scorecardresearch
 

Tata Steel Dividend: निवेशकों की लगी लॉटरी, टाटा स्टील ने 51 रुपये डिविडेंड देने का किया ऐलान

Tata Steel Stock Split: दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनियों में से एक टाटा स्टील ने न सिर्फ मार्च तिमाही में बल्कि पूरे फाइनेंशियल ईयर में शानदार बिजनेस किया है. इसके बाद बोर्ड ने डिविडेंड और स्टॉक स्प्लिट की सिफारिश की है.

X
बोर्ड ने की डिविडेंड की सिफारिश बोर्ड ने की डिविडेंड की सिफारिश
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मार्च तिमाही में टाटा स्टील को तगड़ा मुनाफा
  • कमाई में टीसीएस से आगे निकली कंपनी

टाटा समूह (Tata Group) की इस्पात कंपनी टाटा स्टील (Tata Steel) ने अपने इन्वेस्टर्स को मार्च तिमाही के रिजल्ट के बाद शानदार तोहफा दिया है. मार्च तिमाही में फाइनेंशियल परफॉर्मेंस जबरदस्त रहने के बाद कंपनी ने अपने शेयरहोल्डर्स को प्रति शेयर 51 रुपये का डिविडेंड (Tata Steel Dividend) देने का फैसला किया है. इसके अलावा बोर्ड (Tata Steel Board) ने स्टॉक को 10:1 के रेशियो में स्प्लिट (Tata Steel Stock Split) करने की भी सिफारिश की है.

टीसीएस से आगे निकली टाटा स्टील

टाटा स्टील दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनियों में से एक है. कंपनी के पास अभी सालाना 34 मिलियन टन क्रूड स्टील (Crude Steel) बनाने की क्षमता है. कंपनी का मुनाफा (Tata Steel Profit) मार्च तिमाही में 37 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है.

शेयर बाजार को दी गई जानकारी के अनुसार, मार्च तिमाही में टाटा स्टील को 9,835 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. यह साल भर पहले यानी मार्च 2021 तिमाही के 7,165 करोड़ रुपये के मुनाफे की तुलना में 37.32 फीसदी ज्यादा है. कंपनी अब मुनाफा देने के मामले में समूह की आईटी कंपनी टीसीएस (TCS) से भी आगे निकल गई है. अब टीसीएस नहीं बल्कि टाटा स्टील ही टाटा ग्रुप की सबसे ज्यादा मुनाफे वाली कंपनी बन गई है.

पूरे फाइनेंशियल ईयर में इतना मुनाफा

पूरे फाइनेंशियल ईयर (FY22) की बात करें तो टाटा स्टील को 2021-22 में 41,749 करोड़ रुपये का जबरदस्त मुनाफा हुआ है. यह एक साल पहले यानी फाइनेंशियल ईयर 2020-21 (FY21) की तुलना में 5 गुने से भी अधिक है. 2020-21 में टाटा स्टील को 8,190 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ था. कंपनी ने बताया कि उसके पास कंसोलिडेटेड कैश फ्लो (Consolidated Cash Flow) के नाम पर 27,185 करोड़ रुपये हैं. यह कैश फ्लो वर्किंग कैपिटल (Working Capital) में 9,618 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी, 10522 करोड़ रुपये के कैपेक्स (Capex) और 11902 करोड़ रुपये के टैक्सेज (Taxes) के बाद है.

कंपनी के सीईओ ने दिया ये बयान

टाटा स्टील ने बताया कि उसके बोर्ड ने Fully Paid इक्विटी शेयरों पर 51 रुपये और Partly Paid इक्विटी शेयरों पर 12.75 रुपये का डिविडेंड देने की सिफारिश की है. इसके अलावा बोर्ड ने 10:1 के अनुपात में शेयरों को स्प्लिट करने की भी सिफारिश की है. टाटा स्टील के एमडी एवं सीईओ टीवी नरेन्द्रन (TV Narendran) ने शानदार रिजल्ट के बारे में कहा, 'टाटा स्टील ने कोविड और जिओपॉलिटिकल टेंशन के चलते प्रतिकूल परिस्थितियों के बाद भी शानदार परफॉर्म करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है. हमारे भारतीय बिजनेस ने कस्टमर रिलेशन, डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क और पोर्टफोलियो पर लगातार फोकस करने से ब्रॉड-बेस्ड ग्रोथ दिखाया है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें