scorecardresearch
 

LIC Share Listing: LIC के इन्वेस्टर्स पहले ही दिन नुकसान में, 8.62% की गिरावट के साथ हुई शेयरों की लिस्टिंग

बीएसई (BSE) और एनएसई (NSE) पर डिस्काउंट लिस्टिंग के बाद एलआईसी का मार्केट कैप (LIC MCap) 6 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहने के अनुमान थे. हालांकि प्री-ओपन में 12 फीसदी से ज्यादा गिरने के बाद एमकैप 5 लाख करोड़ रुपये से कुछ ही ज्यादा रह पाया.

X
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्री-ओपन में आई 13% तक गिरावट
  • ग्रे मार्केट में भी गिरा हुआ है प्रीमियम

महीनों के इंतजार के बाद सरकारी बीमा कंपनी एलआईसी के शेयर (LIC Share) आज ओपन मार्केट में लिस्ट हो गए. हालांकि शेयर बाजार में एलआईसी की शुरुआत ठीक नहीं हुई. बीएसई (BSE) पर एलआईसी का शेयर 8.62 फीसदी के भारी-भरकम डिस्काउंट (Discount) पर सेटल हुआ. यह तो पहले से ही लग रहा था कि एलआईसी की लिस्टिंग (LIC Share Listing) डिस्काउंट पर होने वाली है, लेकिन किसी को इतनी बड़ी गिरावट के साथ शुरुआत का अनुमान नहीं था.

प्री-ओपन में ही आई भारी गिरावट

एलआईसी के शेयर ने बीएसई पर आज पहले दिन की शुरुआत 81.80 रुपये (8.62%) की गिरावट के साथ 867.20 रुपये पर सेटल होने के साथ की. इससे पहले एलआईसी के शेयर ने बीएसई पर प्री-ओपन सेशन में 12 फीसदी से ज्यादा की गिरावट में ट्रेड की शुरुआत की थी. प्री-ओपन में एलआईसी के शेयर ने पहले दिन की शुरुआत 12.60 फीसदी यानी 119.60 रुपये के नुकसान के साथ 829 रुपये पर की. एक समय प्री-ओपन में यह शेयर 13 फीसदी तक गिर गया था.

डिस्काउंट लिस्टिंग का संकेत दे रहा था जीएमपी

एलआईसी का यह पहला इश्यू भारत के इतिहास में अभी तक का सबसे बड़ा आईपीओ साबित हुआ है. इस आईपीओ के लिए 902-949 रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया था.  पहली बार कोई आईपीओ वीकेंड के दोनों दिन भी खुला रहा. रिकॉर्ड 6 दिनों तक खुले रहे एलआईसी के आईपीओ को लगभग हर कैटेगरी में बढ़िया रिस्पॉन्स मिला. हालांकि ग्रे मार्केट में एलआईसी आईपीओ का प्रीमियम (LIC IPO GMP) लिस्टिंग से पहले निगेटिव में था, जिससे यह पता चल रहा था कि इन्वेस्टर्स को पहले ही दिन नुकसान होने वाला है.

अभी इतना निगेटिव है ग्रे मार्केट प्रीमियम

लिस्टिंग से एक दिन पहले सोमवार को एलआईसी आईपीओ का जीएमपी शून्य से 25 रुपये तक नीचे गिरा हुआ था. आज इसमें कुछ सुधार आया और लिस्टिंग से पहले यह 20 रुपये निगेटिव में ट्रेड कर रहा है. एक समय यह ग्रे मार्केट में 92 रुपये के प्रीमियम के साथ ट्रेड कर रहा था. टॉप शेयर ब्रोकर (Top Share Broker) के आंकड़ों के अनुसार, अभी एलआईसी आईपीओ का ग्रे मार्केट प्रीमियम (LIC Grey Market Premium) शून्य से 20 रुपये नीचे है. जीएमपी से इसी बात का इशारा मिल रहा था कि इन्वेस्टर्स को पहले ही दिन नुकसान उठाना पड़ सकता है. एनालिस्ट भी मान रहे थे कि एलआईसी की लिस्टिंग डिस्काउंट के साथ होने वाली है.

लिस्टिंग समारोह में मौजूद रहे ये अधिकारी

सुबह 08:45 बजे सरकारी बीमा कंपनी के लिस्टिंग का समारोह शुरू हो गया. लिस्टिंग समारोह में बीएसई के सीईओ एवं एमडी आशीष कुमार चौहान, दीपम सचिव तुहिन कांत पांडेय समेत एलआईसी के तमाम अधिकारी मौजूद रहे.

लिस्टिंग समारोह में उपस्थित अधिकारी

 

हर कैटेगरी में मिला शानदार रिस्पॉन्स

आपको बता दें कि देश के सबसे बड़े आईपीओ में 16,20,78,067 शेयर ऑफर किए गए थे और इनके लिए 47,83,25,760 बोलियां प्राप्त हुई थीं. पॉलिसी होल्डर्स की कैटेगरी में आईपीओ को 6.12 गुना सब्सक्राइब किया गया था. इसी तरह एलआईसी के कर्मचारियों (LIC Employees) के लिए रिजर्व रखे गए हिस्से को 4.4 गुना सब्सक्राइब किया गया था. रिटेल इन्वेस्टर्स (Retail Investors) का हिस्सा भी 1.99 गुना सब्सक्राइब किया गया था. इनके अलावा QIB के लिए रखे गए हिस्से को 2.83 गुना और NII के हिस्से को 2.91 गुना सब्सक्राइब किया गया था. कुल मिलाकर एलआईसी आईपीओ को 2.95 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें