scorecardresearch
 

Chandra Grahan 2021: 580 साल बाद लगने जा रहा ऐसा चंद्र ग्रहण, जानें इसकी खासियत

Chandra Grahan 2021: साल 2021 का आखिरी चंद्र ग्रहण शुक्रवार, 19 नवंबर को लगने जा रहा है. खगोलविदों का कहना है कि इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि बहुत लंबी होगी और संयोगवश ऐसा तकरीबन 580 साल बाद होने जा रहा है. आइए इसी कड़ी में आपको इस चंद्र ग्रहण से जुड़ी कुछ खास जानकारी देते हैं.

X
Chandra Grahan 2021: 580 साल बाद लगने जा रहा ऐसा चंद्र ग्रहण, जानें इसकी खासियत Chandra Grahan 2021: 580 साल बाद लगने जा रहा ऐसा चंद्र ग्रहण, जानें इसकी खासियत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि बहुत लंबी होगी
  • 19 नवंबर को लगेगा साल 2021 का आखिरी चंद्र ग्रहण

Chandra Grahan 2021: सूर्य और चंद्र ग्रहण को लेकर हिंदू धर्म में कई तरह की मान्यताएं हैं. साल 2021 का आखिरी चंद्र ग्रहण शुक्रवार, 19 नवंबर को लगने जा रहा है. खगोलविदों का कहना है कि इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि बहुत लंबी होगी और संयोगवश ऐसा तकरीबन 580 साल बाद होने जा रहा है. आइए इसी कड़ी में आपको इस चंद्र ग्रहण से जुड़ी कुछ खास जानकारी देते हैं.

कितनी देर का होगा चंद्र ग्रहण?
साल का आखिरी चंद्रग्रहण कहां-कहां और किस वक्त दिखेगा, ये लोकेशन और टाइमजोन पर निर्भर करेगा. रिपोर्ट्स की मानें तो भारत में चंद्र ग्रहण का समय दोपहर 12 बजकर 48 मिनट से लेकर शाम 4 बजकर 17 मिनट तक है. इस आंशिक चंद्र ग्रहण की अवधि करीब 3 घंटे 29 मिनट की होगी.

क्यों इतनी देर लगेगा चंद्र ग्रहण?
रिपोर्ट्स की मानें तो इससे पहले इतनी लंबी अवधि का चंद्र ग्रहण 18 फरवरी 1440 को लगा था. अब भविष्य में चंद्र ग्रहण की ऐसी घटना 8 फरवरी 2669 में देखने को मिलेगी. खगोलविदों का दावा है कि धरती से चंद्रमा की अधिक दूरी होने के कारण आगामी चंद्र ग्रहण की अवधि लंबी होने वाली है.

भारत में कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण
शुक्रव्रार, 19 नवंबर को लगने वाला चंद्र ग्रहण भारत में मणिपुर की राजधानी इंफाल और उसकी सीमाओं से लगे इलाकों से देखा जा सकेगा. असम या अरुणाचल प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से भी ये चंद्र ग्रहण दिखाई दे सकता है. हालांकि, चंद्र ग्रहण यहां भी पूरी तरह दिखने की बजाए एक हल्की सी रेखा के रूप में ही नजर आएगा. 19 नवंबर के बाद अगला चंद्र ग्रहण 8 नवंबर, 2022 में देखने को मिलेगा.

किन देशों में दिखेगा चंद्र ग्रहण?
19 नवंबर को लगने वाला चंद्र ग्रहण अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अंटार्कटिका और प्रशांत महासागर जैसी कुछ चुनिंदा जगहों से ही देखा जा सकेगा. आंशिक चंद्र ग्रहण होने की वजह से इसके लिए सूतक काल भी मान्य नहीं होगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें