scorecardresearch
 
यूटिलिटी

कोरोना काल में पड़ी पैसे की जरूरत? बचत खत्म करने की बजाए लें FD पर लोन, रखें इन बातों का ध्यान

बचत को खत्म करने से बचें
  • 1/10

विपत्ति के समय लोगों की बचत ही उनके काम आती है. कोरोना काल भी ऐसा ही समय है, लेकिन अगर आपको इस दौर में अपनी बचत के इस्तेमाल की जरूरत पड़ गई है तो FD जैसी बचत को खत्म करने के बजाय आप उस पर लोन ले सकते हैं.
(Photos: File)

FD पर ओवरड्राफ्ट का भी विकल्प
  • 2/10

अगर आपको पैसे की जरूरत है तो आप बैंक में रखी  FD पर लोन के अलावा ओवरड्राफ्ट लिमिट का भी फायदा उठा सकते हैं. इससे आपकी बचत की रकम टूटेगी नहीं और आपकी पैसे की तत्काल जरूरत भी पूरी हो जाएगी. इस मामले में बैंक आपको जमा रकम के 90% तक के बराबर की ओवरड्राफ्ट लिमिट का फायदा दे सकते हैं. 
 

FD पर लोन में FD ही होती है गिरवी
  • 3/10

FD पर जब आप लोन उठाते हैं तो ये एक तरह का सुरक्षित ऋण होता है. इसमें ग्राहक बैंक के सामने घोषणा करता है कि लोन के रिटर्न के लिए उसकी FD की रकम कोलेट्रल यानी रेहन के तौर पर बैंक के पास रहेगी. बैंक FD में जमा रकम का 90% से 95% तक लोन के रूप में देते हैं.

बचत खाते, क्रेडिड स्कोर वाले ले सकते हैं लोन
  • 4/10

जिस भी व्यक्ति के पास सैलरी, कारोबार या किसी अन्य तरह का बचत खाता है तो वो FD पर लोन का फायदा उठा सकता है. यदि उसका क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो उसे भी लोन मिल सकता है लेकिन ये अनिवार्य शर्त नहीं है.

ये लोग उठा सकते FD पर लोन का लाभ
  • 5/10

कोई भी FD कराने वाला व्यक्ति इस पर लोन का लाभ उठा सकता है. फिर वह FD चाहें एक व्यक्ति की हो या जॉइंट हो. हालांकि कुछ लोग FD पर लोन का फायदा नहीं उठा सकते, उनके बारे में जानें अगली स्लाइड में...

FD पर लोन नहीं उठा सकते ये लोग
  • 6/10

FD पर लोन का फायदा किसी नाबालिग व्यक्ति के नाम पर नहीं उठाया जा सकता है. वहीं 5 साल की अवधि वाले टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपॉजिट में रकम जमा करने वाले जमाधारक भी इस सुविधा का लाभ नहीं उठा सकते हैं.

ओवरड्राफ्ट लिमिट या लोन पर लगने वाला ब्याज
  • 7/10

FD पर ओवरड्राफ्ट लिमिट या लोन का फायदा उठाने के लिए लोगों को उतनी ही रकम पर ब्याज देना होता है जितनी रकम उधार के तौर पर ली होती है. हालांकि ध्यान रहे कि इस पर लगने वाला ब्याज FD पर मिलने वाले ब्याज से ज्यादा होता है, लेकिन अन्य तरह के रिटेल लोन जैसे कि पर्सनल लोन वगैरह से कम होता है. साथ ही FD पर लोन लेने के लिए आपको कोई प्रोसेसिंग शुल्क नहीं देना होता.

कितना ज्यादा लगता है ब्याज
  • 8/10

FD पर उठाए गए लोन पर आमतौर पर FD की दर से 2% अधिक ब्याज लगता है. हालांकि देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक इस सुविधा के लिए FD पर मिलने वाले ब्याज से 1% अधिक ब्याज लेता है. मान लीजिए आपकी FD पर आपको 6% का ब्याज मिलता है तो लोन की भरपाई करते वक्त ये 8% होगा जबकि एसबीआई में मात्र 7% का ब्याज लगेगा.

कॉरपोरेट FD पर भी उठा सकते लोन
  • 9/10

यदि किसी के पास कॉरपोरेट FD है तो वो उस पर भी लोन उठा सकता है. हालांकि इसके  लिए कुछ विशेष शर्तें हैं. जानें अगली स्लाइड में

कॉरपोरेट FD पर उठा सकते 75% तक लोन
  • 10/10

कॉरपोरेट FD पर लोन उठाने के मामले में FD को कम से कम 3 महीने पुराना होना चाहिए. कॉरपोरेट FD में कुल जमा रकम के 75% के बराबर ही लोन उठाया जा सकता है. इस लोन को एक बार में या किस्तों में FD की अवधि खत्म होने तक लौटाया जा सकता है.