scorecardresearch
 

46 साल में ऐसे नीले से लाल होती चली गई धरती, NASA ने निकाला गर्मी का नक्शा

Heatwave in World: नासा ने पूरी दुनिया में पड़ रही गर्मी का एक नक्शा निकाला है. इसे देख आप समझ जाएंगे कि पूरी धरती लाल हुई पड़ी है. सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोप, एशिया और अफ्रीका हैं. 46 साल में बढ़ी गर्मी का अंतर भी दिखाया गया है.

X
NASA के GOES सिस्टम द्वारा बनाए गए इस नक्शे में पूरी दुनिया ही गर्मी से लाल हुई पड़ी है. (फोटोः NASA)
NASA के GOES सिस्टम द्वारा बनाए गए इस नक्शे में पूरी दुनिया ही गर्मी से लाल हुई पड़ी है. (फोटोः NASA)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दुनिया में बहुत सी जगहों पर जून में पारा 40 डिग्री के ऊपर था
  • भयानक गर्मी और सूखे की चपेट में यूरोप, अफ्रीका और एशिया

जून और जुलाई 2022 में तापमान इतना बढ़ा कि यूरोप, उत्तरी अफ्रीका, मिडल-ईस्ट और एशिया के कई इलाकों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस पार कर गया. कई जगहों पर तो पारे ने थर्मामीटर का रिकॉर्ड तोड़ डाला. यह जो नक्शा आप देख रहे हैं, यह 13 जुलाई 2022 का है. इसमें धरती के पूर्वी गोलार्ध के ऊपर सरफेस एयर टेंपरेचर दिखाया गया है. जो 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर है. 

इस नक्शे को गोडार्ड अर्थ ऑब्जरविंग सिस्टम (GOES) के ग्लोबल मॉडल से प्राप्त डेटा से बनाया गया है. इन नक्शे के मुताबिक वायुमंडल में बढ़ी हुई गर्मी और स्थानीयता आधार पर तापमान निकाला गया है. नासा गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर में ग्लोबल मॉडलिंग एंड एसिमिलेशन के प्रमुख स्टीवन पॉसन ने कहा कि आप इस नक्शे में लाल रंग वाले गर्म और नीले रंग वाले ठंडे इलाके स्पष्ट तौर पर देख सकते हैं. 

ये है नासा द्वारा 1976 में बनाया गया दुनिया की गर्मी का नक्शा. तब दुनिया के कई इलाके नीले रंग में दिखते थे, यानी तापमान कम था. (फोटोः NASA)
ये है नासा द्वारा 1976 में बनाया गया दुनिया की गर्मी का नक्शा. तब दुनिया के कई इलाके नीले रंग में दिखते थे, यानी तापमान कम था. (फोटोः NASA) 

स्टीवन ने कहा कि इंसानों द्वारा फैलाए जा रहे प्रदूषण, ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन की वजह से लगातार जलवायु परिवर्तन हो रहा है. वैश्विक स्तर पर गर्मी बढ़ रही है. पश्चिमी यूरोप में भयानक सूखा फैल रहा है. गर्मी और सूखे की वजह से पुर्तगाल, स्पेन और फ्रांस के कुछ हिस्सों में जंगली आग फैल रही है. पुर्तगाल में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक तापमान पहुंच गया है. यहां पर लीरिया नाम के कस्बे का 7400 एकड़ का इलाका जल गया है. पुर्तगाल के आधे हिस्से में 14 जगहों पर जंगल की आग जल रही है. 

ये है इस साल के जून महीने का दुनिया की गर्मी का नक्शा. इसमें पूरी दुनिया लाल रंग में रंगी हुई है. (फोटोः NASA)
ये है इस साल के जून महीने का दुनिया की गर्मी का नक्शा. इसमें पूरी दुनिया लाल रंग में रंगी हुई है. (फोटोः NASA)

डोलोमाइट पर मामोलाडा ग्लेशियर गर्मी की वजह से टूटा और वहां हुए हिमस्खलन में 11 हाइकर्स को मारे गए. इंग्लैंड ने पूरे देश में एक्स्ट्रीम हीट की वॉर्निंग दे रखी है. उत्तरी अफ्रीका के ट्यूनीशिया में हीटवेव की वजह से फसल खराब हो गई है. राजधानी ट्यूनिस में 13 जुलाई को तापमान 48 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था. ईरान में तापमान सबसे अधिक 52 डिग्री सेल्सियस तक पार पहुंच गया था. 

चीन में तो सड़के पिघल गईं. छत टूट गए. शंघाई में तापमान 40.9 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था. वहां पर ह्यूमेडिटी भी बढ़ी हुई है. सिर्फ इतना ही नहीं नासा ने दो नक्शे और जारी किए हैं. जिसमें 46 साल में कैसे पूरी दुनिया की शक्ल बिगड़ गई. यानी 1976 से 2022 तक कैसे नक्शा नीले से लाल होता चला गया. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें