scorecardresearch
 

Moto G 5G Review: फ्यूचर प्रूफ मिड रेंज स्मार्टफोन, इंप्रेसिव कैमरा

Moto G 5G Review: भारत में फिलहाल 5G की उपलब्धता नहीं है. लेकिन कंपनियां फ्यूचर को ध्यान में रख कर 5G एनेबल्ड स्मार्टफोन्स ला रही हैं. मोटोरोला ने ऐसे सेग्मेंट में इसे लॉन्च किया है जिस सेग्मेंट में भारती मार्केट में 5G फोन नहीं थे.

Moto G 5G Moto G 5G
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Moto G 5G में Android 11 का अपडेट जल्द ही मिलेगा.
  • Moto G 5G में हाई रिफ्रेश रेट का सपोर्ट नहीं है.
  • Moto G 5G में तीन रियर कैमरे हैं और डिस्प्ले बड़ी है.

Motorola ने हाल ही में भारत में एक नया 5G स्मार्टफ़ोन Moto G 5G लॉन्च किया है. इसका नाम थोड़ा कन्फ्यूजिंग है, क्योंकि Moto G5 पहले से एक स्मार्टफ़ोन मॉडल है. Moto G 5G इससे मिलता जुलता ही है.

बहरहाल Moto G 5G भारत में बिकने वाला सबसे सस्ता स्मार्टफ़ोन है और इसकी क़ीमत 20,999 रुपये है. 5G नेटवर्क फ़िलहाल भारत में कोई भी टेलीकॉम कंपनी नहीं देती है, लेकिन 2021 के आख़िर से भारत में 5G की शुरुआत होनी की उम्मीद है.

हम इस रिव्यू में बात करेंगे कि Moto G 5G की ख़ासियतें क्या है और कमियाँ क्या हैं.

Moto G 5G के डिज़ाइन की बात करें तो यहाँ आपको कार्बन फ़ाइबर टेक्स्चर का बैक मिलता है. फ़ोन मिड रेंज है और प्लास्टिक बॉडी होने की वजह से ज़्यादा प्रीमियम नहीं लगता है. डिज़ाइन में कुछ क्रांतिकारी नहीं है, लेकिन ये डीसेंट ज़रूर है.

रियर पैनल पर अपर लेफ़्ट कॉर्नर में आपको कैमरा मॉड्यूल मिलता है. ये स्क्वॉयर शेप में है जिसमें तीन कैमरे और एक फ़्लैश लाइट है. इस फ़ोन में रियर फ़िंगरप्रिंट स्कैनर है और यहीं मोटोरोला की ब्रांडिंग है.

फ़ोन होल्ड करने में ग्रिप अच्छी रहती है और बिना कवर के भी ये फ़ोन हाथ से स्लिप नहीं होता. फ़ोन का रियर पैनल फ़िंगरप्रिंट मैग्नेट है यानी यहाँ आपके फ़िंगरप्रिंट काफ़ी दिखाई देते हैं तो आपके इसे समय समय पर साफ़ करने की ज़रूरत होगी. फ़ोन के साथ कवर भी दिया गया है जो अच्छी बात है.

फ़ोन का फ़्रेम मेटल का है और दाईं तरफ़ वॉल्यूम रॉक कीज़ के साथ पावर बटन दिया गया है. लेफ़्ट साइड में आपको गूगल असिस्टेंट के लिए डेडिकेटेड बटन दिया गया है.

फ़्रंट की बात करें तो फ़ोन में पंचहोल डिस्प्ले है और बेजल्स कम हैं, लेकिन बॉटम में आपको चिन देखने को मिलेगा. साइड में भी पतले बेजल्स हैं.

डिस्प्ले

Moto G 5G में 6.67 इंच की डिस्प्ले दी गई है. ऐस्पेक्ट रेश्यो 20:9 का है और ये HDR10 सपोर्ट करती है. ये LCD पैनल ही है. इस सेग्मेंट में वैसे आपको AMOLED पैनल वाले स्मार्टफोन्स भी मिल जाएँगे. लेकिन सिर्फ AMOLED पैनल होने की वजह से ही फ़ोन अच्छा हो गया ऐसी बात नहीं है.

Moto G 5G की डिस्प्ले ब्राइट और कलरफुल है. गेमिंग सहित वीडियो देखने का हमारा एक्सपीरिएंस बेहतरीन रहा है. स्क्रीन इनडोर और आउटडोर दोनों ही में अच्छा काम करती है.

Moto G 5G की डिस्प्ले का व्यूइंग एंगल भी अच्छा है. फ़ोन की डिस्प्ले बड़ी होने की वजह से आप आराम से इसमें OTT पर फ़िल्में और सीरीज़ देख पाएँगे.

परफ़ॉर्मेंस और सॉफ्टवेयर

Moto G 5G में Qualcomm Snapdragon 750G प्रोसेसर दिया गया है. ये प्रोसेसर नया है और इसी फ़ोन के साथ इसमें भारत में एंट्री मारी है. इस वजह से इसका हमने काफ़ी दिन तक यूज करके रिव्यू लिखा है.

प्रोसेसर डीसेंट लगा और अच्छी बात ये है कि इसे मोटोरोला के इस फ़ोन में दिए गए सॉफ़्टवेयर का पूरा फ़ायदा मिला. चूँकि यहाँ Android में किसी तरह का स्किन देखने को नहीं मिलता है, इसलिए ये स्मूद भी लगता है.

Moto G 5G में Android 10 दिया गया है, लेकिन इसके लिए कंपनी ने Android 11 अपडेट का भी ऐलान कर दिया है. इसलिए जल्द ही आपको इसमें Android 11 का अपडेट दे दिया जाएगा.

फ़ोन फ़ास्ट और स्मूद है, लेकिन इसमें किसी तरह का हाई रिफ़्रेश रेट नहीं मिलता है. इसलिए अगर स्क्रॉलिंग में आपको स्टैंडर्ड स्पीड मिले तो घबराने की कोई बात नहीं है.

चूँकि इन दिनों इस सेग्मेंट में कंपनियाँ 90Hz रिफ़्रेश रेट वाले डिस्प्ले दे रही हैं जिससे फ़ोन असलियत में जितना फ़ास्ट नहीं भी होता है तो भी फ़ास्ट फ़ील होता है. इस फोन में  हाई रिफ़्रेश रेट मिसिंग है जो कंपनी को देना चाहिए था.

एक ऐप से दूसरे ऐप में स्विच करना आसान है और लोडिंग टाइम कम है. लेकिन ये समय के साथ जब फ़ोन पुराना होता जाता है तो बढ़ता है. इसलिए फ़ोन लेने से पहले या किसी रिव्यू को पढ़ कर आप इस बात को ध्यान में ज़रूर रखें.

फ़ोन में गेमिंग कर सकते हैं. छोटे से बड़ा गेम आसानी से चलता है और इसमें कोई लैग या हैंग होने की समस्या नहीं है. हालाँकि एक साथ दर्जनों ऐप्स खुले हों और आप हाई फ़्रेम रेट में गेमिंग कर रहे हैं तो फिर आपको इस फ़ोन में मुश्किल हो सकती है.

इस फ़ोन में मोटोरोला के कुछ ऐप्स हैं जो बेहतरीन है. फ़ेसबुक के अलावा इसमें कोई भी थर्ड पार्टी ऐप नहीं दिया गया है. चूँकि एंड्रॉयड में गूगल के तमाम ऐप्स मिलते हैं तो वो आपको यहाँ भी मिलेंगे.

वैसे तो आपको इसमें स्टॉक एंड्रॉयड जैसा ही एक्सपीरिएंस मिलेगा, लेकिन अगर आप चाहें तो MyUX ऐप के ज़रिए थीम में कुछ बदलाव कर सकते हैं. मोटोरोला के कुछ फ़ीचर्स जैसे क्विक कैप्चर, फ़ास्ट फ़्लैशलाइट, थ्री फ़िगर स्क्रीनशॉट, स्वाइप टु स्प्लिट. ये सब फ़ीचर आपको एक अलग एक्सपीरिएंस दिलाएँगे.

कैमरा

Moto G 5G में टोटल तीन रियर कैमरे दिए गए हैं जिनमें 48 मेगापिक्सल का एक प्राइमरी लेंस है. 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड लेंस है और 2 मेगापिक्सल का मैक्रो लेंस दिया गया है.

पेपर पर भले ही कैमरा स्पेक्स आपको जैसा भी लगा हो, लेकिन एक बाद तो तय है कि इस सेग्मेंट में इस फ़ोन का कैमरा बेहतरीन है. फ़ोटो असली जैसी आती हैं और इनमें काफ़ी डीटेलिंग भी होती है.

हालाँकि ज़ूम की गई तस्वीरों में आपको कुछ ग्रेन्स ज़रूर मिलेंगे, लेकिन नॉर्मल मोड पर क्लिक की गई तस्वीरें शानदार लगती हैं. इनडोर में अगर रौशनी ठीक हो तो इसका पोर्ट्रेट मोड भी अच्छा काम करता है.

कम रौशनी में इस सेग्मेंट के ज़्यादातर स्मार्टफोन्स का परफ़ॉर्मेंस ऐवरेज ही होता है और इसके साथ भी वैसा ही है. कम रौशनी में ऐवरेज फ़ोटॉग्रफी कर सकते हैं, ज़्यादा की उम्मीद न रखें तो ही बेहतर है.

अल्ट्रा वाइड लेंस की बात करें तो ये भी अच्छा परफ़ॉर्म करता है और इस सेग्मेंट के लिहाज़ से इसे अच्छा कहा जा सकता है. हालाँकि इसमें आपको मुख्य कैमरे की तरह डीटेलिंग नहीं मिल पाएगी, लेकिन फिर भी ये ठीक ठाक ही लगता है.

बात मैक्रो कैमरे की करें तो ये भी ऐवरेज से थोड़ा बेहतर कहा जा सकता है. इसे और भी बेहतर करने की दरकार थी. ऑब्जेक्ट के नज़दीक से आप अच्छी तस्वीरें क्लिक कर सकते हैं, लेकिन कई बार हमें फ़ोकस करने में थोड़ी मशक़्क़त करनी पड़ी.

Moto G 5G में सेल्फ़ी के लिए 16 मेगापिक्सल का फ़्रंट कैमरा दिया गया है. सेल्फ़ी कैमरा अच्छा है और इससे अच्छी सेल्फ़ी क्लिक कर सकते हैं. सेल्फ़ी के लिए सॉफ़्टवेयर बेस्ड पोर्ट्रेट मोड भी दिया गया है जो ठीक काम करता है.

सेल्फ़ी असली जैसी लगती हैं, आम तौर पर कई स्मार्टफ़ोन में बनावटी सेल्फ़ी लगती हैं, लेकिन मुझे इस फ़ोन के सेल्फ़ी कैमरे में ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है.

बैटरी

Moto G 5G में 5,000mAh की बैटरी दी गई है. इसके साथ 20W का फ़ास्ट चार्जिंग सपोर्ट मिलता है. लगभग 2 घंटे में फ़ोन को फ़ुल चार्ज होने में लग जाता है, इसलिए मुझे लगता है इसे और फ़ास्ट होना चाहिए था.

बैकअप की बात करें तो मिक्स्ड यूज में आप इसे दिन भर आराम से चला सकते हैं और इसके बाद स्टैंडबाय पर पूरी रात भी चलेगा. कम यूज में 1.5 दिन का बैकअप मिलेगा, ज़्यादा यूज करते हैं तो शाम तक फ़ोन चार्ज में लगाना होगा.

5G फ़ोन है, लेकिन इसका क्या फ़ायदा?

हाँ, ये सही है कि अभी इसके 5G फ़ीचर का आप यूज नहीं कर पाएँगे यानी किसी कंपनी ने अभी 5G देना शुरू नहीं किया है. लेकिन अगर आप इसे ख़रीदते हैं तो कम से कम दो साल चलाएंगे या 1.5 साल? ऐसे में जैसे ही भारत में 5G आएगा, आपका फ़ोन फ्यूचर प्रूफ़ होगा.

बॉटम लाइन

Moto G 5G इस सेग्मेंट में एक अच्छा स्मार्टफ़ोन है. डिपेंड करता है आप फ़ोन किसलिए खरदीना चाहते हैं. हार्डकोर गेमर्स हैं तो ये फ़ोन आपके लिए नहीं है, कैमरा सेंट्रिक फ़ोन लेना है तो इसे ले सकते हैं. प्योर एंड्रॉयड और लेटेस्ट अपडेट चाहिए तो आपके लिए ये फ़ोन अच्छा होगा. ओवरऑल इस क़ीमत पर ये स्मार्टफ़ोन आपके लिए एक अच्छी डील की तरह ही है.

आज तक रेटिंग - 8/10

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें