scorecardresearch
 

Indian Railway: एंट्री गेटों पर सख्त पहरा, अब ट्रेनों में नो-मास्क तो नो-एंट्री

इस अभियान में रेलवे स्टेशन के अंदर और ट्रेन के डिब्बों में भी लोगों पर नजर रखी जा रही है. ट्रेन खुलने से पहले रेलवे कर्मचारी और अधिकारी हर कोच में जाकर जांच करते हैं. यात्रियों को मास्क और वैक्सीनेशन (Vaccination) की दोनों डोज की जानकारी दी जाती है. रेलवे स्टेशनों पर टेस्टिंग की प्रक्रिया भी लगातार चल रही है.

आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर बाहर भी सख्ती आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर बाहर भी सख्ती
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिना मास्क के नहीं मिलेगी स्टेशन पर एंट्री
  • पकड़े गए तो कट जाएगा 550 रुपये तक का चालान

भारतीय रेल (Indian Railway) से यात्रा करने वाले लोगों के लिए एक जरूरी खबर है. अगर आप भी कहीं की यात्रा करने वाले हैं तो रेलवे स्टेशन (Railway Station) जाने से पहले मास्क जरूर पहन लें. कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते रेलवे मास्क को लेकर सख्ती बरत रहा है. इसके लिए 'No Mask, No Entry' अभियान की शुरुआत की गई है और अब इसपर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है.

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सख्ती जरूरी

हर रोज भारत में लाखों लोग ट्रेन से यात्रा (Train JOurney) करते हैं. यह सुविधाजनक तो होता है लेकिन भीड़ बढ़ने और लोगों के लापरवाह होने से इससे कोरोना विस्फोट होने की आशंका भी रहती है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए रेलवे की तरफ से 'नो मास्क, नो एंट्री' अभियान में तेजी लाई गई है. रेलवे ने हर रेलवे स्टेशन पर गेट से लेकर ट्रेन के अंदर तक चेकिंग अभियान को तेज कर दिया है.

सिर्फ इस स्टेशन से हर रोज रवाना होते हैं 70 हजार यात्री
 
दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के सबसे व्यस्त स्टेशनों में से एक आनंद विहार रेलवे स्टेशन (Anand Vihar Railway Station) से रोजाना 50 से ज्यादा ट्रेनें रवाना होती हैं. करीब 60 से 70 हजार यात्री हर रोज इस स्टेशन से ट्रेन में सवार होते हैं. इस कारण तीसरी लहर में स्टेशन के बाहर से ही जांच अभियान में तेजी लाई गई है. यात्रियों को सोशल डिस्टेन्सिंग (Social Distancing) का पालन करने की हिदायत दी जा रही है और थर्मल स्क्रीनिंग (Thermal Screening) से लोगों की निगरानी की जा रही है.

550 रुपये तक का कट रहा चालान

स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने आये यात्रियों पर रेलवे की एक टीम लगातार निगरानी रखती है. इस टीम को यह देखने का टास्क दिया गया है कि कहीं कोई यात्री प्लेटफॉर्म पर बिना मास्क (Mask) के तो नहीं है, या कोई यात्री कोविड दिशानिर्देशों का तोड़ने का प्रयास तो नहीं कर रहा है. पकड़े जाने पर ऐसे यात्रियों के ऊपर तुरंत कार्रवाई की जा रही है. रेल अधिकारियों ने बताया कि ऐसे यात्रियों को 200 रुपये से 550 रुपये तक के चालान काटे जा रहे हैं.

दिल्ली के सभी स्टेशनों पर कोरोना जांच

इस अभियान में रेलवे स्टेशन के अंदर और ट्रेन के डिब्बों में भी लोगों पर नजर रखी जा रही है. ट्रेन खुलने से पहले रेलवे कर्मचारी और अधिकारी हर कोच में जाकर जांच करते हैं. यात्रियों को मास्क और वैक्सीनेशन (Vaccination) की दोनों डोज की जानकारी दी जाती है. रेलवे स्टेशनों पर टेस्टिंग की प्रक्रिया भी लगातार चल रही है. दिल्ली के सभी रेलवे स्टेशनों पर यात्रा के लिए आने वाले तमाम यात्रियों की कोरोना जांच की व्यवस्था भी की गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×