scorecardresearch
 

'सचिन पायलट बनेंगे राजस्थान के CM, सभी विधायकों का है सपोर्ट,' गहलोत के मंत्री का दावा

मंत्री राजेंद्र ने कहा कि जो विधायक बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए हैं, वे भी सचिन पायलट के समर्थन में हैं और सचिन पायलट राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री होंगे. बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संकेत दिया है कि वे कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में नामांकन दाखिल करेंगे.

X
कांग्रेस नेता सचिन पायलट. कांग्रेस नेता सचिन पायलट.

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार में मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने आज तक के साथ बातचीत में बड़ा दावा किया है. राजेंद्र ने कहा है कि प्रदेश के अगले सीएम सचिन पायलट बनेंगे. सभी विधायक सचिन पायलट के साथ हैं. उन्होंने कहा कि गहलोत का समर्थन करने वाले निर्दलीय विधायक भी पायलट का समर्थन करेंगे. 

राजेंद्र ने ये भी कहा कि जो विधायक बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए हैं, वे भी सचिन पायलट के समर्थन में हैं. बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संकेत दिया है कि वे कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में नामांकन दाखिल करेंगे. ऐसे में चर्चा है कि एक पद एक व्यक्ति के तहत गहलोत को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है.

दो दशक बाद गांधी परिवार से अध्यक्ष नहीं होगा

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना 22 सितंबर से जारी हो गई है. 24 सितंबर से नामांकन भरे जाने हैं. दो दशक में पहली बार गांधी परिवार से कोई कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनावी मैदान में नहीं उतर रहा है. शशि थरूर के चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत का चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है. ऐसे में राजस्थान में नेतृत्व बदलाव को लेकर भी चर्चा तेज है, लेकिन सचिन पायलट के मुख्यमंत्री बनने की राह में कई सियासी चुनौतियां हैं.

गहलोत खेमे को पायलट स्वीकार नहीं!

दरअसल, कहा जा रहा है कि सचिन पायलट को लेकर स्वीकार्यता नहीं बन पा रही है. कुछ का तर्क है कि उन्हें किसी ऐसे व्यक्ति के नेतृत्व को स्वीकार नहीं करना है, जिसने कथित तौर पर पार्टी के खिलाफ विद्रोह किया था. राजस्थान सरकार में मंत्री अशोक चंदना द्वारा सचिन पायलट पर हालिया हमला भी दिखाता है कि उन्हें अभी और समर्थन जुटाने की जरूरत है. इसके अलावा राजस्थान में कांग्रेस के कई विधायक वरिष्ठ हैं, जो सचिन पायलट के अंडर में काम करने के लिए राजी नहीं हैं. ऐसे में पायलट को सीएम बनाकर कांग्रेस किसी तरह के जोखिम से बचना चाहती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें