scorecardresearch
 

शादी के सालों बाद इन कारणों से अलग हो जाते हैं पति-पत्नी, वजह जानकर तुरंत करें सुधार

कई ऐसे फिल्मी या टीवी स्टार्स हैं जो शादी के सालों बाद अलग होने का फैसला कर लेते हैं. उनकी ही तरह हमारे आसपास भी कई ऐसे लोग हैं, जो शादी के काफी समय बाद तलाक ले लेते हैं. इतने साल बाद तलाक लेने के क्या कारण होते हैं. मैरिज काउंसलर का इस मामले में क्या कहना है, इस बारे में आर्टिकल में जानेंगे.

X
(Image Credit : Pexels) (Image Credit : Pexels)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शादी के सालों बाद भी कपल अलग होने का फैसला ले लेते हैं
  • मैरिज काउंसलर ने सालों बाद तलाक लेने के कारण बताए

हर शादीशुदा इंसान की ख्वाहिश होती है कि उसकी जिंदगी भी खुशनुमा हो और वह अपने बच्चों और पत्नी के साथ जीवन के हर पहलुओं को अच्छे तरीके से जी सकें. लेकिन कई बार पति-पत्नी एक-दूसरे के साथ काफी लंबा समय गुजारने के बाद भी अलग होने का फैसला कर लेते हैं. ऐसे कई फिल्मी या टीवी स्टार्स के बारे में भी खबरें आती ही रहती हैं, जो शादी के काफी समय बाद भी अलग हो जाते हैं. वहीं आपके आस-पास भी कई ऐसे शादीशुदा जोड़े होंगे, जिन्होंने शादी के सालों बाद तलाक लिया होगा.

इसका कारण जानने के लिए साइकोलॉजिस्ट और 16 साल से मैरिज काउंसलिंग कर रहीं डॉ. गीतांजलि शर्मा ने बताया कि, आज के समय में तलाक के मामले काफी अधिक बढ़ गए हैं. मेरे सामने रोजाना कई तरह के केस सामने आते हैं, जिसमें पति-पत्नी शादी 20-30 साल बाद भी अलग होने का फैसला कर रहे हैं. मेरे पास आए विभिन्न मामलों के आधार पर पति-पत्नी के इतने लंबे समय के बाद अलग होने के निम्न कारण हो सकते हैं. 

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

(Image Credit : Pexels)

डॉ. गीतांजलि शर्मा ने बताया कि आज के समय में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर शादीशुदा लोगों के अलग होने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है. शुरुआत में तो सभी अपनी लाइफ और करियर में बिजी होते हैं. लेकिन धीरे-धीरे जैसे कुछ समय निकलता है, तो उन्हें महसूस होता है कि उनकी पति या पत्नी से ज्यादा उनकी दिलचस्पी किसी ओर में है या वे किसी ओर से इमोशनली अटैच हैं. ऐसा होना भी पति-पत्नी के लंबे रिश्ते को तोड़ सकता है. 

मजबूरी वाली शादी

कई लोग घर वालों के कारण या बिना पसंद के शादी कर लेते हैं. शुरुआत में तो घर वालों का मन रखने के लिए वे लोग शादी कर लेते हैं, लेकिन समय रहते उनके रिश्ते में कड़वाहट बढ़ती जाती है और फिर वे अलग होने का फैसला कर लेते हैं.

एक-दूसरे से विपरीत होना

शुरुआत में दोनों अगर अपने-अपने करियर को बनाने में लग जाते हैं, तो दोनों की ग्रोथ अलग-अलग दिशा में होती है, किसी भी चीज को देखने का नजरिया अलग-अलग हो जाता है आदि. उदाहरण के लिए कई रिश्तों में अलग-अलग नौकरी वाले लोगों की आपसी सहमति नहीं बन पाती, क्योंकि दोनों को अपना काम अधिक महत्वपूर्ण लगता है. फिर जैसे-जैसे करियर के कारण लंबा समय निकल जाता है, उसके बाद उन्हें लगता है कि हम दोनों एक-दूसरे से काफी अलग हैं.

बच्चों के कारण मजबूरी

डॉ. गीतांजलि ने आगे बताया, शादी के बाद कई लोगों के रिश्तों में प्रॉब्लम शुरू से ही होती है, लेकिन जब बच्चे हो जाते हैं तो वे लोग बच्चों की परवरिश के कारण एक साथ रहते हैं. फिर वे सोचते हैं कि बच्चे 15-16 साल के हो जाएं, तब कुछ फैसला लेंगे. एक यह भी कारण हो सकता है.  

ध्यान नहीं देना

आज के समय में देखा जा रहा है समय गुजरने के साथ रिश्ते में प्यार और केयर कम हो रही है. अगर किसी मामले में ऐसा होता है तो यह भी रिश्ता टूटने का कारण हो सकता है.

रिश्ते को ठीक करने की कोशिश करते रहना

उन्होंने आगे बताया कि इंडियन कल्चर में यह अधिक देखने मिलता है कि अगर शुरुआत में पति-पत्नी के बीच कुछ प्रॉब्लम हैं, तो बच्चे होने के बाद सब ठीक हो जाएंगी. ऐसे में पति-पत्नी बच्चे होने के बाद भी रिश्ते को लगातार सही करने की कोशिश करते रहते हैं, कि हो सकता है कुछ समय बाद सब सही हो जाए. लेकिन फिर जब लंबे समय तक भी ऐसा नहीं होता तो वे अलग होने का फैसला कर लेते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें