scorecardresearch
 

Quick Sleep Trick: सिर्फ 2 मिनट में आ जाएगी गहरी नींद, बेहद खास है कलाई की ये ट्रिक

नींद ना आने की समस्या का बहुत से लोगों को सामना करना पड़ता है. अच्छी नींद ना आने के कारण सेहत पर भी इसका काफी बुरा असर पड़ता है. ऐसे में हम आपको एक ऐसी ट्रिक के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आपके सिर्फ 2 मिनट में गहरी नींद आ सकती है.

X
2 minute sleep trick (Photo Credit: Getty Images) 2 minute sleep trick (Photo Credit: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कलाई पर 2 से 3 मिनट सर्कुलर मोशन में मसाज करने से मिलेगा फायदा
  • लोगों का ध्यान खींच रही है ये स्लीप ट्रिक

बिस्तर पर जाते ही गहरी नींद आ जाना कुछ लोगों के लिए सिर्फ एक सपना होता है. बहुत से लोगों को रात में नींद ना आने की समस्या का सामना करना पड़ता है जिससे उनकी सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है. आमतौर पर बहुत ज्यादा थकान के चलते नींद काफी आसानी से आ जाती है लेकिन कुछ लोगों के साथ ऐसा नहीं होता. कुछ ऐसे लोग भी हैं जो नींद लाने के लिए दवाइयों का सहारा लेते हैं. सोशल मीडिया पर एक ट्रिक काफी वायरल हो रही है. इसे लेकर दावा किया जा रहा है कि इससे आपको बिस्तर पर जाते ही सिर्फ 2 मिनट में नींद आ सकती है.

टिकटॉक पर एक यूजर ने नई स्लीप ट्रिक के बारे में बताया है. टिकटॉक पर इस यूजर का youngeryoudoc नाम से अकाउंट है. व्यक्ति के इस वीडियो को अब तक 25 हजार से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं. इस व्यक्ति ने बताया कि  कलाई के एक खास स्पॉट को रब करने से आपको चुटकियों में नींद आ सकती है. शख्स ने इस बात का दावा किया कि ऐसा कुछ मिनट तक करने से आपको गहरी नींद आ जाएगी. 

वीडियो में नींद लाने के लिए इस शख्स ने अपनी कलाई के अंदर की तरफ पल्स प्वाइंट पर 2 से 3 मिनट तक सर्कुलर मोशन में मसाज करने की बात कही है. टिकटॉक पर यह 2 मिनट स्लीप ट्रिक सभी का ध्यान अपनी ओर खींच रही है. 

photo credit: youngeryoudoc

बता दें कि कलाई के अंदर की तरफ पल्स प्वाइंट एक एक्यूप्रेशर प्वाइंट होता है. इस जगह पर जब आप रब करते हैं या हल्के हाथों से इस जगह पर दबाव डालते हैं तो इससे आपका दिमाग शांत होता है. ट्रेडिशनल चाइनीज मेडिसिन में, कलाई के इस एरिया को शेन मेन कहा जाता है, जिसका हिंदी में मतलब है 'आत्मा का द्वार'

साल 2010 और 2015 में हुई दो अलग-अलग स्टडीज में लोगों की कलाई के पल्स प्वाइंट में मसाज की गई जिसके रिजल्ट्स काफी अच्छे आए. स्टडी में पाया गया कि इन सभी लोगों की स्लीप क्वॉलिटी अच्छी हुई और स्लीप डिसऑर्डर की समस्या भी काफी हद तक कम हुई. इस दौरान लोगों की स्लीप क्वॉलिटी बेहतर पाई गई. इस स्टडी में शामिल लोगों की लाइफ क्वॉलिटी भी सही हुई और जो लोग नींद के लिए दवाइयों का सेवन करते थे, उसमें भी कमी देखी गई. 

हालांकि रिसर्चर्स का यह भी कहना है कि यह स्टडी काफी छोटी थी जिसमें यह पता लगाना काफी मुश्किल है कि जिन लोगों को इंसोमनिया की दिक्कत है, उन्हें इससे फायदा मिलेगा या नहीं. या खुद से अगर अपनी कलाई की मसाज की जाए तो यह फायदेमंद साबित होगा या नहीं. ऐसे में इन मामलों पर भी रिसर्च करनी काफी जरूरी है. हालांकि, किसी भी तरीके को आजमाने से पहले आप किसी एक्सपर्ट से जरूर सलाह ले लें.

 और पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें