scorecardresearch
 

इंडोनेशिया: जेल में आग लगाकर 200 कैदी चंपत

इंडोनेशिया के तीसरे सबसे बड़े शहर में स्थित एक जेल में गुरुवार देर रात हुए दंगे के बाद कैदियों ने जेल को आग लगा दी और आतंकवादियों सहित करीब 200 कैदी फरार हो गए. जेल अब भी जल रही है और अधिकारी फरार कैदियों की तलाश कर रहे हैं.

जेल में आग जेल में आग

इंडोनेशिया के तीसरे सबसे बड़े शहर में स्थित एक जेल में गुरुवार देर रात हुए दंगे के बाद कैदियों ने जेल को आग लगा दी और आतंकवादियों सहित करीब 200 कैदी फरार हो गए. जेल अब भी जल रही है और अधिकारी फरार कैदियों की तलाश कर रहे हैं.

हजारों पुलिसकर्मी और सैनिक तांजुंग गुस्ता जेल के आसपास तैनात हैं, जिससे उत्तरी सुमात्रा की राजधानी मेदान को अन्य प्रांतों से जोड़ने वाली सड़कें बंद हैं. फायर ब्रिगेड जेल में लगी आग को बुझाने में लगा है.

गुरुवार देर रात हुए दंगे में जेल के तीन कर्मचारियों और दो कैदियों की मौत हो गई. दंगे से पैदा हुई अफरातफरी का फायदा उठाकर करीब 200 कैदी जेल से फरार हो गए.

स्थानीय पुलिस प्रमुख लेफ्टिनेंट कर्नल निको अफींता ने बताया कि अधिकारियों ने फरार हुए कैदियों में से 55 को फिर से गिरफ्तार कर लिया है और अन्य कैदियों की तलाश की जा रही है. दोषी साबित 22 आतंकवादियों में से तीन फिर से पकड़ लिए गए हैं. उन्होंने बताया कि मरने वाले जेलकर्मियों में एक महिला भी शामिल है. ये लोग जेल इमारत के ऑफिस में फंस गए थे, जिसे देर रात दंगे के दौरान आग लगा दी गई.

बताया जा रहा है कि जेल में बिजली गुल रहने की वजह से दंगा भड़का. बिजली नहीं होने से कैदियों को पानी नहीं मिला था. जेल निदेशालय के प्रवक्ता अकबर हदी ने बताया कि कैदियों ने करीब 15 अधिकारियों को जेल के भीतर बंधक बना लिया. जेल में करीब 2600 कैदी हैं, जबकि इसकी क्षमता 1500 कैदियों की है. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जेल के भीतर से गोली चलने की आवाजें सुनी गईं. जेल से आग की लपटें और धुएं का गुबार उठने लगा.

अभियान को देख रहे उप न्याय मंत्री डेनी इंद्रयाना ने अधिकारियों से जेल से सभी कैदियों को सुरक्षित बाहर निकालने को कहा है. उन्‍होंने फरार कैदियों से कहा है कि वे खुद अधिकारियों के सामने सरेंडर कर दें.

इंद्रयाना ने कहा कि फरार कैदियों का पीछा किया जाएगा और जो सरेंडर नहीं करेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. घटना में घायल हुए लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें