scorecardresearch
 

World Tourism Day 2021: रहस्यमय खजाने की तरह छिपी भारत की ये 8 खूबसूरत जगहें, भीड़-भाड़ से दूर, ट्रिप होगी यादगार

World Tourism Day 2021: अनदेखे समुद्र तटों से लेकर अद्भुत संस्कृतियों वाले गांव एक खूबसूरत डेस्टिनेशन के रूप में दुनिया के भीड़ से अलग हो चुके हैं. आइए वर्ल्ड टूरिज्म डे पर आज आपको 8 ऐसी जगहों के बारे में बताते हैं जिसके प्राकृतिक सौंदर्य को बहुत कम टूरिस्ट ने करीब से देखा है.

पीचावरम के सदाबहार वन (Photo: kartikeasvur/wikicommons) पीचावरम के सदाबहार वन (Photo: kartikeasvur/wikicommons)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अनदेखे समुद्र तटों से लेकर अद्भुत संस्कृतियों वाले गांव
  • भारत में बहुत कम लोग टूरिस्ट करते हैं इन जगहों को एक्सप्लोर

World Tourism Day 2021: भारत में कई ऑफबीट टूरिस्ट डेस्टिनेशन किसी रहस्यमयी खजाने की तरह छिपी हुई हैं. इन जगहों को बहुत कम टूरिस्ट एक्सप्लोर करते हैं. अनदेखे समुद्र तटों से लेकर अद्भुत संस्कृतियों वाले गांव एक खूबसूरत डेस्टिनेशन के रूप में दुनिया की भीड़ से अलग हो चुके हैं. आइए वर्ल्ड टूरिज्म डे पर आज आपको 8 ऐसी जगहों के बारे में बताते हैं जिसके प्राकृतिक सौंदर्य को बहुत कम टूरिस्ट ने करीब से देखा है.

असगाओ, गोवा (Assagao)- अगर भीड़ और शोरगुल से दूर कुछ सुकून के पल बिताना चाहते हैं तो साउथ गोवा की ये जगह आपके लिए बिल्कुल सही जगह है. नॉर्थ गोवा के टूरिस्ट जोन से थोड़ा आगे असगाओ गांव को बहुत कम टूरिस्ट ने एक्सप्लोर किया है. अपनी खूबसूरती और ईको-स्टे ऑप्शन के साथ असागाओ एक बेहतरीन ऑफबीट टूरिस्ट डेस्टिनेशन के रूप में अपनी पहचान बना रहा है.

नागापट्टीनम और पिचावरम, तमिलनाडु- तमिलनाडु के समुद्री तटों का अनुभव अक्सर चेन्नई, पॉन्डीचेरी और कन्याकुमारी के तटों तक ही सीमित रहा है. हालांकि, शांत वातावरण और तटीय इलाकों को पसंद करने वाले लोग नागापट्टीनम और पिचावरम जैसी जगहों पर भी जा सकते हैं.

करवार, गोवा (KARWAR)- गोवा और कर्नाटक के साउथ बॉर्डर को पार करने के बाद कारवार अनूठी संस्कृति का केंद्र है. करवार बीच, रवींद्रनाथ टैगोर बीच, काली नदी के खूबसूरत किनारे और नाव की सैर इसके प्राकृतिक सौंदर्य को बढ़ाती है. ये जगह हमेशा टूरिस्ट की भीड़ से दूर रहती है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pramod Gouda (@pramodlgouda)

धौलावीरा, गुजरात- गुजरात के रन ऑफ कच्छ में धोलावीरा न केवल एक शानदार डेस्टिनेशन है, बल्कि भारत के प्राचीन और रहस्यमयी इतिहास की भी जानकारी देता है. धौलावीरा का 'हड़प्पा स्थल' रण ऑफ कच्छ झील के ठीक बीच में स्थित है. ये जगह सिंधु घाटी सभ्यता की सबसे पुरानी जगहों में से एक है. बीते कुछ वर्षों में यह जगह लोगों को ज्यादा रास आने लगी है.

हेमिस, जम्मू-कश्मीर- बर्फीली जगहों पर रहने वाला तेंदुए (स्नो लियोपार्ड) की वजह से जम्मू कश्मीर का हेमिस नेशनल पार्क पूरी दुनिया में मशहूर है. यहां के घने जंगलों में ही आपको स्नो लियोपार्ड देखने को मिलेंगे. इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी और वाहन चलाने के लिए सड़कें ना होने की वजह से यहां बहुत कम लोगों का ही आना-जाना होता है. स्नो लियोपार्ड के अलावा आप यहां तिब्बती भेड़िया, यूरेशनिय ब्राउन भालू और लाल लोमड़ी देख सकते हैं.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Dhaval (@dhaval_dp07)

परुले, महाराष्ट्र- महाराष्ट्र में मुंबई और गोवा के बीच स्थित ये जगह एक विचित्र तटीय शहर है जो हाल के वर्षों में एक पॉपुलर ऑफबीट डेस्टिनेशन बनकर उभरा है. यहां माचली नाम की जगह बहुत फेमस है जो टूरिस्ट को नेचर फ्रेंडली एक्सपीरिएंस देती है. यहां तारकरली नाम की जगह पर स्कूबा डाइविंग समेत कोई वॉटर एक्टिविटी का लुत्फ उठा सकते हैं. इसके अलावा, लोगों की नजरों से छिपी प्रिस्तीन भोगवे बीच भी यहां देखने जा सकते हैं.

मकोकचुंग, नगालैंड- नगालैंड का यह पहाड़ी इलाका एओ नगा जनजाति के लोगों की संस्कृति का केंद्र है जो कि अपने प्रसिद्ध मॉत्सु फेस्टिवल के लिए काफी फेमस हैं. 1,325 मीटर की ऊंचाई पर स्थित मकोकचुंग में पूरे वर्ष मौसम अच्छा रहता है. अपनी इसी खासियत के कारण ये जगह बारहों मास घूमने का मौका देती है.

रुशिकुल्या बीच, ओडिशा- ओडिशा की चिल्का झील पर बना रुशिकुल्या तट के बारे में भी बहुत कम लोग जानते है. ये जगह ओडिशा के गंजम जिले में स्थित है. टूरिस्ट इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी की वजह से यहां बहुत कम लोग आते-जाते हैं. मार्च से अप्रैल के बीच यह तट छोटे-छोटे कछुओं से भरा रहता है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Mike Sanasam (@sanasammike)

    आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें