scorecardresearch
 

गर्भवती ने बुरका क्‍या पहाना, भड़क गया दंगा

फ्रांस में बुरके के चलते हिंसा भड़क गई है. दरअसल, पेरिस में दो लोग 21 वर्षीय एक गर्भवती महिला को बुर्का पहनाकर अस्‍पताल ले जा रहे थे तो वहां की पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार करने की कोशिश की. इस पर लोग भड़क गए और उन्‍होंने पुलिस पर हमला कर दिया.

Burkha Burkha

फ्रांस में बुरके के चलते हिंसा भड़क गई है. दरअसल, पेरिस में दो लोग 21 वर्षीय एक गर्भवती महिला को बुरका पहनाकर अस्‍पताल ले जा रहे थे तो वहां की पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार करने की कोशिश की. इस पर लोग भड़क गए और उन्‍होंने पुलिस पर हमला कर दिया.

खबर के मुताबिक पेरिस के उत्तर पश्चिम इलाके के अर्जेंटिल में बुधवार रात लगभग 60 लोगों ने पुलिस पर हमला बोल दिया. यह हमला तब हुआ जब पुलिस ने गर्भवती महिला को पकड़ने की कोशिश की.

दरअसल, अर्जेंटि‍ल में दो गंजे लोगों ने बुरका पहनकर जा रही गर्भवती महि‍ला का बुरका खींचने के साथ ही उसके सिर के बाल भी नोचे. उन दोनों की हरकत से महि‍ला घायल हो गई और उसके चचेरे भाई उसे अस्‍पताल ले गए. महिला के साथ बदतमीजी करने वाले लोगों ने उसे नस्‍लवादी गालियां भी दीं.

वारदात का पता चलने के बाद पुलिस अस्‍पताल पहुंची और उन्‍होंने महिला को गिरफ्तार करने की कोशिश की, जिसके बाद राह चलते लोग भी दंगे में शामिल हो गए. पुलिस ने उन्‍हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. एक स्‍थानीय अखबार के मुताबिक, 'पुलिस की बेइज्‍जती की गई और भीड़ ने उन पर लात-घूसे भी बरसाए.'

पुलिस ने हिंसा भड़काने के आरोप में गर्भवती महिला के दो चचेरे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है. फिलहाल स्थिति काबू में है. गौरतलब है कि फ्रांस में साल 2011 से ही बुरका या हिजाब पहनने पर बैन है. अगर कोई ऐसा करता है तो उस पर 130 पौंड का जुर्माना लगाया जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें