scorecardresearch
 

ये कंपनी एंप्लायी को हफ्ते में देगी 3 दिन की छुट्टी, काम के घंटे भी किए कम

निजी जिंदगी और प्रोफेशनल लाइफ के बीच कई बार जिंदगी को बैलेंस करना बड़ा मुश्किल हो जाता है. इसके चलते लोग डिप्रेशन और एन्जाइटी जैसी समस्याएं भी झेल रहे हैं. ऐसी दिक्कतें ध्यान में रखते हुए एक ब्रिटिश कंपनी ने अपने कर्मचारियों को सप्ताह में तीन दिन छुट्टी देने की पॉलिसी लागू की है.

हफ्ते में सिर्फ 4 दिन काम करेंगे इस कंपनी के लोग, 5 डे वर्क पॉलिसी पर CEO ने कही ये बात (Photo: Getty Images) हफ्ते में सिर्फ 4 दिन काम करेंगे इस कंपनी के लोग, 5 डे वर्क पॉलिसी पर CEO ने कही ये बात (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हफ्ते में 5 की जगह सिर्फ 4 दिन काम करेंगे इस कंपनी के लोग
  • शुक्रवार-सोमवार छुट्टी पर रहेंगे ज्यादातर कर्मचारी

ब्रिटेन के एक बैंक ने अपने कर्मचारियों को सप्ताह में तीन दिन छुट्टी देने का ऐलान किया है, वो भी तनख्वाह में बिना कटौती किए. इस तरह का कदम उठाने वाली इसे यूके की अब तक की सबसे बड़ी कंपनी बताया जा रहा है.

एटम बैंक ने मंगलवार को एक घोषणा में कहा कि उसने अपने 430 कर्मचारियों के साप्ताहिक घंटों को भी 37.5 से घटाकर 34 घंटे कर दिया है. कंपनी के ज्यादातर कर्मचारी या तो सोमवार को छुट्टी पर रहेंगे या फिर शुक्रवार को. ब्रिटिश बैंक की यह पॉलिसी 1 नवंबर से लागू हुई है. इसे बैंक के कर्मचारियों के मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य और प्रोडक्टिविटी में सुधार को ध्यान में रखते हुए लागू किया गया है. कंपनी के ज्यादातर कर्मचारी बैंक की 'न्यू वर्क वीक पॉलिसी' के तहत काम कर रहे हैं.

एटम के सीईओ मार्क मुलेन ने अपने बयान में कहा, 'फोर डे वर्क पॉलिसी हमारे कर्मचारियों को जूनून के साथ आगे बढ़ने के ज्यादा अवसर देगी. वे अपने परिवार को पर्याप्त समय दे पाएंगे. इससे उनके निजी और पेशेवर जीवन में अच्छा तालमेल बनेगा.' मुलेन ने बताया कि महामारी के दौरान एटम ने मॉडर्न वर्कप्लेस से जुड़े मिथकों को भी महसूस किया, जिसमें ऑफिस में बैठकर काम करने की जरूरत भी शामिल है.

एटम को साल 2016 में मोबाइल बैंक के रूप में लॉन्च किया गया था. यह कंपनी अपने ग्राहकों को एप के माध्यम से सेविंग्स अकाउंट और बिजनेस लोन की सुविधा देती है. सीएनएन को दिए एक इंटरव्यू में मुलेन ने कहा, 'कर्मचारियों को सप्ताह में तीन दिन छुट्टी देने की नीति लागू करने से पहले कंपनी ने नए शेड्यूल का ट्रायल नहीं किया था.'

कंपनी के सीईओ ने कहा, 'नई पॉलिसी लागू होने के बाद अभी तक प्रोडक्टिविटी या कस्टमर सर्विस के स्तर में गिरावट नहीं देखी गई है. हालांकि, इसमें एडजस्ट होने में अभी लोगों को समय लगेगा.' उन्होंने कहा कि अगर आपने जीवन के 20 साल एक ही मॉडल में बिताए हैं और अचानक से आपको किसी नए मॉडल में फेंक दिया जाता है तो शुक्रवार सुबह उठकर आप यह जरूर सोचेंगे कि इस पूरे समय का मैं क्या करूं.

आइसलैंड में साल 2015 और 2019 के बीच हुई दो स्टडीज के मुताबिक, समान दर पर सप्ताह में चार दिन कार्य करने वाले प्रतिभागियों की प्रोडक्टिविटी में किसी तरह की गिरावट नहीं देखी गई है. बल्कि यह कर्मचारियों के लिए बड़ा फायदेमंद साबित हुआ है.

इससे पहले, न्यूयॉर्क शहर की एलीफेंट वेंचर्स नाम की एक सॉफ्टवेयर एंड डेटा इंजीनियरिंग कंपनी ने कहा था कि उसने अगस्त 2020 में सफल टेस्टिंग के बाद अपने यहां सप्ताह में चार दिन काम करने की पॉलिसी को हमेशा के लिए लागू कर दिया है. मुलेन ने सप्ताह में पांच दिन काम करने की पॉलिसी को 20वीं सदी का अवशेष बताया है, जो अब फिट नहीं बैठता है. उन्हें उम्मीद है कि अब बहुत सी कंपनियां एटम की इस नीति को आगे बढ़ाएंगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें