scorecardresearch
 

Tesla खोलेगी देश में खुद के इलेक्ट्रिक कार शोरूम! चल रही सरकार से ये बात

इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने वाली कंपनी Tesla भारत में अपने खुद के शोरूम खोल सकती है. अपने पूर्ण स्वामित्व वाले इन शोरूम को खोलने के लिए कंपनी केन्द्र सरकार से बातचीत भी कर रही है. पढ़ें पूरी खबर...

Tesla खोलेगी देश में खुद के शोरूम! (Photo : Reuters) Tesla खोलेगी देश में खुद के शोरूम! (Photo : Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Tesla नहीं बनाएगी डीलर्स का नेटवर्क
  • दुनियाभर में कंपनी के हैं खुद के शोरूम
  • एफडीआई नियमों का करना होगा पालन

अरबपति एलन मस्क (Elon Musk) की कंपनी Tesla देश में अपने पूर्ण स्वामित्व वाले शोरूम खोल सकती है. कंपनी इन सिंगल ब्रांड शोरूम को खोलने के लिए केन्द्र सरकार से नियम-कानूनों को लेकर बातचीत कर रही है.

पालन करना होगा FDI नियमों का
अगर कंपनी देश में अपने सिंगल ब्रांड शोरूम खोलती है, तो उसे प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) नियमों का पालन करना होगा. बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के मुताबिक इन स्टोर को खोलने के लिए कंपनी को स्थानीय खरीद के नियम भी पूरे करने होंगे.

Apple और Ikea पहले कर चुकी बात
Tesla से पहले Apple और Ikea जैसे इंटरनेशनल ब्रांड्स ने कई साल पहले सरकार से देश में सिंगल-ब्रांड रिटेल स्टोर खोलने के लिए नियम-कानूनों को लेकर बातचीत की थी. इसमें स्थानीय खरीद से जुड़े नियमों में राहत देने की भी बात थी.

अगस्त 2018 में दुनिया की सबसे बड़ी स्वीडन की फर्नीचर रिटेल कंपनी Ikea ने भारत में अपने स्टोर खोले. जबकि iPhone बनाने वाली Apple ने अब तक देश में कोई रिटेल आउटलेट नहीं खोला है. पिछले साल Apple ने देश में अपने ऑनलाइन स्टोर की शुरुआत की थी, लेकिन कोरोना के चलते ऑफलाइन रिटेल स्टोर के प्लान को टाल दिया था.

क्या कहते हैं FDI के नियम
देश में 51% से अधिक विदेशी निवेश रखने वाली कंपनियों को सिंगल-ब्रांड रिटेल स्टोर खोलने के लिए 30% मूल्य की मर्चेंडाइज भारत से खरीदना होता है. ये बात गौर करने लायक है कि किसी विदेशी कंपनी को भारत में काम करने की आजादी मिले इसके लिए सरकार FDI नियमों में बदलाव कर सकती है. साथ ही किसी किसी सिंगल ब्रांड कंपनी द्वारा खरीदी जाने वाली सभी तरह की वस्तुओं को स्थानी खरीद मान सकती है फिर भले हो घरेलू बिक्री के लिए हो या विदेशों में बिक्री के लिए.

Tesla के दुनियाभर में खुद के स्टोर
Tesla ने दुनियाभर में खुद के स्वामित्व वाले शोरूम ही खोले हैं. इसके अलावा कंपनी कारों की बिक्री ऑनलाइन भी करती है. कंपनी ने डीलर नेटवर्क बनाने से बचने का काम किया है. वहीं भारत में कंपनी तीन स्थानीय ऑटो पार्ट्स मैन्युफैक्चर कंपनियों के साथ समझौते के लिए बातचीत कर रही है, जो उसकी कारों के उत्पादन में काम आएंगे. वहीं कंपनी को दुनियाभर में अपने उत्पादन के लिए भारत से कच्चा माल खरीदने की भी अनुमति दी गई है.

ये भी पढ़ें: 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें