scorecardresearch
 

चीन में कोरोना का कहर : शंघाई में एक दिन में सबसे ज्यादा मौतों का रिकॉर्ड, तीन गुना की गई टेस्टिंग

चीन की राजधानी बीजिंग की स्थानीय सरकार ने चाओयांग जिले में हफ्ते में तीन बार सामूहिक कोविड टेस्ट कराने के अभियान की शुरुआत कर दी है.

X
बीजिंग में सामूहिक टेस्ट (फाइल फोटो) बीजिंग में सामूहिक टेस्ट (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सरकार ने शुरू कराया सामूहिक कोविड टेस्ट
  • दुकानों पर लगी लोगों की लंबी कतार

चीन में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं. शंघाई में कोरोना के कारण एक दिन में 51 लोगों की मौत के चीन सरकार अलर्ट मोड में आ गई है. सरकार ने बीजिंग में एक हफ्ते में तीन बार कोविड टेस्ट कराने का आदेश दे दिया है. बीजिंग की स्थानीय सरकार ने चाओयांग जिले में 35 लाख से अधिक लोगों के लिए सोमवार को पहले दौर का सामूहिक कोविड टेस्ट का पहला दौर आयोजित किया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक बीजिंग की स्थानीय सरकार की ओर से सामूहिक कोविड टेस्ट कराए जाने के बाद शंघाई की तरह लॉकडाउन लगाए जाने की चर्चा भी शुरू हो गई है. बीजिंग की स्थानीय सरकार ने ये कदम ओमिक्रोन वैरिएंट की वजह से कोरोना की ताजा लहर के दौरान जिले में सबसे ज्यादा केस सामने आने के बाद उठाया है. सामूहिक टेस्ट के बाद चाओयांग जिले में दुकानों पर लोगों की लंबी कतारें देखने को मिलीं.

बीजिंग के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक 25 अप्रैल को चाओयांग शहर में 25 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही शहर में कुल एक्टिव केस अब 70 हो गए हैं. चाओयांग शहर में पिछले कुछ दिनों में ही कोरोना के 49 मामले सामने आए हैं. चाओयांग में ही अधिकतर देशों के दूतावास भी हैं. बीजिंग के इस इलाके में हजारों विदेशी नागरिक रहते हैं.

ये भी पढ़ें- चीन के शंघाई में कोरोना की नई लहर में पहली मौत, 2.5 करोड़ लोग घरों में कैद रहने को मजबूर

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने जीरो केस पॉलिसी का बचाव करते हुए कहा है कि ये महामारी निवारण प्रोटोकॉल विज्ञान और विशेषज्ञों की राय पर आधारित है. विदेशी नागरिकों को लेकर एक सवाल के जवाब में वांग ने कहा कि हम चीन में रहने वाले हर चीनी और विदेशी नागरिक के स्वास्थ्य और सुरक्षा की प्रभावी गारंटी देते हैं. डब्ल्यूएचओ के सिद्धांतों का ध्यान रखते हुए हमने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

ये भी पढ़ें- चीन में कोविड से इन्फेक्टेड पालतू जानवरों के साथ हो रहा क्रूर व्यवहार!

उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 2021 में चीन में कोरोना के कारण मृत्यु दर प्रत्येक एक लाख पर 0.6 थी जो अमेरिका की तुलना में देखें तो 1/606 है. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ये स्वीकार किया कि कोरोना की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों की वजह से आम जनजीवन पर प्रभाव पड़ा है. चीनी नागरिक सरकार का समर्थन करते हैं.

ये भी पढ़ें- GDP की रेस में भारत से पिछड़ेगा ड्रैगन? लॉकडाउन में चीन की 40 करोड़ आबादी!

गौरतलब है कि बीजिंग में 24 अप्रैल को कोरोना के 14 मामले सामने आए थे. इनमें से 11 अकेले चाओयांग जिले से थे. ये बीजिंग शहर का मध्य भाग है और चीन के शीर्ष नेता भी इसी इलाके में रहते हैं. चीन में कोरोना के 20190 नए मामले सामने आए थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें