scorecardresearch
 

जोधपुर में 'धर्मांतरण' की कोशिश पर उबाल, भड़क उठे हिंदू संगठन, हनुमान चालीसा का किया पाठ

Jodhpur News: जोधपुर के कुड़ी भगतासनी क्षेत्र में कथित धर्मांतरण की कोशिश पर हंगामा हो गया. हिंदू संगठनों ने दावा किया कि बिहार और उत्तर प्रदेश से आए मजदूरों को निशाना बनाया जा रहा है.

X
हिन्दू संगठनों का विरोध प्रदर्शन हिन्दू संगठनों का विरोध प्रदर्शन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कुड़ी भगतासनी क्षेत्र की घटना
  • मजदूरों को निशाना बनाने का आरोप
  • तमिलनाडु से आए पति-पत्नी गिरफ्तार

राजस्थान में जोधपुर के कुड़ी भगतासनी क्षेत्र में कथित धर्मांतरण की कोशिश का मामला सामने आया है. जानकारी मिलने पर रविवार रात हिंदू संगठन के लोग वहां जमा हो गए और विरोध-प्रदर्शन किया. साथ ही हनुमान चालीसा का पाठ किया. इन लोगों ने धर्मांतरण के लिए प्रेरित करने वालों लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. हालांकि पुलिस का कहना है कि कोई धर्मांतरण नहीं हुआ है.

पुलिस के जानकारी के अनुसार, कुड़ी भगतासनी के सेक्टर-2, गांधी गृह में रहने वाले बिहार के चौहान परिवार का कहना है कि कई दिनों से एक चर्च से जुड़े लोग उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित कर रहे थे. रविवार रात घर में प्रभु यीशु की प्रार्थना का आयोजन हुआ. इसके साथ धर्मांतरण से जुड़ी प्रक्रिया शुरू की गई. जानकारी मिलते ही आसपास के लोग जमा हो गए. लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और मौके पर हनुमान चालीसा का पाठ किया. 

विश्व हिंदू परिषद के महानगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने बताया कि क्षेत्र में बड़ी संख्या में बाहर के मजदूर रहते हैं. उनको लगातार टारगेट किया जा रहा है. कई परिवारों को ईसाई बनाने की भी जानकारी मिली है. क्षेत्र में धर्मांतरण करवाने वाले पिछले कई दिनों से इलाके में हिंदू धर्म की नकारात्मक छवि बनाने के लिए प्रचार कर रहे हैं. रविवार रात को भी इसका प्रयास किया जा रहा था. स्थानीय निवासी कैलाश वैष्णव ने हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धर्मांतरण को लेकर कुड़ी भगतासनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. 

पुलिस ने बताया कि रात की घटना के बाद मूलत: तमिलनाडु के रहने वाले हेमराज सिंह ढाणी जेके नगर चर्च में पादरी है. शांतिभंग सहित अन्य धाराओं में उन्हें और उनकी पत्नी साल्वे जयंती को गिरफ्तार किया गया है. कुड़ी भगतासनी के आसपास बड़ी संख्या में यूपी और बिहार के मजदूर परिवार रहते हैं. वे आसपास की फैक्ट्रियों में काम कर अपना परिवार चलाते हैं. कोरोना के बाद कई परिवार आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं. आरोप है कि ऐसे परिवारों को धर्मांतरण करने वाला अपना निशाना बना रहे हैं.

जोधपुर बोरानाडा  के एसपी जयप्रकाश अटल ने बताया कि रविवार रात सूचना मिली कि कुछ हिंदू संगठन इकट्ठे हुए हैं. तब हमने कुड़ी एसएचओ को मौके पर भेजा, तब हमें पता चला कि एक मकान में तमिलनाडु के पति-पत्नी आए हुए हैं. ये ईसाई हैं और धर्म प्रचारक हैं. वहां पर भोज के लिए उन्हें आमंत्रित किया गया था. हिन्दू संगठनों को शक हुआ कि ये लोग धर्म प्रचार करने आए हैं, फिर हमने पति और पत्नी दोनों को गिरफ्तार किया. धर्म परिवर्तन जैसा मामला सामने नहीं आया है. वहां पर एक भोज था. इसमें यह लोग शामिल हुए थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
; ;