scorecardresearch
 

Coronavirus की स्टडी बता रही Third Wave की आहट, लापरवाह लोगों में नहीं है घबराहट, देखें ये रिपोर्ट

Coronavirus की स्टडी बता रही Third Wave की आहट, लापरवाह लोगों में नहीं है घबराहट, देखें ये रिपोर्ट

इसमें कोई दो राय नहीं कि देश में कोरोना की दूसरी लहर सुस्त पड़ रही है. कुछ राज्यों को छोड़ दें तो आंकड़े राहत देने वाले ही आ रहे हैं. संक्रमण रेट में गिरावट जारी है, रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है. अस्पतालों में बेड के लिए मारामारी अब नहीं दिख रही है लेकिन इसका मतलब क्या ये है कि हम लापरवाह हो जाएं और कोविड प्रोटोकॉल को भूल जाएं. पहली लहर के सुस्त पड़ने के बाद हमने ये ही तो गलती की थी और नतीजा दूसरी लहर ने पूरे देश में हाहाकार मचा दिया था. लोग ये बात नहीं समझ रहे हैं, जबकि तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञ लगातार आशंकाएं जाहिर कर रहे हैं. अब एक स्टडी सामने आई है जो बताती है कि अगर नहीं संभले तो खतरा दरवाजे पर आना वाला है. देखें ये एपिसोड.

There is no doubt that the second wave of coronavirus in the country is declining. The infection rate continues to decline, the recovery rate is increasing continuously. The fight for beds in hospitals is no longer visible, but does it mean that we should be careless and forget the covid protocol. After the first wave slowed down, we had made this mistake and as a result, the second wave created an outcry in the whole country. People are not understanding this, while experts are constantly expressing apprehensions about the third wave. Now a study has come out which shows that if it is not handled then it could be dangerous. Watch this episode.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें