scorecardresearch
 
यूटिलिटी

शेयर बाजार पर क्रेडिट सुईस की रिपोर्ट, गिरावट के अनुमान के साथ गुड न्यूज!

भारतीय बाजार में आ सकता है तेज करेक्शन
  • 1/7

देश में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच शेयर बाजार में गिरावट गहराने लगा है. बाजार के जानकारों को भी आशंका है कि आने वाले कुछ दिनों में बाजार पर बिकवाली हावी हो सकता है. एक्सपर्ट की मानें तो आने वाले दिनों में भारतीय बाजार में मुनाफावसूली देखने को मिल सकती है. (Photo: File)

मुनाफावसूली की आशंका्
  • 2/7

दरअसल, रेटिंग एजेंसी Credit Suisse Wealth Management India के विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले हफ्तों में भारतीय शेयर बाजार पर दबाव और गहरा सकता है. Credit Suisse की रिपोर्ट को मानें तो अगले कुछ हफ्तों में मुनाफावसूली की वजह से तेज करेक्शन देखने को मिल सकता है. (Photo: File)

गिरावट के बाद तेजी का अनुमान
  • 3/7

हालांकि राहत की बात ये है कि एक्सपर्ट भी मान रहे हैं कि ये तेज गिरावट ज्यादा दिन तक नहीं रहेगी. बाजार में एक बार फिर तेजी देखने को मिलेगी. इसलिए गिरावट में निवेशकों को क्वालिटी स्टॉक्स में निवेश की सलाह दी जा रही है. (Photo: File)

अच्छे स्टॉक्स खरीदने का मौका
  • 4/7

क्रेडिट सुईस इंडिया के इक्विटी रिसर्च हेड जितेंद्र गोहिल और इक्विटी रिसर्च एनालिस्ट प्रेमल कामदार का कहना है कि निवेशकों के पास गिरावट में अच्छे स्टॉक्स खरीदने का मौका है. Credit Suisse की ग्लोबल इंवेस्टमेंट कमेटी ने भारतीय बाजार को लेकर शॉर्ट टर्म में चिंता जाहिर की है, लेकिन मिड टर्म और लॉन्ग टर्म में आउटलुक पॉजिटिव है. (Photo: File)
 

कोरोना की दूसरी लहर से घबराहट
  • 5/7

इसके अलावा उन्होंने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में बॉन्ड यील्ड के बढ़ने और यूएस डॉलर के मजबूत होने से बाजार में गिरावट का खतरा कम हुआ है. लेकिन कोरोना की दूसरी लहर की वजह से बाजार में थोड़ी घबराहट है. (Photo: File)
 

रिकॉर्ड हाई से 8 फीसदी फिसला बाजार
  • 6/7

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय शेयर बाजार फरवरी- 2021 में अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद अब तक करीब 8 फीसदी लुढ़क चुके हैं. वहीं फॉरेन इंस्टीच्यूशनल इंवेस्टर्स (FII) ने भी अप्रैल में भारी बिकवाली की है. जबकि डोमेस्टिक इंस्टीट्यूशल इंवेसल्टर्स (DIIs) की खरीदारी से बाजार को थोड़ा सपोर्ट मिला है. (Photo: File)

इन सेक्टर पर लगा सकते हैं दांव
  • 7/7

Credit Suisse की रिपोर्ट के मुताबिक ऑटो कंपनियां लागत बढ़ने से अगले कुछ हफ्तों में वाहनों की कीमतें बढ़ा सकती हैं. लेकिन फिलहाल फार्मा, केमिकल्स, कमोडिटीज, FMCG और सीमेंट स्टॉक्स बेहतर रिटर्न दे सकते हैं. (Photo: File)