scorecardresearch
 
यूटिलिटी

100 साल पुराना है ये बैंक, अब IPO लाने की तैयारी में, दस्तावेज जमा

 सेबी के पास दस्तावेज
  • 1/7

तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक (Tamilnad Mercantile Bank) का इतिहास करीब 100 वर्षों का है. यह देश में निजी क्षेत्र के सबसे पुराने बैंकों में से एक है. इस बैंक की स्थापना मई-1921 में हुई थी. यानी आज से ठीक 100 साल पहले इस बैंक की नींव रखी गई थी. 

 तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक का शेयर बाजार में दस्तक
  • 2/7

अब तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक शेयर बाजार में दस्तक देने जा रहा है. तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक ने प्रारंभिक शेयर बिक्री के जरिये धन जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास प्रारंभिक दस्तावेज दाखिल किए हैं. एक्सिस कैपिटल, मोतीलाल ओसवाल इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स इश्यू के लीड मैनेजर हैं.
 

Tamilnad Mercantile Bank IPO
  • 3/7

ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीएचआरपी) के अनुसार, प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) में 1,58,27,495 नये इक्विटी शेयरों जारी किए जाएंगे और इसमें शेयरधारकों द्वारा 12,505 इक्विटी शेयरों की बिक्री का प्रस्ताव भी शामिल है. 
 

सेबी से एप्रूवल का इंतजार
  • 4/7

सेबी से एप्रूवल मिलते ही जल्द इस निजी बैंक का आईपीओ लॉन्च हो जाएगा. तूतीकोरिन के इस बैंक की आईपीओ से मिलने वाली आय का इस्तेमाल अपनी भविष्य की पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए करने की योजना है.

IPO का रूप
  • 5/7

बिक्री पेशकश में डी प्रेम पलानीवेल और प्रिया राजन द्वारा 5,000-5,000 इक्विटी शेयरों तक की बिक्री, प्रभाकर महादेव बोबडे द्वारा 1,000 इक्विटी शेयरों तक की बिक्री, नरसिम्हन कृष्णमूर्ति द्वारा 505 इक्विटी शेयरों तक की बिक्री और एम मल्लिगा रानी एवं सुब्रमण्यम वेंकटेश्वरन अय्यर द्वारा 500-500 इक्विटी शेयरों तक की बिक्री शामिल है.

देशभर में इसके कुल 509 बॉन्च
  • 6/7

इस निजी बैंक का मुख्य कारोबार लोन देना है. यह बैंक ग्राहकों को हर तरह का लोन मुहैया कराती है. देश में इसके कुल 509 ब्रांच हैं. जिनमें से 106 ग्रामीण, 247 अर्ध-शहरी, 80 शहरी और 76 महानगरीय ब्रांच हैं. 
 

टीएमबी की स्थापना 1921 में
  • 7/7

तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक (TMB) का मुख्यालय तमिलनाडु के थूथुकुडी में है. टीएमबी की स्थापना 1921 में नादर बैंक के रूप में हुई थी. लेकिन नवंबर 1962 में इसका नाम बदलकर तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक कर दिया गया, ताकि इसका विस्तार हो सके.