scorecardresearch
 
टेक न्यूज़

SpO2 मापने के लिए स्मार्टवॉच से बेहतर है ऑक्सीमीटर, जानिए क्या है दोनों में अंतर

Corona
  • 1/8

Covid-19 के इस टाइम में कई लोग स्मार्टवॉच और फिटनेस बैंड से अपने ब्लड ऑक्सीजन लेवल को चेक करते हैं. इस फीचर को Apple Watch 6 जैसे स्मार्टवॉच में भी दिया गया है. ये फीचर अभी के टाइम में काफी उपयोगी है. लेकिन आपको ब्लड ऑक्सीजन लेवल चेक करने के लिए स्मार्टवॉच या ऑक्सीमीटर में किसका यूज करना चाहिए?

Oximeter
  • 2/8

क्या आपको Apple Watch Series 6 या Amazfit GTS 2 Mini में मिलने वाले SPO2 पर भरोसा करना चाहिए? इसका उत्तर हां में है लेकिन संभल कर. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ये स्मार्टवॉच या हेल्थ बैंड वो काम करते हैं जिसका दावा वो करते हैं. लेकिन जब ऑक्सीजन ब्लड लेवल मापने की बारी आती है तो सस्ते ब्रांड का ऑक्सीमीटर भी ज्यादा सटीक होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसके काम करने के टेक्नोलॉजी में अंतर है. 
 

Oximeter
  • 3/8

अभी ये बातें Covid-19  के टाइम में समझना बहुत जरूरी है क्योंकि कई लोगों को अभी अपने SPO2 लेवल को लेकर चिंता रहती है. SPO2 मापने के लिए ऑक्सीमीटर स्मार्टवॉच या फिटनेस बैंड से अच्छा टेक्नोलॉजी की वजह से है.
 

Oximeter
  • 4/8

ब्लड ऑक्सीजन लेवल चेक करने के दो इनवेसिव तरीके हैं. इसमें reflectance oximetry और transmittance oximetry शामिल हैं. स्मार्टवॉच या फिटनेस बैंड्स reflectance oximetry टेक्निक को यूज करते हैं जबकि रेगुलर ऑक्सीमीटर जिसमें उंगली डाल कर SPO2 चेक करते हैं वो transmittance oximetry का यूज करता है. 

Oximeter
  • 5/8

Reflectance Oximetry vs Transmittance Oximetry


आगे बढ़ने से पहले हम reflectance oximetry और transmittance oximetry को समझते हैं. transmittance oximetry को SPO2 मापने का गोल्ड स्टैंडर्ड माना गया है. इसमें दोनों एंड पर मौजूद सेंसर्स का यूज किया जाता है. जब उंगली ऑक्सीमीटर के अंदर रखते हैं तो एक एंड का सेंसर लाइट सोर्स का यूज करके लाइट को एमिट किया जाता है. जब ये फिंगर से क्रॉस करता है तो ये दूसरे एंड के सेंसर से टकराता है. ये सेंसर फोटोबॉडीज होते हैं. ये लाइट प्रोपर्टी को रीड कर लेते हैं. इसमें वेवलेंथ वैगरह शामिल है. इसके आधार पर रिजल्ट दिखाया जाता है. 
 

Oximeter
  • 6/8

Reflectance oximetry का यूज स्मार्टवॉच और फिटनेस बैंड्स में किया जाता है. इसमें SPO2 को मापने के लिए स्किन के अंदर मौजूद ब्लड से लाइट रिफलेक्ट होकर आती है. ऐसा इसलिए क्योंकि लाइट एमटिंग सेंसर्स जो लाइट को रीड करते हैं वो एक ही साइड में होते हैं. दूसरे शब्दों में कहे तो यहां transmitting लाइट नहीं होता है. 

Apple Smartwatch
  • 7/8

अब आपने इन टेक्नोलॉजी को समझ लिया तो बात करते हैं इसमें से अच्छा कौन है. transmittance oximetry ज्यादा सही रिजल्ट देगा क्योंकि ये उस लाइट को रीड करता है जो आपके बॉडी पार्ट से पास करता है. इससे रिजल्ट ज्यादा सटीक हो जाता है. इसकी एक वजह ये भी है कि स्किन पर प्रेशर, स्किन कलर के कारण ये प्रभावित नहीं होता है.  

Apple Smartwatch
  • 8/8

थ्योरी में ऑक्सीमीटर ज्यादा सही रिजल्ट देता हुआ दिखाई देता है. प्रैक्टिकल में SPO2 को मापने में दूसरे वेरिएबल्स पर भी ध्यान दिया जाता है. अच्छे स्मार्टवॉच जैसे Apple Watch 6 किसी ऑक्सीमीटर के करीब का ही रिजल्ट दे सकता है.