scorecardresearch
 

खुशखबरी... NZP की सफेद बाघिन सीता बनी मां, तीन स्वस्थ शावकों का जन्म

नेशनल जुलॉजिकल पार्क (NZP) से खुशखबरी आई है. यहां मौजूद सफेद बाघिन सीता मां बनी है. उसने तीन शावकों को जन्म दिया है. सीता और उसके शावक स्वस्थ हैं. सीता अपने बच्चों का ख्याल रख रही है. चिड़ियाघर का स्टाफ भी चारों के खान-पान और सेहत पर नजर रख रहे हैं.

X
नेशनल जुलॉजिकल पार्क से मिली तस्वीर में दिख रहे हैं सफेद बाघिन सीता और उसके बच्चे.
नेशनल जुलॉजिकल पार्क से मिली तस्वीर में दिख रहे हैं सफेद बाघिन सीता और उसके बच्चे.

नई दिल्ली स्थित नेशनल जुलॉजिकल पार्क (National Zoological Park - NZP) में सफेद बाघ (White Tiger) के तीन शावकों का जन्म हुआ है. तीनों शावक स्वस्थ हैं. इन्हें जन्म देने वाली सफेद बाघिन (White Tigress) सीता भी सेहतमंद है. वह अपने तीनों शावकों का ख्याल रख रही है. इन शावकों का पिता विजय है. विजय भी एक सफेद बाघ है. 

NZP के डायरेक्टर धर्मदेव राय ने बताया कि बाघिन सीता और उसके तीनों शावक स्वस्थ हैं. सीता तीनों शावकों को संभाल रही है. चिड़ियाघर के स्टाफ सीता और उसके तीनों शावकों के खान-पान, सेहत आदि का पूरा ध्यान रख रहे हैं. उनके बाड़े में लगाए सीसीटीवी कैमरे से और बाहर से भी नजर रखी जा रही है. 

ये है सफेद बाघिन सीता जो अपने तीनों शावकों के पास बैठी है.
ये है सफेद बाघिन सीता जो अपने तीनों शावकों के पास बैठी है.

धर्मदेव राय ने बताया कुछ दिनों में जब शावक थोड़े बड़े हो जाएंगे, तब आम जनता इन्हें देख सकेगी. लोगों को ये बताना जरूरी है कि एक संतुलित पारिस्थिति तंत्र बनाने के लिए वाइल्डलाइफ का होना कितना जरूरी है. चिड़ियाघर ऐसे जंगली जीवों को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं. साथ ही लोगों के बीच जागरुकता फैलाने का काम करते हैं. 

ऐसा कहा जाता है कि दुनिया में इस समय 200 सफेद बाघ हैं. लेकिन सभी के सभी चिड़ियाघरों में हैं. आमतौर पर सफेद बाघ भारत, नेपाल, भूटान और बांग्लादेश में देखने को मिलते हैं. असल में बंगाल टाइगर ही होते हैं लेकिन जेनेटिक बदलाव की वजह से इनका रंग पीले के बजाय सफेद होता है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें