scorecardresearch
 

कोविड-19 से नुकसान के बाद कैसे आगे बढ़ेगा डोमेस्टिक टूरिज्म? एक्सपर्ट्स ने दिए जवाब

कोविड-19 से टूरिज्म इंडस्ट्री को भी भारी घाटा हुआ है. कोरोना का संकट टला नहीं है, लेकिन जिंदगी फिर से वापस पटरी पर लौटने लगी है.

कोविड-19 से नुकसान के बाद कैसे आगे बढ़ेगा डोमेस्टिक टूरिज्म? एक्सपर्ट्स ने दिए जवाब कोविड-19 से नुकसान के बाद कैसे आगे बढ़ेगा डोमेस्टिक टूरिज्म? एक्सपर्ट्स ने दिए जवाब
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लॉकडाउन के बाद खुले कई डोमेस्टिक टूरिज्म डेस्टिनेशन
  • गाइडलाइन और प्रोटोकॉल का पालन करें टूरिस्ट

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के चलते देश-दुनिया की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है. कोविड-19 से टूरिज्म इंडस्ट्री को भी भारी घाटा हुआ है. कोरोना का संकट टला नहीं है, लेकिन जिंदगी फिर से वापस पटरी पर लौटने लगी है. पंजाब टूरिज्म के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय कुमार और एडीजी मिनिस्टर ऑफ टूरिज्म रुपिंदर बरार ने बताया कि आखिर कोविड-19 के इस दौर में सुरक्षित उपायों के साथ टूरिज्म इंडस्ट्री को आगे बढ़ाया जा सकता है.

एडीजी मिनिस्टर ऑफ टूरिज्म रुपिंदर बरार ने बताया कि कोविड-19 से टूरिज्म सेक्टर को काफी नुकसान हुआ है. एयर ट्रैवल, रोड ट्रैवल, रेल ट्रैवल, होटल और टूरिज्म एक्टिविटी इससे काफी प्रभावित हुई हैं. हालांकि इस नुकसान की भरपाई के बारे में हमें सोचना ही होगा.

डोमेस्टिक टूरिज्म पर देना होगा ध्यान
उन्होंने कहा, 'भारत के डोमेस्टिक टूरिज्म को आगे लेकर जाने का यह एक अच्छा मौका हो सकता है. पिछले कुछ समय में भारत में बीमारी का ग्राफ गिरते देखा गया है और हमें उम्मीद है कि अगले कुछ सप्ताह में महामारी पर भारत का अच्छा नियंत्रण हो पाएगा. ऐसे में लोग पहले की तरह बाहर निकल सकेंगे और टूरिज्म डेस्टिनशंस को एक्सप्लोर कर पाएंगे.'

वहीं पंजाब टूरिज्म के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय कुमार ने कहा कि पूरी दुनिया देश की तरह पंजाब की टूरिज्म इंडस्ट्री भी कोविड-19 के कारण प्रभावित हुई है. आर्थिक, सामाजिक, रेवन्यू और एम्प्लॉयमेंट पर इसका काफी बुरा असर हुआ है. लेकिन टूरिज्म सेक्टर के नुकसान की भरपाई और इसे आगे लेकर जाने का अब समय आ गया है.

उन्होंने कहा कि हम पंजाब की टूरिज्म इंडस्ट्री को आगे लेकर जाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. हम देशभर से यहां आने वाले टूरिस्टों का स्वागत कर रहे हैं. हमारे यहां बड़े पैमाने पर डोमेस्टिक टूरिज्म है. पंजाब में अमृतसर, मोहाली अनंतपुर साहिब और पटियाला जैसे कई टूरिज्म सर्किट हैं, जो टूरिस्ट को काफी आकर्षित करते हैं.

पंजाब में टूरिस्ट्स के लिए खुले होटल्स
इतना ही नहीं, पंजाब एक बड़ा ट्रांजिट टूरिस्ट डेस्टिनेशन भी है. यहां से होकर लोग जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश भी जाते हैं. उदाहरण के लिए वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले ज्यादातर यात्री पंजाब से होकर ही गुजरते हैं. हिमाचल प्रदेश की टूरिज्म एक्टिविटी और वैष्णो देवी के द्वार भक्तों के लिए खुल चुके हैं. जल्द ही जम्मू कश्मीर में भी टूरिज्म एक्टिविटी शुरू हो जाएंगी. पंजाब आने वाले टूरिस्ट के लिए अब होटल्स-रेस्टोरेंट खोल दिए गए हैं. कोविड-19 से सावधान रहते हुए कुछ बंद पड़ी डेस्टिनेशन को भी जल्द खोला जा सकता है

प्रोटोकॉल का करें पालन
रुपिंदर बरार ने कहा कि गोवा, जयपुर और आगरा जैसे लोकल डेस्टिनेशन टूरिस्ट को काफी पसंद आती हैं. कोविड-19 से पहले इन जगहों पर विदेशियों की भी भीड़ इकट्ठा रहती थी. ऐसी ज्यादातर डेस्टिनेशन को फिर से शुरू कर दिया गया है, लेकिन इसके लिए टूरिस्ट को प्रोटोकॉल्स और गाइडलाइंस का भी सख्ती से पालन करना होगा. सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जैसी बातों को हमेशा ध्यान रखें. जिम्मेदार बनें और सावधानी के साथ यात्रा करें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें