scorecardresearch
 

एंड्रॉयड यूजर्स इन छिपे फीचर्स के जरिए स्मार्टफोन को बना सकते हैं और स्मार्ट

आमतौर पर एंड्रॉयड को यूजर्स इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इसमें कस्टमाइजेशन के काफी ऑप्शन होते हैं. यहां हम आपको एंड्रॉयड के कुछ ऐसे छिपे हुए फीचर्स के बारे में बताएंगे जो शायद ही आपको पता हों.

एंड्रॉयड के डेवलपर ऑप्शन ऐसे करें यूज एंड्रॉयड के डेवलपर ऑप्शन ऐसे करें यूज

एंड्रॉयड में कई ऐसे फीचर्स होते हैं जिसे गूगल नहीं चाहता कि आम यूजर्स इस्तेमाल करें. कंपनी इन फीचर्स को लॉक करके रखती है, क्योंकि कई बार इन फीचर्स के साथ छेड़-छाड़ करने से फोन के सॉफ्टवेयर में प्रॉब्लम्स आ जाती हैं.

अगर आपके पास एंड्रॉयड स्मार्टफोन है और आप इसकी तह तक जाना चाहते हैं तो हम आपको एंड्रॉयड के सीक्रेट मेन्यू के बारे में बताते हैं. कंपनी ने एंड्रॉयड में एक हिडेन 'डेवलपर्स ऑप्शन' रखा है जिससे आप अपने स्मार्टफोन की काफी चीजें बदल सकते हैं.

- ऐसे करें डेवलपर्स ऑप्शन को एक्टिवेट:
एंड्रॉयड की सेटिंग्स खोलें और स्क्रॉल करके सबसे नीचे जाएं. यहां आपको 'About device' ऑप्शन दिखेगा. इसपर क्लिक करें और स्क्रॉल करके सबसे नीचे जाएं. अब आपको 'Build number' ऑप्शन दिखेगा जिसपर आप लगातार टैप करते रहें. 7 या 8 बार टैप करने पर आपको एक कन्फर्मेशन मैसेज दिखेगा जिसमें आपको बताया जाएगा कि 'आप अब डेवलपर हैं'.

इसके बाद सेटिंग्स के मेन्यू में 'Developer options' जुड़ जाएगा. इसे क्लिक करें यहां आपको कस्टमाइजेशन के ढेर सारे ऑप्शन दिखेंगे.

- सिस्टम एनिमेशन स्पीड बढ़ा सकते हैं:
डेवलपर्स ऑप्शन में कई फीचर्स काफी काम के साबित होंगे इनमें से एक एनिमेशन की स्पीड है जिससे आपको एंड्रॉयड पहले से फास्ट लगेगा. इसके लिए यहां Window animation scale, Transition animation scale और Animator scale ऑप्शन दिए गए हैं. इसे आप बढ़ा या घटा सकते हैं. इनकी स्पीड 0.1X डिफॉल्ट होती है जिन्हें घटा कर 0.5x करने से आपको बदलाव दिखने लगेगा.

- बैकग्राउंड में चलने वाले एप्स को लिमिट कर सकते हैं:
स्मार्टफोन में कई एप न यूज करने पर भी चलते रहते हैं और बैट्री व मोबाइल डेटा की खपत करते हैं. इन एप्स में फेसबुक का नाम भी शामिल है जो लगभग सभी यूज करते हैं. इससे बचने के लिए डेवलपर ऑप्शन्स में 'Background process limit' दिया गया है. इसे यूज करके आप जितना चाहें बैकग्राउंड एप चला सकते हैं या चाहें तो सभी बैकग्राउंड प्रोसेस बंद कर सकते हैं.

- एप कंजम्पशन को कर सकते हैं मॉनिटर:
इस ऑप्शन के जरिए आप यह पता लगा सकते हैं कि कौन से एप्स ज्यादा रैम की खपत कर रहे हैं साथ ही किसने फोन का कितना डेटा खत्म किया है. इससे आपको यह जानने में आसानी होगी कि किस एप को रखना है और किसे अन इंस्टॉल कर देना है.

- स्मार्टफोन के स्क्रीन को रख सकते हैं हमेशा एक्टिव :
कई बार स्क्रीन टच न करने से मोबाइल लॉक हो जाता है. हालांकि सेटिंग्स से आप स्क्रीन लॉक का टाइमआउट बढ़ा सकते हैं, लेकिन इसके मैक्सिमम टाइमआउट की सीमा 30 मिनट की होती है. अगर आपको आधे घंटे तक फोन को बिना टच किए इसके स्क्रीन को ऑन रखना है तो आप यहां से 'Stay awake' ऑप्शन को इनेबल कर सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें