scorecardresearch
 

झगड़े में कही जाे ये 6 बातें तो फिर नहीं जुड़ पाएंगे दिल

तलाक की बहुत सी वजहों के बारे में आपने सुना होगा लेकिन एक सर्वे की मानें तो लड़ाई के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले गलत शब्दों की वजह से ही ज्यादातर रिश्ते टूट जाते हैं.

कभी न बताएं पार्टनर को ये 6 बातें कभी न बताएं पार्टनर को ये 6 बातें

रिश्ते में कड़वाहट आने की बहुत सी वजहें हो सकती हैं. कई बार ये बहुत गंभीर होती हैं तो कई बार इतनी सामान्य कि उन पर हमारा ध्यान ही नहीं जाता. हाल में हुए एक सर्वे के अनुसार, लड़ाई-झगड़े के दौरान गलत शब्दों का इस्तेमाल भी रिश्तों में बिखराव की वजह बन जाता है.

यूके में हुई एक स्‍टडी में यह बात सामने आई है कि अपने रिश्‍ते में सच्‍चाई रखना बहुत अच्‍छी बात है लेकिन जरूरत से ज्‍यादा खुलापन आपके रिश्‍ते को खराब कर सकता है. ऐसे में पार्टनर से ये 6 बातें छिपाकर रखना ही आपके रिश्ते के लिए बेहतर होगा.

1. कभी भी रिश्‍ता खत्‍म करने की बात न कहें
कई बार ऐसा होता है कि आपस में किए वादे और बातें समय पर नहीं पूरी हो पाते. इसका मतलब ये नहीं है कि आपका पार्टनर आपसे प्‍यार नहीं करता और आप उस एक वादे के पूरा न होने की वजह से अपना रिश्‍ता ही खत्‍म करने की बात करने लगें.
क्‍या करें: अपने पार्टनर से ज्‍यादा से ज्‍यादा बात करने की कोशिश करें और उनकी बातों को समझना भी सीखें.
क्या न करें: जब भी लड़ाई-झगड़े की स्थिति बने तो बेवजह की बातें न करें.

2. पार्टनर को अपश्‍ाब्‍द कहने से बचें
गुस्‍सा किसी भी चीज का हल नहीं होता. ऐसे में कोई भी ऐसी बात न कहें जिसका असर लंबे समय तक बना रहे.
क्‍या करें: गुस्‍से के दौरान चुप रहना ही अच्‍छा होता है. गुस्‍सा तनाव को बढ़ा देता है इसलिए जब भी ऐसा हो किसी शांत जगह जाकर बैठें.
क्‍या न करें: गुस्‍से में पार्टनर को अपशब्‍द कहने से बचें. 

3. रिलेशनशिप को न कोसें
पुराने दिनों को याद कर करके अपने पाटर्नर और अपने रिश्‍ते को भला-बुरा कहने से बचें. ऐसा करके आप अपने रिश्‍ते में कड़वाहट ही पैदा करेंगे.
क्‍या करें: आजादी से जीने का हक सभी को है इसलिए घर की जिम्‍मेदारियों को आपस में बांट लें ताकि आप बंधा हुआ न महसूस करें. ऐसा करके आप खुद के लिए भी टाइम निकाल पाएंगे.
क्‍या न करें: जिम्‍मेदारियों का रोना लेकर न बैठें.

4. घरवालों से तुलना करने से बचें
क्‍या तुम मुझे अपनी मां के जैसा बनाना चाहते हो या फिर तुम अपने पापा के जैसे क्‍यों... ऐसी बातें करने से बचें. आपकी ये बातें आपके पार्टनर को दुख प‍हुंचाने और आपकी इमेज खराब करने के लिए काफी हैं.
क्‍या करें: सोच कर देखें कि अगर आपके परिवारवालों के बारे में आपका पार्टनर ऐसे बोले तो आपको कैसा लगेगा.
क्‍या न करें: हंसी मजाक में भी परिवारवालों को निशाना न बनाएं.

5. अपने किसी क्रश के बारे में बात न करें
आपके ऑफिस या किसी पार्टी में आपको कोई पसंद आया हैं तो उसकी तुलना अपने पार्टनर से करने से बचें. कई बार स्‍ट्रेस के कारण या फिर रिश्‍ते में उतार चढ़ाव के चलते ऐसी स्थिति सामने आ जाती है.
क्‍या करें:
ऐसे किसी भी क्रश या लाइक को बस सपनों तक ही रखें. हकीकत में आपके पार्टनर से बेहतर कुछ नहीं है.
क्‍या न करें: कभी भी ऐसी स्थिति में खुद को कमजोर न होने दें.

6. बातों को दिल से लगाना छोड़ दें
याद करें जब आप रिश्‍ते की शुरुआत में थे और बातों को इग्‍नोर कर दिया करते थे. अगर आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो रही है तो बात को वहीं खत्‍म करने की कोशिश करें.
क्‍या करें: बात को खींचने की जगह पार्टनर की गलती पर खुद सॉरी बोल देने से बात भी खत्‍म हो जाएगी और रिश्‍ते में नई ताजगी बनी रहेगी.
क्‍या न करें: बात अगर गंभीर विषय पर हो रही है तो उसे इग्‍नोर करने से बचें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें