scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

कोरोना के बाद अब कांगो बुखार फैलने की आशंका, नहीं है कोई वैक्सीन

सांकेतिक तस्वीर
  • 1/5

देश इस समय कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ रह है लेकिन इसी बीच कांगो बुखार फैलने की आशंका को लेकर जारी किए गए अलर्ट ने लोगों को डरा दिया है.

सांकेतिक तस्वीर
  • 2/5

गुजरात के कुछ इलाके में जानवरों में कांगो बुखार फैलने के बाद लोगों में दहशत है जिसके बाद महाराष्ट्र ने भी पालघर इलाके में अलर्ट जारी किया है.  कांगो बुखार का पूरा नाम राइमियन कांगो हेमोरेजिक फीवर (सीसीएफएफ) है.  इंसानों के लिए घातक राइमियन कांगो हैमरेज फीवर जानवरों से इंसानों में फैलता है.

सांकेतिक तस्वीर
  • 3/5

अलर्ट के बाद जिला अधिकारी ने तत्काल प्रभाव से सभी मीट और पॉल्ट्री विक्रेताओं को जानवरों में कांगो बुखार लेकर सावधान रहने की नसीहत दी है. इतना ही नहीं पालघर के कलेक्टर डॉ मानेक गुरसाले ने गुजरात सीमा से महाराष्ट्र में आने वाले पशुओं पर रोक लगा दी है.

सांकेतिक तस्वीर
  • 4/5

उन्होंने सभी मीट विक्रेताओं को हाइजीन और साफ सफाई रखने का विशेष निर्देश दिया है. इतना ही नहीं बिक्री के वक्त हाथ में ग्लव्स और मास्क पहने रहना भी अनिवार्य कर दिया है. गुजरात से महाराष्ट्र आए जानवरों की भी जांच करने का आदेश दिया गया है.

सांकेतिक तस्वीर
  • 5/5

इस बीमारी को लेकर जानवरों के डॉक्टर और हसबेंड्री विभाग के डिप्टी कमिश्नर डॉ पी डी कांबले ने कहा कि अगर समय रहते इसका पता नहीं लगाया गया और इलाज की व्यवस्था नहीं हुई तो करीब एक तिहाई रोगियों की मौत हो सकती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक इस बीमारी में मृत्यु दर 10 से 40 फीसदी तक है और इसकी कोई भी वैक्सीन जानवरों या इंसानों के लिए अभी मौजूद नहीं है.