scorecardresearch
 

Pegasus Spyware के जरिए वाकई देश में हो रही जासूसी? देखें मुकाबला

Pegasus Spyware के जरिए वाकई देश में हो रही जासूसी? देखें मुकाबला

सियासत में जासूसी का जिन्न फिर से बाहर निकल आ गया है. सवाल उठ रहे है कि क्या वाकई देश में 300 से ज्यादा लोगों की मोबाइल के जरिए जासूसी की गई. आरोप ये भी है कि सरकार तमाम लोगों के फोन हैक करके उन पर नजर रख रही थी. आरोपों की जद में इजराइली कंपनी एनएसओ ग्रुप है. जिसके पेगैसस स्पाइवेयर के जरिए देश में 300 लोगों के फोन हैक करने का आरोप है. इन तीन सौ लोगो में मंत्रियों के साथ साथ विपक्ष के नेताओं, वैज्ञानिकों, पत्रकारों, कानून जगत से जुड़े लोग भी शामिल हैं.आरोप है कि उद्योगपतियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की भी जासूसी की गई. हालांकि सरकार ने इन आरोपों से इंकार किया है.और इजराइली कंपनी भी ऐसे आरोपों को सिरे से खारिज कर रही है. देखें वीडियो.

The claim of a media report has created a stir in the political corridors of the country. The question is about cloning the phone of 300 people in the country while violating their privacy through Pegasus spyware. These three hundred people include ministers as well as opposition leaders, scientists, journalists, people associated with the legal world. It is alleged that industrialists and social workers were also spied on the list. However, the government has denied these allegations. And the Israeli company is also rejecting such allegations. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें