scorecardresearch
 

बैतूल: बीच नदी में मछली पकड़ रहा था युवक, अचानक आ गई बाढ़, फिर...

बैतूल के बाटका गांव में नदी में फंसे युवक को 6 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सही सलामत बाहर निकाला गया. रेस्क्यू करते-करते रात हो गई थी. SDERF की टीम ने टॉर्च की रोशनी की मदद से पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दिया.

X
बाढ़ आने से नदी में फंसा युवक. बाढ़ आने से नदी में फंसा युवक.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 6 घंटे तक चला SDERF का रेस्क्यू ऑपरेशन
  • रात होने से रेस्क्यू ऑपरेशन में आई दिक्कत

मध्य प्रदेश के बैतूल में मछली पकड़ने गया युवक अचानक बाढ़ आने से बीच नदी में फंस गया, जिसे SDERF की टीम ने 6 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सही सलामत बाहर निकाला. घटना चोपना थानाक्षेत्र के बाटका गांव की है.

बताया जा रहा है कि 30 वर्षीय रामदास मछली पकड़ने के लिए दोस्तों के साथ भडंगा नदी गया था. अचानक बाढ़ आ गई और वह नदी के बीच में चट्टान पर चढ़ गया. युवक को फंसा देख गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी. स्थानीय ग्रामीणों ने भी उसे निकालने की कोशिश की. लेकिन नदी में तेज बहाव होने के कारण वह सफल नहीं हो पाए.

सूचना मिलने पर सारणी एसडीओपी रोशन जैन और होमगार्ड कमांडेड एसआर आजमी मौके पर पहुंचे. उन्होंने SDERF की टीम को मदद के लिए बुलाया. टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया. युवक को सही सलामत नदी से बाहर निकालने में पूरे 6 घंटे लग गए. रेस्क्यू करते-करते रात हो गई थी. SDERF की टीम ने टॉर्च की रोशनी की मदद से पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दिया. फिर युवक को लाइफ जैकेट पहनाकर रस्सी के सहारे नदी के किनारे तक लाया गया.

सूबेदार संदीप सुनैस ने बताया कि नदी में पानी इतना ज्यादा था कि रेस्क्यू ऑपरेशन में काफी दिक्कत आ रही थी. ऊपर से रात भी हो गई थी. हमें टॉर्च की रोशनी के सहारे रेस्क्यू ऑपरेशन करना पड़ा. युवक बिल्कुल सही सलामत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें