scorecardresearch
 
पर्यटन

टूरिस्ट को क्यों रास आती है दुनिया के सबसे खुशहाल देश भूटान की खूबसूरती? जानें 10 खास बातें

शहरों के बीच बड़ा फासला
  • 1/13

भूटान, जहां शहर से बहुत दूर हैं शहर. (फोटो: रजत सैन)

कितना शांत है वातावरण?
  • 2/13

अगर जंगल में कोई पेड़ गिरे, और वहां कोई न हो, तो क्या पेड़ के गिरने की आवाज होगी. (बौद्ध धर्म का एक कोआन) (फोटो: रजत सैन)

पर्यटकों को क्यों पसंद आता है भूटान?
  • 3/13

जब मौन, अभिव्यक्ति बन जाए तो कुछ भी असत्य नहीं कहा जा सकता. (फोटो: रजत सैन)

टाइगर्स नेस्ट टूरिस्ट के फेमस
  • 4/13

दूर ऊंचाई पर 'शेर का घोंसला'. कि पहाड़ों ने उसे भी एक पंछी बना दिया. टाइगर्स नेस्ट के नाम से मशहूर ये जगह पर्यटकों का काफी ध्यान आकर्षित करती है. (फोटो: रजत सैन)

हर साल बुध प्रतिमा के दर्शन करने आते हैं लोग
  • 5/13

बुद्धत्व. सोने सा शुद्ध. (फोटो: रजत सैन)

भूटान में बुध की कितनी मान्यता?
  • 6/13

एक भिक्षु, जिसने खुद को खोया और इतना ऊंचा उठ गया (फोटो: रजत सैन)

दुर्शकों को लुभाते हैं भूटान के कई स्थल
  • 7/13

अस्तित्व! शून्य से निकला, फिर शून्य बन गया. (फोटो: रजत सैन)

आज भी बुध के दिखाए मार्ग पर चल रहे लोग
  • 8/13

जब मौन, अभिव्यक्ति बन जाए तो कुछ भी असत्य नहीं कहा जा सकता. (फोटो: रजत सैन)

350 करोड़ रुपए से बुध की प्रतिमा
  • 9/13

भुटान की राजधानी थिम्पू. यहीं पर साल 2006 में शुरू हुआ था बुद्धा की प्रतिमा बनाने का काम जो कि साल 2015 तक चला. इसे बनाने में करीब 350 करोड़ रुपए लगे. आज इसे देखने देश विदेश से आए लोगों का जमावड़ा लगा रहता है. (फोटो: रजत सैन)

बुध प्रतिमा के नजदीक कई बोधिसत्व
  • 10/13

ये बोधिसत्व की प्रतिमा है. माने वो इंसान जो बुद्ध के पथ पर चलने की ठान ले. बुद्ध की प्रतिमा के इर्द-गिर्द आपको कई सारे बोधिसत्व देखने को मिल जाएंगे. (फोटो: रजत सैन)

घर-घर में राजा-रानी की तस्वीरें
  • 11/13

दुकान हो या हाईवे, भुटान के राजा-रानी की तस्वीर आपको हर जगह देखने को मिलेगी. लोगों को इनसे इतना प्यार है कि इनकी तस्वीरें अपने घर में भी फ्रेम करवा कर लगवाते हैं. (फोटो: रजत सैन)

दुनिया का सबसे खुशहाल देश
  • 12/13

ये भुटान का पारो शहर है. प्रकृति जितनी खूबसूरत जान पड़ती है, उतने ही यहां के लोग. शायद इसीलिए इस देश का हेपीनेंस इंडेक्स बड़े-बड़े देशों को मात देता है. (फोटो: रजत सैन)

चंडीगढ़ से भी कम आबादी
  • 13/13

2018 की जनगणना के मुताबिक पूरे भुटान में करीब 7.5 लाख लोग ही रहते हैं. जो कि भारत के एक व्यवस्थित शहर चंडीगढ़ से भी काफी कम है. यहां के लोग काफी शांत और सभ्य मालूम पड़ते हैं और यहां कायदे-कानून से चलने पर काफी जोर दिया जाता है. (फोटो: रजत सैन)