 52 सप्ताह के हाई पर हैं.

बीएसई पर चौतरफा दिखी बिकवाली

आज व्यापक बिकवाली को देखते हुए बीएसई में 940 कंपनियों पर लोअर सर्किट लग गया. दूसरी ओर 270 कंपनियां अपर सर्किट (Upper Circuit) में रहीं. बाजार लगातार पांच दिन से गिर रहा है. पिछले सप्ताह के चार दिनों में सेंसेक्स और निफ्टी (Nifty) 3.50 फीसदी से ज्यादा की गिरावट में रहे थे. इसके बाद आज के कारोबार में सेंसेक्स में 1,950 अंक से भी ज्यादा की गिरावट देखने को मिली. बाद में यह कुछ संभला भी, लेकिन यह करीब 1,650 अंक गिरकर बंद हुआ.

घबराएं नहीं, वापसी करेगा बाजार- एक्सपर्ट

सीएनआई रिसर्च (CNI Research) के किशोर ओस्तवाल (Kishore Ostwal) ने बताया कि रिटेल इन्वेस्टर्स को अभी घबराना नहीं चाहिए. आम तौर पर मार्केट में देखा जाता है कि लोग देखादेखी में ट्रेंड के साथ बहने लगते हैं. बिकवाली होते देख सभी बेचने लग जाते हैं, जबकि बाजार में सफल होने का नियम ट्रेंड से उलट चलना है. अभी इन्वेस्टर को वैसे शेयर खरीदने पर ध्यान देना चाहिए, जो उन्हें ठीक लगते हों. यह बाजार में बने रहने का समय है. स्टॉक मार्केट इस पैनिक से उबरकर जल्दी ही वापसी करेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें