scorecardresearch
 

Long Life Foods: 100 साल से ज्यादा जीना है तो खाना शुरू कर दें ये 7 चीजें, वैज्ञानिक का दावा

अगर आप डाइट में हेल्दी जीचें शामिल करते हैं तो निश्चित तौर पर बेहतर और लंबी जिंदगी जीते हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर के जाने-माने वैज्ञानिक और हेल्थ एंड न्यूट्रिशन एक्सपर्ट डॉ. जेम्स डिनिकोलांटीनियो ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर खाने की कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताया है, जो इंसान को 100 वर्ष लंबा जीवन दे सकती हैं.

Long Life Foods: 100 साल से ज्यादा जीना है तो खाना शुरू कर दें ये 7 चीजें (Photo: Getty Images) Long Life Foods: 100 साल से ज्यादा जीना है तो खाना शुरू कर दें ये 7 चीजें (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • खान-पान की खराब आदतों से हमारी जीवन प्रत्याशा प्रभावित
  • इंसान को 100 वर्ष लंबा जीवन दे सकती हैं ये चीजें

लंबी जिंदगी की चाहत भला किसे नहीं होती है. लेकिन खराब लाइफस्टाइल के चलते इंसान की उम्र घटती ही जा रही है. कई स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि खान-पान की खराब आदतें हमारी जीवन प्रत्याशा को प्रभावित करती हैं. अगर आप डाइट में हेल्दी जीचें शामिल करते हैं तो निश्चित तौर पर बेहतर और लंबी जिंदगी जीते हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर के जाने-माने वैज्ञानिक और हेल्थ एंड न्यूट्रिशन एक्सपर्ट डॉ. जेम्स डिनिकोलांटीनियो ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर खाने की कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताया है, जो इंसान को 100 वर्ष लंबा जीवन दे सकती हैं.

कच्चा शहद- आपको जानकर हैरानी होगी कि कच्चे शहद में मौजूद पोषक तत्व कैंसर और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम करते हैं. नेशनल लाइब्रेरी ऑफ हेल्थ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, लिवर, कोलोरेक्टल और ब्रेस्ट कैंसर में शहद की प्रभावशीलता देखी गई है. स्टडी के अनुसार, शहद ट्यूमर और कैंसर जैसी कोशिकाओं के लिए हाई साइटोटॉक्सिक है, जबकि सामान्य कोशिकाओं के लिए नॉन-साइटोटॉक्सिक है.

बकरी के दूध से बना केफिर- कैंसर पूरी दुनिया में मौतों के प्रमुख कारणों में से एक है. क्या आप जानते हैं बकरी के दूध से बने केफिर में मौजूद प्रोबायोटिक्स हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को दुरुस्त कर कैंसर के ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं. ये बात कई टेस्ट ट्यूब रिसर्च में सामने आई है. जर्नल ऑफ मेडिसिनल फूड में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, केफिर इंसानों में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा 56 प्रतिशत तक कम कर सकता है.

अनार- अनार विटामिन- A, C, E और कई प्रकार के मिनरल्स का अच्छा स्रोत माना जाता है. अनार में एंटी वायरल और एंटी-ट्यूमर प्रॉपर्टीज भी पाई जाती है. नेचर मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, अनार में माइटोकांड्रिया मांसपेशियों को कमजोर नहीं पड़ने देता है. एक अन्य स्टडी के मुताबिक, माइटोकांड्रिया का डिसफंक्शन पार्किंसन जैसी एजिंग डिसीज को ट्रिगर करने का काम कर सकता है.

कच्चा केला- आपको जानकर हैरानी होगी कि हरे केले यानी कच्चे केले में एक प्रकार का प्रीबायोटिक मौजूद होता है जो कि हमारे पेट में मौजूद हेल्दी बैक्टीरिया के लिए खाना उपलब्ध करवाता है. यह ब्लड प्रेशर भी कम रखता है. कई स्टडीज के मुताबिक, हरा केला खाने से किडनी कैंसर का खतरा भी 50 प्रतिशत तक कम हो सकता है.

फर्मेंटेड फूड्स- इस बात के साक्ष्य उपलब्ध हैं कि फर्मेंटेड फूड्स हमारे मेटाबॉलिक रेट को बदल सकते हैं. इसका मतलब हुआ कि यह आपकी पाचन क्रिया की क्षमता को दुरुस्त कर सकते हैं. इनमें मौजूद प्रोबायोटिक्स, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाक्रोबियल प्रॉपर्टीज एजिंग और लंबी आयु से जुड़े जोखिमों को कम कर सकते हैं. इसके अलावा एनिमल फैट, बैरीज, मशरूम, साल्मन फिश और अंडे खाने से भी इंसान की जिंदगी बढ़ सकती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें