scorecardresearch
 

इस कार्रवाई के बाद पैसा लौटाना मुश्किल, पढ़ें PNB को लिखा नीरव मोदी का पूरा खत

नीरव मोदी ने पीएनबी को एक चिट्ठी लिखकर कह दिया है कि वह अब बैंक के पैसे नहीं चुका सकता है, लगातार हुई कार्रवाई से उसकी कंपनी को नुकसान हुआ है. इसलिए अब वह पैसे चुकाने में सक्षम नहीं है. नीरव मोदी के द्वारा पीएनबी को लिखा गया खत सामने आया है, पढ़ें खत की बड़ी बातें...

नीरव मोदी की फाइल फोटो नीरव मोदी की फाइल फोटो

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में मुख्य आरोपी डायमंड कारोबारी नीरव मोदी के ठिकानों पर सीबीआई और ईडी की छापेमारी जारी है. इस बीच सोमवार को नीरव मोदी ने पीएनबी को एक चिट्ठी लिखकर कह दिया है कि वह अब बैंक के पैसे नहीं चुका सकता है, लगातार हुई कार्रवाई से उसकी कंपनी को नुकसान हुआ है. इसलिए अब वह पैसे चुकाने में सक्षम नहीं है. नीरव मोदी के द्वारा पीएनबी को लिखा गया खत सामने आया है, पढ़ें खत की बड़ी बातें...

नीरव मोदी ने पीएनबी को लिखा कि बैंक और मेरे अफसरों के बीच हुई बातचीत और 13 फरवरी-15 फरवरी को लिखे हुए आपके मेल के आधार पर मैं आपसे कुछ बात करना चाहता हूं.

बैंक की तरफ से हमारे खिलाफ लगातार एक्शन लिए जा रहे हैं. लेकिन बैंकों की तरफ से और मीडिया में जो 11000 करोड़ की राशि बताई जा रही है, वह काफी ज्यादा है. नीरव मोदी ग्रुप ने कम पैसों का लोन लिया है. मेरे खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद भी मैंने आपसे लिखकर कहा था कि मुझे फायरस्टार ग्रुप के कुछ शेयर बेचने की इजाजत दी जाए, इसके अलावा भी इससे जुड़ीं 3 कंपनियों के शेयर बेचे जाएं. इन सभी की कीमत लगभग 6500 करोड़ रुपए हैं, जिससे बैंक की राशि चुकाने में मदद मिलती.

नीरव मोदी ने लिखा कि पीएनबी के द्वारा की गई शिकायत के बाद की गई कार्रवाई और मीडिया कवरेज से फायर इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड (FIPL) कंपनी को काफी नुकसान पहुंचा है. जिससे बैंकों का बकाया चुकाने में हमें काफी मुश्किल हो सकती है.

नीरव ने लिखा कि बैंक की तरफ से पिछले कई वर्षों में तीन कंपनियों पर बायर्स क्रेडिट को बढ़ाया गया है. इस दौरान किसी भी कंपनी में कोई गड़बड़ी की बात सामने नहीं आई है. जो भी पैसा पीएनबी से लोन के तौर पर लिया गया था, उसका इस्तेमाल विदेशी शाखाओं में एडवांस पेमेंट करने के लिए किया गया है. FIPL और FPIPL पिछले कई साल से प्रॉफिट में हैं और इन्हें A- रैंकिंग भी मिली हुई है.

नीरव ने लिखा कि जैसा कि बैंक जानता है कि PNB ने खुद पिछले कई साल से हमें दिए गए पैसों पर ब्याज लेने का लाभ उठाया है, और उन्हें ब्याज समेत पीएनबी की सारी राशि चुकाई भी गई है.

जिस संपत्ति पर लगातार छापेमारी की जा रही है और मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार करीब 5649 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की जा रही है. अगर ये कार्रवाई ना हुई होती तो इन संपत्ति और अन्य कुछ संपत्तियों को मिलाकर बैंक का सारा पैसा लौटाया जा सकता था. लेकिन इस कार्रवाई के बाद ये कर पाना मुश्किल हो गया है.

PNB महाघोटाला: 3 आरोपियों को रिमांड, नीरव फरार, कैसे वसूल होंगे 11400 करोड़?

मैं सभी से अपील करता हूं कि इस कार्रवाई को पारदर्शिता, न्याय और सही बैंकिंग सिस्टम के साथ किया जाए. ताकि मैं बैंक के सभी पैसे लौटा सकूं.

नीरव मोदी ने अपने खत में अपनी पत्नी, भाई और मामा का भी बचाव किया. नीरव मोदी ने लिखा कि शिकायत में मेरी पत्नी, भाई और मामा के ऊपर जिस भी तरह के आरोप लगाए गए हैं, वो गलत हैं. मेरी पत्नी और मेरे भाई का मेरे बिजनेस में कोई रोल नहीं है, वहीं मेरे मामा का बिजनेस मुझसे बिल्कुल अलग है. इसलिए मेरे साथ उनका नाम जोड़ना गलत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें