scorecardresearch
 

Udaipur Kanhaiyalal Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड का आरोपी ट्रेनिंग के लिए गया था पाकिस्तान, जांच में हुआ खुलासा

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल मर्डर केस में एनआईए जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. जानकारी के मुताबिक, हत्याकांड के आरोपियों में शामिल एक मोहम्मद गौस वारदात को अंजाम देने से पहले ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजा गया था. हत्याकांड में दो मौलानाओं और दो वकीलों के भी शामिल होने की जानकारी सामने आई है.

X
आरोपी मोहम्मद गौस.
आरोपी मोहम्मद गौस.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वसीम और अख़्तर भी पाकिस्तान गया था
  • 28 जून को हुई थी कन्हैयालाल की हत्या

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्या कांड की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. उदयपुर के दो मौलानाओं रियासत हुसैन और अब्दुल रज्जाक ने दावत-ए-इस्लामी की ट्रेनिंग के लिए हत्याकांड के आरोपी मुहम्मद गौस को पाकिस्तान भेजा था. गौस के साथ वसीम अत्तारी और अख़्तर रजा भी पाकिस्तान गया था. एनआईए ने इन तीनों को हिरासत में लिया है. सूत्रों के अनुसार, हत्याकांड की साजिश में दो मौलाना और दो वकील भी शामिल हैं, उन्हें भी हिरासत में लिया गया है. बताया जा रहा है कि आरोपियों की एक बैठक हुई थी जिसमें रियाज अत्तारी ने टेलर कन्हैयालाल को मारने की ज़िम्मेदारी ली थी.

इस मीटिंग में रियाज, मोहम्मद गौस, आसिफ और मोहसिन शामिल थे. कन्हैयालाल की शॉप से महज 500 दूर ही मोहसिन की शॉप और पड़ोस में आसिफ के कमरे पर हत्या की साजिश रची गई थी. टेलर कन्हैयालाल की हत्या के मामले में चारों आरोपियों को शनिवार को NIA कोर्ट में पेश किया गया. पुलिस ने हत्या में शामिल दो आरोपियों रियाज, मोहम्मद गौस को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था. दोनों आरोपियों ने ही हत्या कर वीडियो शेयर किया था. इसके बाद राजस्थान एटीएस ने शुक्रवार को दो अन्य आरोपियों मोहसिन और आसिफ को गिरफ्तार किया था.

आसिफ और मोहसिन हथियार बनाने तक में रहे शामिल

रियाज ने आसिफ और मोहसिन को रेडक्लाइज करके इस वारदात में साथ देने के लिए तैयार किया था. आसिफ और मोहसिन कन्हैया लाल की हत्या की प्लानिंग से लेकर हथियार बनाने तक में शामिल रहे. कन्हैया लाल की दुकान जिस गली में थी, उस गली में पहले से रियाज और मोहम्मद गौस का आना जाना था.

उदयपुर में जब विवादित बयान पर कुछ लोग समर्थन करने लगे तभी रियाज और मोहमद गौस ने तय कर लिया था की कुछ बड़ा करना है. कन्हैया आसान शिकार लगे और चूंकि पहले से रियाज और मोहम्मद गौस कन्हैया की दुकान के पास आते जाते रहते थे और उस गली से वाकिफ थे तो हत्याकांड को अंजाम दिया.

28 जून को हुई थी कन्हैयालाल की हत्या

उदयपुर में 28 जून की दोपहर दो युवकों मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने टेलर कन्हैयालाल की धारदार हथियार से हमला कर हत्या का दी थी. आरोपी कपड़े सिलवाने के बहाने दुकान पर आए थे. इसके बाद दोनों आरोपियों ने वीडियो शेयर कर कहा था कि उन्होंने इस्लाम के अपमान का बदला लेने के लिए कन्हैयालाल की हत्या की है. इतना ही नहीं आरोपियों ने पीएम मोदी को भी धमकी दी थी.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें