scorecardresearch
 

श्वेतपत्र: कृषि कानून वापसी से क्या रूठे किसान को मना लेगी BJP?

श्वेतपत्र: कृषि कानून वापसी से क्या रूठे किसान को मना लेगी BJP?

पश्चिमी उत्तर प्रदेश बाकी के उत्तर प्रदेश से सांसकृतिक तौर भी अलग नजर आता है और आर्थिक तौर पर भी अलग नजर आता है. मोदी सरकार का सबसे बड़ा निर्णय, यानी तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का फोकस भी पश्चिम उत्तर प्रदेश और यहां के किसान ही है. श्वेत पत्र के इस एपिसोड में हम पश्चिमी यूपी का मन टटोलेंगे और बताएंगे कि यहां का किसान क्या सोच रहा है? तमाम विपक्षी दल और राजनीतिक पंडितों का भी यही कहना है कि विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए ही पिछले एक साल से अड़ी सरकार ने कानून वापसी का फैसला केवल इन किसानों की नाराजगी मिटाने के लिए ही किया है. देखिए श्वेत पत्र का ये एपिसोड.

Western Uttar Pradesh stands culturally and economically different from the rest of Uttar Pradesh. According to the political pundits, the Modi government's decision to withdraw the three agricultural laws is also focused on western Uttar Pradesh and its farmers. Watch this episode of Shwetpatra to know what farmers are thinking about it?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें