scorecardresearch
 

Instagram पर ग्लैमरस लाइफ दिखाने वाली महिला को कैसे मिले 17 करोड़?

एक्सीडेंट क्लेम (Accident Claim) को लेकर महिला और कंपनी के बीच विवाद लंबे समय तक चला. हालांकि, अंत में कोर्ट ने महिला के हक में फैसला सुनाया और 17 करोड़ रुपये से अधिक भुगतान का आदेश दिया. आइए जानते हैं पूरा मामला... 

X
Photo: Natasha Palmer/Insta Photo: Natasha Palmer/Insta
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सड़क हादसे के बाद बदल गई थी जिंदगी
  • महिला ने जीता केस
  • 17 करोड़ रुपये हर्जाना मिला

सड़क हादसे (Road Accident) की शिकार एक महिला को उसके Instagram पोस्ट द्वारा झूठा साबित करने की कोशिश की गई. ये कोशिश की थी इंश्योरेंस कंपनी (Insurance Company) ने. कंपनी ने महिला की चोटों को गंभीर नहीं माना और उसकी गतिविधियों को ट्रैक करने के लिए एक गुप्त वीडियो निगरानी ऑपरेशन भी चलाया. इंश्योरेंस कंपनी ने दावा किया कि इंस्टाग्राम पर महिला की ग्लैमरस लाइफ देखकर ऐसा बिल्कुल नहीं लगता कि एक्सीडेंट की वजह से उसकी जिंदगी बुरी तरह तबाह हुई है. 

ब्रिटेन के इस मामले में एक्सीडेंट क्लेम (Accident Claim) को लेकर महिला और कंपनी के बीच विवाद लंबे समय तक चला. हालांकि, अंत में कोर्ट ने महिला के हक में ऐतिहासिक फैसला सुनाया और 1.7 मिलियन पाउंड (17 करोड़ रुपये से अधिक) भुगतान का आदेश दिया. आइए जानते हैं पूरा मामला... 

Daily Mail की रिपोर्ट के मुताबिक, सड़क हादसे का शिकार 34 वर्षीय ब्रिटिश महिला का नाम नताशा पालमर (Natasha Palmer) है. नताशा पूर्व मीडिया एक्जीक्यूटिव (Media Executive) हैं. साल 2014 में नशे में एक ड्राइवर ने उनकी Renault Clio कार को पीछे से टक्कर मार दी थी. इस हादसे ने नताशा की जिंदगी बदलकर रख दी. 

महिला को एक्सीडेंट में आईं गंभीर चोटें

इस सड़क हादसे में नताशा को गंभीर चोटें आईं. हादसे ने उनके दिमाग पर बुरा असर डाला. दिमागी चोट से उनके शरीर में गंभीर माइग्रेन, खराब याददाश्त, एकाग्रता भंग, आंखों में दिक्कत और चक्कर आने जैसी बीमारियां घर कर गईं. जब वो चलती तो लगता कि वो नशे में हैं. कुल मिलाकर एक्सीडेंट के बाद से नताशा की जिंदगी पूरी तरह बदल गई. 

इंश्योरेंस कंपनी को ये सब लगा झूठ!

हालांकि, नताशा पालमर की इन समस्याओं को इंश्योरेंस कंपनी ने खास तवज्जो नहीं दी. उसे नताशा की बातें झूठी लगीं. दरअसल, जब नताशा ने 2 मिलियन पाउंड से अधिक के नुकसान पाने के लिए एक्सीडेंट करने वाले नशेबाज ड्राइवर Seferif Mantas पर लंदन कोर्ट में केस किया, तो उसकी बीमा कंपनी के वकील ने नताशा पर "मौलिक बेईमानी" का आरोप लगाते हुए कहा कि वो अपनी समस्याओं को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रही हैं. गौरतलब है कि कंपनी ने पहले 5 लाख देने की बात कही थी. लेकिन नताशा इसपर नहीं राजी हुईं. 

कंपनी ने महिला के इंस्टाग्राम का लिया सहारा

जब ये मामला कोर्ट पहुंचा तो Liverpool Victoria इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने नताशा पालमर के Instagram Post का सहारा लेकर उन्हें झूठा साबित करने की कोशिश की. उनकी गतिविधियों को ट्रैक किया. कंपनी ने कोर्ट को नताशा की Instagram Photos और Videos को दिखाया कि कैसे एक्सीडेंट से ठीक होने के बाद नताशा आराम से एन्जॉय कर रही हैं. 

ये भी पढ़ें- VIP दोस्तों के लिए सेलिब्रेटी की एडल्ट पार्टी: डॉक्टर करते थे सेक्स वर्कर्स की जांच

इंश्योरेंस कंपनी ने कोर्ट को नताशा की सैकड़ों पोस्ट दिखाईं, जिनमें वह स्कीइंग, विदेश ट्रिप, म्यूजिक कंसर्ट आदि में भाग लेते हुए नजर आ रही हैं. उनकी हंसती-मुस्कुराती तस्वीरों को आधार बनाकर कंपनी ने दावा किया कि वो एक्सीडेंट के बाद प्रभावों के बारे में झूठ बोल रही हैं. जबकि नताशा अपनी बात पर अडिग रहीं. उन्होंने कई मेडिकल प्रूफ भी कोर्ट को सौंपे.   
 
कंपनी को 17 करोड़ भुगतान करने का आदेश

हालांकि, कंपनी की बातें कोर्ट पर कुछ खास प्रभाव नहीं डाल सकीं. जज एंथनी मेट्ज़र (Anthony Metzer) ने कंपनी के दावों को खारिज कर दिया. कंपनी को 17 करोड़ भुगतान करने का आदेश करते हुए जज ने नताशा को 'अपने मामले में ईमानदार, सहायक, प्रभावशाली और प्रतिष्ठित गवाह' बताया. 

कोर्ट ने कहा कि हादसे के बाद जहां नताशा को शारीरिक चोट का सामना करना पड़ा, वहीं मानसिक रोगों ने उसे घर कर लिया. सोशल मीडिया पर हंसकर पोस्ट करना किसी के खुश या फिट होने का सूचक नहीं हो सकता. सोशल मीडिया जीवन की एक चमकदार तस्वीर पेश करता है. एक्सीडेंट के बाद से उसे कोई नौकरी नहीं मिली, वह खेल-कूद नहीं सकी. हर्जाने में इन सबका भी ख्याल रखा गया है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें