scorecardresearch
 

Rishabh Pant vs Sanju Samson: 'मैच विनर हैं ऋषभ पंत...,' कप्तान शिखर धवन ने किया बचाव, बोले- संजू सैमसन को करना होगा इंतजार

भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड दौरे पर तीन टी20 और तीन वनडे मैच खेले. मगर इस दौरान विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को सिर्फ एक ही बार मौका दिया गया. जबकि खराब प्रदर्शन के बावजूद ऋषभ पंत को सभी मैच खिलाए गए. इसकी जमकर आलोचना हो रही है. इसी बीच कप्तान शिखर धवन ने अब पंत का बचाव किया है....

X
शिखर धवन और ऋषभ पंत (Getty)
शिखर धवन और ऋषभ पंत (Getty)

Rishabh Pant vs Sanju Samson: न्यूजीलैंड के खिलाफ उसी के घर में भारतीय टीम ने पहले स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की कप्तानी में टी20 सीरीज जीती, लेकिन उसके बाद वनडे सीरीज में हार झेलनी पड़ी. इस सीरीज में शिखर धवन ने कप्तानी संभाली थी. भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड दौरे पर तीन टी20 और तीन वनडे मैच खेले. 

मगर इस दौरान विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को सिर्फ एक ही बार मौका दिया गया. उन्हें सिर्फ एक वनडे मैच में खिलाकर ही बाहर कर दिया. इस मैच में संजू ने 36 रन बनाए थे. जबकि बतौर उपकप्तान दौरे पर गए ऋषभ पंत को सभी मैचों में खिलाया गया. जबकि पंत की फॉर्म बेहद खराब रही.

संजू को अभी औऱ इंतजार करना पड़ेगा

पहला वनडे मैच ऑकलैंड में खेला गया था, जिसमें न्यूजीलैंड ने 7 विकेट से जीत दर्ज की थी. इसके बाद बाकी दो वनडे मैच शुरू तो हुए, लेकिन बारिश के कारण नतीजा नहीं निकल सका और उन्हें रद्द करना पड़ा. ऐसे में न्यूजीलैंड ने 1-0 से सीरीज पर कब्जा जमा लिया. सीरीज खत्म होने के साथ ही एक बार फिर संजू के फैन भड़क गए हैं. ज्यादातर दिग्गज भी संजू का सपोर्ट कर रहे हैं. 

जबकि बतौर वनडे कप्तान न्यूजीलैंड दौरे पर गए शिखर धवन का ऐसा मानना नहीं है. उन्होंने तीसरे वनडे के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पंत ने इंग्लैंड में खेले गए पिछले मैच में शतक लगाया था. वह मैच विनर खिलाड़ी है. उसे बैक करना जरूरी है. जबकि संजू सैमसन अपनी जगह हैं. उन्हें अच्छे प्रदर्शन के बावजूद इंतजार करना पड़ेगा. 

'एनालिसिस करके ही फैसले लिए जाते हैं'

संजू सैमसन की बजाय ऋषभ पंत को मौका देने को लेकर धवन ने कहा, 'मुश्किल तो नहीं थी. जैसे ऋषभ है. उसने इंग्लैंड में पिछला वनडे खेला था, तो उसमें उसका 100 (शतक) था. बिल्कुल जिस प्लेयर ने वहां शतक किया हुआ था, तो उसे बैक किया जाता है. लार्जर पिक्चर देखी जाती है कि मैच विनर प्लेयर है, तो उसे कितना बैक करना है कितना नहीं. इन चीजों पर एनालिसिस करके ही फैसले लिए जाते हैं.'

धवन ने आगे कहा, 'बिल्कुल संजू सैमसन अच्छा कर रहा है. वह अपनी जगह है. उसे जितने मौके मिले, उसने अच्छा किया. कई बार अच्छा करते हुए भी इंतजार करना पड़ता है, क्योंकि पहले प्लेयर ने अच्छा प्रदर्शन किया हुआ होता है. उसकी स्किल पता होती है कि वह मैच विनर है. उसे बैक की जरूरत होती है, तो उसे दी जाती है.'

यहां मिला अनुभव आगे काम आएगा

वनडे सीरीज से क्या पॉजिटिव चीज मिली? इस पर धवन ने कहा, 'एक तो टीम बॉन्डिंग है. दूसरी बात है कि हमारी वनडे की मुख्य टीम बांग्लादेश में आएगी. ऐसा भी हो सकता है कि कोई प्लेयर चोटिल हो जाए, तो यह अनुभव वहां काम आएगा. यह सबसे बड़ा पॉजिटिव है. जितने भी हमारे यंग लड़के खेल रहे हैं, उन्हें एक आइडिया हो जाता है. अनुभव तो खेलकर ही आता है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें