scorecardresearch
 

Tesla कार कब होगी लॉन्च? Elon Musk ने कहा- भारत सरकार के साथ कई चुनौतियां, लगेगा वक्त

टेस्ला भारत सरकार से इलेक्ट्रिक व्हीकल पर Import Duty कम करने की मांग कर रही है. टेस्ल इस साल से भारत में अपनी इम्पोर्टेड कारों को बेचना शुरू करना चाहती है, लेकिन इससे पहले उसकी डिमांड है Import Duty को कम किया जाए. टेस्ला की इस मांग का स्थानीय ईवी कंपनियां विरोध कर रही हैं.

भारत में लॉन्चिंग में अभी होगी देरी भारत में लॉन्चिंग में अभी होगी देरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अभी भारत में टेस्ला की लॉन्चिंग में होगी देरी
  • एलन मस्क ने कहा, अभी कई चुनौतियां

Tesla Launch In India: टेस्ला की कार चलाने के लिए भारतीयों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा. दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति Elon Musk की वाहन कंपनी Tesla को भारत में लॉन्चिंग में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. कंपनी अभी इनका समाधान नहीं निकाल पाई है. मस्क ने आज गुरुवार की सुबह एक Tweet के रिप्लाइ में इसकी जानकारी दी.

भारत में लॉन्चिंग के सवाल पर मस्क ने दिया ये जवाब

एक भारतीय यूजर @PPathole ने कुछ रोज पहले Elon Musk से Twitter पर इस बारे में सवाल पूछा था. यूजर ने टेस्ला के एक मॉडल की फोटो के साथ पूछा था कि क्या भारत में Tesla की लॉन्चिंग को लेकर कोई अपडेट है? यूजर ने कहा था कि टेस्ला की कारें काफी अच्छी हैं और उन्हें दुनिया के हर कोने में मौजूद होना चाहिए.

Tesla के फाउंडर एंड सीईओ Elon Musk ने आज इसका जवाब दिया. उन्होंने कहा कि भारत में कार लॉन्च करने में उनकी कंपनी को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और सरकार के साथ मिलकर इनका समाधान निकालने का प्रयास किया जा रहा है.

शुल्क घटाने की मांग कर रही है टेस्ला

टेस्ला भारत सरकार से इलेक्ट्रिक व्हीकल पर Import Duty कम करने की मांग कर रही है. टेस्ल इस साल से भारत में अपनी इम्पोर्टेड कारों को बेचना शुरू करना चाहती है, लेकिन इससे पहले उसकी डिमांड है Import Duty को कम किया जाए. टेस्ला की इस मांग का स्थानीय ईवी कंपनियां विरोध कर रही हैं. हाल ही में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने टेस्ला से कहा था कि वह भारत में मेड-इन-इंडिया कार बेचने पर ध्यान दे, लेकिन मस्क भारत में फैक्ट्री लगाने से पहले स्थानीय बाजार में इम्पोर्टेड कारों का सक्सेस देखना चाहते हैं.

मस्क की इस कंपनी को भी भारत में हो रही दिक्कत

मस्क की सैटेलाइट इंटरनेट कंपनी Starlink को भी भारत में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. कंपनी ने पिछले साल अपनी सैटेलाइट इंटरनेट सर्विस के लिए भारत में प्री-बुकिंग की शुरुआत की थी. इसका विरोध किए जाने के बाद सरकार ने कंपनी को तत्काल प्री-बुकिंग बंद करने को कहा था. सरकार ने स्टारलिंक से कहा था कि वह भारत में पहले लाइसेंस ले, उसके बाद ग्राहकों से पैसे ले सकती है. इसके बाद स्टारलिंक को प्री-बुकिंग के पैसे रिफंड करने पड़ गए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×