scorecardresearch
 

Omicron diet: कोरोना के लक्षण दिखते ही खाना शुरू कर दें ये चीजें, नहीं आएगी अस्पताल की नौबत

Omicron symptoms: हेल्थ एक्सपर्ट लगातार लोगों से इम्यूनिटी को बेहतर बनाने वाली चीजों को डाइट में शामिल करने की अपील कर रहे हैं. इम्यूनिटी सिस्टम शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत देता है और मरीज की रिकवरी जल्दी हो जाती है. अगर आपको भी शरीर में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो कुछ चीजों का आज से ही खाना शुरू कर दीजिए.

Omicron diet: शरीर में कोरोना के लक्षण दिखते ही खाना शुरू कर दें ये चीजें, नहीं आएगी अस्पताल की नौबत (Photo: Getty Images) Omicron diet: शरीर में कोरोना के लक्षण दिखते ही खाना शुरू कर दें ये चीजें, नहीं आएगी अस्पताल की नौबत (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इम्यूनिटी सिस्टम शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत देता है
  • पौष्टिक चीजें खाने से जल्दी होती है मरीज की रिकवरी

Omicron Diet: भारत में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. ऐसे में हेल्थ एक्सपर्ट लगातार लोगों को इम्यूनिटी को बेहतर बनाने वाली चीजों को डाइट में शामिल करने की सलाह दे रहे हैं. इम्यूनिटी सिस्टम शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत देता है और मरीज की रिकवरी जल्दी हो जाती है. अगर आपको भी शरीर में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो कुछ चीजों को आज से ही खाना शुरू कर दीजिए.

प्लांट फूड- प्लांट बेस्ड फूड में काफी ज्यादा पोषक तत्व होते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने का काम करते हैं. ZOE कोविड स्टडी के वैज्ञानिकों का कहना है कि प्लांट बेस्ड फूड का सेवन करने वाले लोगों में गंभीर रूप से बीमार पड़ने और हॉस्पिटलाइजेशन की संभावना 40 फीसद कम होती है. इतना ही नहीं, ऐसे लोगों में वायरस की चपेट में आने का खतरा भी 10 प्रतिशत कम होता है. हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन-ए, बी6 और बी12 होता है. जबकि फलों से हमें विटामिन-ए और विटामिन-सी मिलता है.  वहीं बीज प्रोटीन, हेल्दी फैट, विटामिन-ई और आयरन का अच्छा स्रोत माने जाते हैं.

प्रोटीन और कैलोरी- अगर आपका शरीर वायरस से लड़ने के लिए पर्याप्त शक्ति नहीं जुटा पा रहा है तो कैलोरी और प्रोटीन पर ध्यान दीजिए. प्रोटीन के लिए आप अंडे, मछली, टोफू और दाल जैसी चीजें डाइट में शामिल कर सकते हैं. अगर आपको भूख नहीं लगती है तो आप केला, नट बटर, बीज और फलीदार सब्जियों का भी सेवन कर सकते हैं. एवोकाडो, चीज़, ऑमलेट जैसी चीजों से शरीर को पर्याप्त कैलोरी मिल सकती है.

फ्रोजन फूड- कोविड-19 की रिकवरी के दौरान बहुत से लोगों को थकावट महसूस होती है. ऐसे में शरीर पूरी क्षमता के साथ वायरस का मुकाबला नहीं कर पाता है. एक्सपर्ट कहते हैं कि फ्रिज में रखे फल और सब्जियां ताजे फल-सब्जियों जितनी ही पौष्टिक होती हैं. इसलिए कोरोना के संकट काल में बाजार में लाइन में खड़े होने की बजाए अपने फ्रिज में फल-सब्जियों का अच्छा स्टॉक रखें.

मसाले- स्वाद और सुगंध की क्षमता खो देना कोरोना का एक सामान्य लक्षण है. एक्सपर्ट कहते हैं कि लहसुन, अदरक और काली मिर्च जैसी चीजें ना सिर्फ खाने का जायका बढ़ाती हैं, बल्कि ये हमारे इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का भी काम करती हैं. अदरक और लहसुन दोनों ही एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज से भरपूर होती हैं. वहीं, मिर्च में कई तरह के विटामिन होते हैं और दर्द में राहत देने वाले गुण होते हैं.

ऑनलाइन ग्रॉसरी- कोरोना की चपेट में आने के बाद आपको कम से कम 7 दिन के लिए सेल्फ आइसोलेशन में रहना पड़ेगा. इस बीच आप बाजार जाकर शॉपिंग भी नहीं कर सकते हैं. आप किसी दोस्त या रिश्तेदार के हाथ ग्रॉसरी का सामान मंगवा सकते हैं. ऐसे में खाने के लिए हेल्दी चीजें ही मंगवाएं जिसमें प्रोटीन, फल, सब्जियों और साबुत अनाज जैसी चीजों की मात्रा ज्यादा हो.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×