scorecardresearch
 
क्रिकेट

Pooja Vastrakar: पूजा वस्त्राकर की कहानी... लड़कों के साथ खेलती थीं क्रिकेट, झूलन गोस्वामी हैं रोल मॉडल

Pooja vastrakar
  • 1/9

मिताली राज की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने वूमेन्स वर्ल्ड कप में अपने अभियान का शानदार आगाज किया है. रविवार को खेले गए मुकाबले में भारत ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 107 रनोंं से करारी शिकस्त दी. भारतीय टीम की जीत में ऑलराउंडर पूजा वस्त्राकर का अहम योगदान रहा. पूजा ने 59 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 67 रनोंं की पारी खेली. इस शानदार प्रदर्शन के बाद पूजा वस्त्राकर काफी सुर्खियों में हैं.

mithali raj
  • 2/9

कप्तान मिताली राज ने पाकिस्तान के खिलाफ जीत के बाद पूजा वस्त्रकार की जमकर तारीफ की. मिताली ने कहा, 'वस्त्राकर और स्नेह राणा की साझेदारी ने हमें मैच में वापसी कराई. जब आपके पास स्नेह राणा, दीप्ति और पूजा वस्त्राकर जैसी ऑलराउंडर हों, तो टीम दोनों डिपार्टमेंट में मजबूत हो जाती है. अगले मुकाबले से पहले हमारे पास कुछ दिन है, ऐसे में उम्मीद है कि पूजा पूरी तरह से फिट होकर मैच में खेलेंगी.'

pooja vastrakar
  • 3/9

पूजा अपने छह भाई-बहनों में सबसे छोटी हैं और उनका बचपन सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग को टीवी पर बैटिंग करते हुए देख कर गुजरा है. बड़ा परिवार होने के चलते आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. इस कारण पूजा कपड़े धोने की मोगरी या लकड़ी के पट्टे से क्रिकेट खेलती थी, वो भी लड़कों के साथ.

pooja vastrakar and sneh rana
  • 4/9

22 साल की पूजा का जन्म 1999 में मध्यप्रदेश के शहडोल में हुआ था. पूजा के पिता धनाराम वस्त्राकर मूलतः छत्तीसगढ़ के निवासी है, जो बीएसएनएल में कार्यरत थे. वर्तमान समय में शहडोल शहर के धरोला मोहल्ला अपना निजी मकान बनाकर पूजा वस्त्रकार का परिवार रह रहा है.

pooja vastrakar
  • 5/9

पिता की सबसे लाडली बेटी होने के कारण पूजा वस्त्राकर को अपनी फैमली से पूरा सपोर्ट मिला है. एक इंटरव्यू में पूजा ने बताया था कि उनके पिता ने उन्हें हमेशा ही सपोर्ट किया. वह हर वक्त कहा करते थे कि 'खेलोगे कूदोगे बनोगे नवाब.'

pooja vastrakar
  • 6/9

उनकी प्रतिभा को देखकर स्कूल के हेडमास्टर अजय सिंह ने उनका शुल्क माफ कर दिया. उनकी प्रतिभा से क्रिकेट कोच आशुतोष श्रीवास्तव काफी प्रभावित थे और उन्होंने पूजा को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया. पूजा की मेहनत रंग लाई और 15 साल की उम्र में उनका चयन इंडिया ग्रीन वूमेन स्क्वॉड में हो गया.

pooja vastrakar
  • 7/9

वस्त्राकर ने 18 साल की उम्र में भारत के दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर पदार्पण किया. वह झूलन गोस्वामी को देखते हुए बड़ी हुई थीं और कभी-कभी घरेलू सर्किट पर उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती थीं. पूजा झूलन गोस्वामी को लेकर कहा था, 'मैं उनके रास्ते पर चलना चाहती हूं और उनके जैसा बनना चाहती हूं.

pooja vastrakar
  • 8/9

वस्त्राकर ने अबतक 14 वनडे, 24 टी20 और दो टेस्ट मैचों में भाग लिया है. वनडे इंटरनेशनल में उन्होंने 257 रन बनाने के अलावा छह विकेट चटकाए हैं. वहीं टी20 इंटरनेशनल में उनके नाम पर 19 विकेट के अलावा 157 रन दर्ज हैं. टेस्ट क्रिकेट में पूजा वस्त्राकर ने पांच विकेट चटकाए हैं.

pooja vastrakar
  • 9/9

सभी फोटो क्रेडिट: (getty/instagram)