scorecardresearch
 
टेक न्यूज़

Pegasus: 1 व्यक्ति की जासूसी करने का खर्च लगभग 70 लाख रुपये, ऐसे करता ये स्पाईवेयर काम

Malware
  • 1/8

Pegasus स्पाईवेयर फिर से चर्चा में है. रिपोर्ट्स के अनुसार Pegasus का यूज करके पत्रकार, एक्टिविस्ट पर नजर रखी जा रही है. इस वजह से कई लोग Pegasus के बारे में जानना चाहते हैं आखिर ये है क्या और इसे कैसे यूज किया जा सकता है. इन सभी बातों का जवाब आपको हम यहां देंगे. 

android
  • 2/8

Pegasus को इजरायली सर्विलांस कंपनी NSO Group ने तैयार किया है. ये एक स्पाईवेयर है. यानी इसका यूज किसकी जासूसी के लिए किया जा सकता है. ये ऑनलाइन मिलने वाले रैंडम स्पाईवेयर की तरह नहीं है. ये काफी एडवांस और पालरफुल टूल है. 

Facebook
  • 3/8

इसे सभी लोग नहीं खरीद सकते हैं. कंपनी का दावा है ये सिर्फ सरकार के साथ ही काम करती है. इसका यूज मैक्सिको और पनामा की सरकारें कर रही हैं. ये बात पब्लिक डोमेन में है. रिपोर्ट के अनुसार इसके 40 देशों से 60 कस्टमर्स हैं. कंपनी ने कहा है इसके यूजर्स में से 51 परसेंट लोग इंटेलिजेंट एजेंसी, 38 परसेंट लोग लॉ इनफोर्समेंट और 11 परसेंट लोग मिलिट्री से है. कंपनी ने वेबसाइट पर लिखा है ये टेरर और क्राइम को इन्वेस्टिगेट करने में मदद करती है. 

NSO Group
  • 4/8

कंपनी के अनुसार NSO सिर्फ Pegasus का लाइसेंस संप्रभु राज्य, राज्य एजेंसी को देता है. ये Pegasus को ऑपरेट नहीं करता है. इसके यूसेज में इसका कोई दखल नहीं है और ना ही ये कस्टमर की जानकारी को जमा करता है. ये एक मास सर्विलांस टेक्नोलॉजी नहीं है. ये स्पेसिफिक मोबाइल डिवाइस से ही डेटा को कलेक्ट करता है.  

PC
  • 5/8

एक रिपोर्ट के अनुसार Pegasus स्पाईवेयर को लाइसेंस के फॉर्म में बेचा जाता है. इसकी कीमत इसके कॉन्ट्रैक्ट पर डिपेंड करती है. एक लाइसेंस के लिए 70 लाख रुपये तक खर्च करने पड़ते है. एक लाइसेंस से कई स्मार्टफोन्स को ट्रैक किया जा सकता है. 

System
  • 6/8

रिपोर्ट में बताया गया है 2016 के अनुमान के मुताबिक सिर्फ 10 लोगों पर नजर रखने के लिए NSO Group ने लगभग 9 करोड़ रुपये चार्ज किए थे. 2016 की प्राइस लिस्ट के अनुसार NSO Group अपने कस्टमर्स से 10 डिवाइस हैक करने के बदले 6,50,000 (लगभग 4.84 करोड़ रुपये) डॉलर चार्ज करता है. इसके साथ इसके इंस्टॉलेशन के लिए भी 500,000 (लगभग 3.75 करोड़ रुपये) डॉलर देने होते हैं. 

Hacker
  • 7/8

इससे टूल की मदद से अटैकर्स SMS, कॉन्टैक्ट डिटेल्स, कॉल हिस्ट्री, कैलेंडर रिकॉर्ड्स, ईमेल्स, इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप और ब्राउजिंग हिस्ट्री तक की जानकारी ले सकता है. NSO Group के प्रोडक्ट ब्रोचर के अनुसार Pegasus चुपचाप फोटो क्लिक करने के अलावा कॉल को रिकॉर्ड, आसपास की आवाज को रिकॉर्ड करने के अलावा बिना यूजर्स की जानकारी के स्क्रीनशॉट भी ले सकता है. 

Danger
  • 8/8

ये काम पूरा होने पर अपने आप खुद को खत्म कर लेता है. ये Android, iOS, Windows Phone, BlackBerry, Symbian और Tizen सभी ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर सकता है. इसको इंस्टॉल करने के लिए एक लिंक पर क्लिक करना होता है. बिना लिंक पर क्लिक किए भी इसे मिस कॉल या वॉट्सऐप कॉल के जरिए विक्टिम के फोन में इंस्टॉल किया जा सकता है.