scorecardresearch
 

सबसे कम सेक्‍स करते हैं भारतीय पुरुष

एक पुरानी कहावत है कि भारतीय पुरुष हर 6 सेकेंड में सेक्‍स के बारे में सोचते हैं. लेकिन असल में औसतन भारतीय पुरुष एक हफ्ते में एक बार भी सेक्‍स नहीं करते हैं.

मेन्‍स हेल्‍थ का कवर पेज मेन्‍स हेल्‍थ का कवर पेज

एक पुरानी कहावत है कि भारतीय पुरुष हर 6 सेकेंड में सेक्‍स के बारे में सोचते हैं. लेकिन असल में औसत भारतीय पुरुष एक हफ्ते में एक बार भी सेक्‍स नहीं करते हैं. यही नहीं ये भारतीय पुरुष सेक्‍स टॉय का इस्‍तेमाल करने में भी शर्माते हैं. और तो और भारत के 48 फीसदी पुरुषों को लगता है कि उनका पार्टनर आर्गेज्‍म का बहाना कर रहा है. फोरप्‍ले के दौरान 'किस' करना भारतीयों की पहली पसंद है. सर्वे में शामिल लोगों से सबसे सेक्‍सी फीमेल सेलेब्रिटी के बारे में भी सवाल किए गए. सबसे ज्‍यादा भारतीयों ने बॉलीवुड अभिनेत्री कैटरीना कैफ को सबसे सेक्‍सी फीमेल सेलिब्रिटी बताया.

हमें यह सब कैसे पता? पुरुषों की मैगजीन 'मेन्‍स हेल्‍थ' के सितंबर अंक में छपे सेक्‍स सर्वे में इन सब बातों का खुलासा हुआ है. 30 देशों से प्रकाशित इस मैगजीन के ग्‍लोबल सर्वे में 50,796 लोगों ने भाग लिया. यह दुनिया में अपने तरह का पहला ऐसा सर्वे है.

क्‍या आप जानना चाहते हैं कि दुनिया भर में बेडरूम में क्‍या होता है? क्‍या आप दूसरों की सेक्‍स लाइफ से अपनी तुलना करना चाहते हैं? तो सर्वे के मुताबिक सबसे ज्‍यादा हॉट सेक्‍स हौलैंड के पुरुष करते हैं. वे सेक्‍स करने में माहिर होते हैं. और क्रोशियाई लोग पब्लिक में सेक्‍स करने में सबसे आगे हैं. इन्‍हें पूल, हॉट टब्‍स, मैदान, पार्कों और गाड़ियों में सेक्‍स करना पसंद है. सर्वे के मुताबिक एक औसत भारतीय के सेक्‍स पार्टनर्स की संख्‍या महज 3 होती है, जबकि एक औसत क्रोएशियाई के 11 और ग्रीस के शख्‍स के 9 सेक्‍स पार्टनर होते हैं.

सर्वे में बताया गया है कि सभी सभ्‍याताओं के पुरुष आसानी से उत्तेजित हो जाते हैं. महिलाओं की तुलना में उनका रवैया अधिक कामुकतापूर्ण होता है.

मेन्‍स हेल्‍थ इंडिया के एडिटोरियल डायरेक्‍टर जमाल शेख कहते हैं, 'दूसरे सेक्‍स सर्वे की तरह हमारा पोल ना जानकारियों से भरा पड़ा है और ना ही यह सिर्फ बदलते ट्रेन्‍ड्स के बारे में बात कर रहा है.'

'हमने यह पता लगाने की कोशिश की कि दुनिया के अलग-अलग कोनों के पुरुष सेक्‍स और रिलेशनशिप के मामले में दूसरों से बेहतर कैसे हैं. और पाठकों को यह भी बताया गया है कि कैसे वे इससे सीख सकते हैं और खुद में सुधार ला सकते हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें