scorecardresearch
 

UP Election 2021: माफिया पर मायावती की यू टर्न सियासत, देखें 10तक

UP Election 2021: माफिया पर मायावती की यू टर्न सियासत, देखें 10तक

बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती ने 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले बाहुबली माफिया मुख्तार अंसारी की पार्टी से हाथ मिलाकर हाथी पर चढ़ाया और अब छह महीने बाद होने वाले इलेक्शन से पहले मुख्तार अंसारी का टिकट काटकर ये संदेश दिया कि अब किसी बाहुबली को मैदान में नहीं उतारेंगे. सियासत में पत्ता भी बिना वजह नहीं हिलता. 4 साल में मायावती के मुख्तार अंसारी से पल्ला झाड़ने वाले यू टर्न के पीछे की कहानी क्या है? 3 साल पहले ही ट्विटर पर आईं मायावती ऐसा ट्वीट करती हैं कि कानून के राज से यूपी की तस्वीर बदल देने का बीएसपी का संकल्प है. लेकिन मायावती के संकल्प की सिद्धि क्या वाकई होगी ? क्या यहां ये सोचा जा सकता है कि मायावती की पार्टी इस बार वाकई अपराधियों को टिकट ना देकर एक संदेश देना चाहती हैं ? या फिर ऐसा सोचना ही गलत होगा. क्योंकि 2017 में बीएसपी ने ही सबसे ज्यादा दागी-अपराधी-माफिया को टिकट देकर विधानसभा चुनाव लड़वाया था. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

Former Uttar Pradesh Chief Minister Mayawati has dropped jailed party MLA Mukhtar Ansari as a candidate for next year's state election, after years of betting on the controversial gangster-turned-politician. She said Bahujan Samaj Party (BSP)'s UP chief Bhim Rajbhar would be the candidate from Mau instead of Mukhtar Ansari.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×