scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म, जानें खासियत

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 1/9

गर्मियों के मौसम में फलों के राजा आम की डिमांड काफी ज्यादा बढ़ जाती है. लोग मैंगो शेक, चटनी, मुरब्बा और अचार में भी इस स्वादिष्ट फल का जायका लेते हैं. भारत में लोगों को दशहरी, लंगड़ा, चौसा, केसर, बादामी, मालदा और तोतापरी आम का स्वाद ज्यादा पसंद किया जाता है. लेकिन गर्मियों के इस सीजन में पाकिस्तान में पैदा हुई आम की कुछ नई किस्म बहुत ज्यादा सुर्खियों बटोर रही हैं.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 2/9

दरअसल पाकिस्तान के बाजार में शुगर फ्री आम की तीन नई प्रजातियां बिकने के लिए तैयार हैं, जिन्हें कोई भी डायबिटीज मरीज आसानी से खा सकता है. बता दें कि आमतौर पर डॉक्टर डायबिटीज मरीजों को आम न खाने की सलाह देते हैं. रिपोर्ट के अनुसार, सिंध के टंडो अल्लाहयार में प्राइवेट एग्रीकल्चर फार्म में आम की इन प्रजातियों को साइंटिफिकली मोडिफाई किया गया है.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 3/9

आम की इन तीनों प्रजातियों का नाम सोनारो, ग्लेन और कीट बताया जा रहा है. 'एमएच पंहवार फार्म्स' में आम की ऑर्गेनिक खेती कर रहे  गुलाम सरवर ने इस नई किस्म को खोजा है. पाकिस्तान के एक स्थानीय न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि इस किस्म को उगाने के लिए विशेष प्रकार की तकनीकों का सहारा लिए गया है और इसमें शुगर को कंट्रोल रखने के लिए कई एक्सपेरीमेंट भी किए गए हैं.

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 4/9

बाजार में मिलने वाले चौसा आम में शुगर की मात्रा 12 से 15 प्रतिशत तक होती है. इसी वजह से डायबिटीज मरीजों को यह न खाने की सलाह दी जाती है. लेकिन सोनारो, ग्लेन और कीट इनसे बिल्कुल अलग हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, सानारो में 5.6 प्रतिशत, ग्लेन में 6 प्रतिशत और कीट में सिर्फ 4.7 प्रतिशत ही शुगर होता है.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 5/9

इस शुगर फ्री आम की किस्म को तैयार करन में लभगभ पांच साल का समय लगा है. ये आम लोगों के लिए किफायती हैं और पाकिस्तान के बाजारों में ये जल्दी ही 150 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिकेंगे. आम और केले जैसे फलों पर पंहवार के शोध के लिए पाकिस्तान सरकार उन्हें सितारा-ए-इम्तियाज से भी सम्मानित किया था. उनकी मौत के बाद अब उनके भतीजे गुलाम सरवर ये जिम्मेदारी संभाल रहे हैं.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 6/9

सरवर ने बताया कि उन्होंने यह पूरा शोध खुद अपने पैसों से पूरा किया है और इसमें उन्हें सरकार से मदद नहीं मिली है. उन्होंने बताया कि इस तकनीक से न सिर्फ फलों की शेल्फ लाइफ भी बढ़ती है, बल्कि डायबिटीज रोगियों के शरीर का शुगर लेवल भी कंट्रोल रहता है.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 7/9

आम खाने के फायदे- अलग-अलग तरह के रंगों में आने वाले आम में कई प्रकार के विटामिन, मिनरल और एंटी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. इसमें मौजूद विटामिन K न सिर्फ ब्लड क्लॉट्स में फायदेमंद है, बल्कि एनीमिया से भी बचाव करता है. बहुत कम लोग ये बात जानते होंगे कि आम हमारी हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करता है.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 8/9

आम में विटामिन C की भी भरपूर मात्रा होती है, जो कि रक्त वाहिकाओं और हेल्दी कोलेजन के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है. विटामिन C शरीर के जख्मों को तेजी से भरने में मदद करता है. इसके अलावा भी आम कई बड़ी बीमारियों से हमारे शरीर की रक्षा कर सकता है.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रहीं आम की 3 नई किस्म
  • 9/9

एक्सपर्ट कहते हैं कि आम के पीले और नारंगी भाग में बीटा कैरोटीन पाया जाता है. बीटा कैरोटीन आम में पाए जाने वाले कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट्स में से एक है. आम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर में फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं, जो कि कैंसर के बढ़ने के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं.

Photo: Getty Images (प्रतीकात्मक तस्वीर)