scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

Happy B'day Sylvester Stallone: पैरालाइज्ड फेस-पाई-पाई को मोहताज, हालात से लड़ सिल्वेस्टर कैसे बने रॉकी?

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 1/10

बेशुमार पैसा, शोहरत और कामयाबी ये चीजें कई लोगों को मिल जाती हैं, फिर भी हर सफल इंसान सिल्वेस्टर स्टेलॉन नहीं बन पाता. वो सिल्वेस्टर जिसने जिंदगी की तमाम मुश्किलों का जवाब अपने जोरदार पंच से दिया. और फैंस के दिल पर 'रॉकी' नाम की ऐसी छाप डाली कि उसकी चमक आज 45 साल बाद भी फीकी नहीं पड़ी. अपना 75वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे स्टेलॉन आज न सिर्फ लोगों के लिए फिल्मी सितारा हैं, बल्कि एक बड़े फिटनेस आइकन भी हैं.

Credit: Metro-Goldwyn-Mayer Studios

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 2/10

स्टैलॉन का नाम आज बेशक दुनिया के टॉप सेलिब्रिटीज में आता है, लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब भीड़ में खड़े गरीब स्टैलॉन को लोग जानते तक नहीं थे. पैरालाइज फेस के साथ उन्हें पर्दे पर काम मिलना मुश्किल था. आवाज में इतना भारीपन था कि लोग रुककर बात तक नहीं करते थे. पाई-पाई को मोहताज स्टैलॉन ने फिर भी हार नहीं मानी और वो कर दिखाया जो हर किसी के लिए मुमकिन नहीं है.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने रॉकी
  • 3/10

स्टैलॉन जब पैदा हुए तो उनके चेहरे का निचला हिस्सा पैरालाइज्ड था. जीभ और ठोड़ी पर उसका असर आज भी दिखाई देता है. 5 साल की उम्र में स्टैलोन अपने पिता के साथ वाशिंगटन डीसी में चले गए थे. एक तरफ माता-पिता के बीच झगड़ों से उनका बचपन प्रभावित हो रहा था और दूसरी तरफ स्कूल में पैरालाइज्ड चेहरा उन्हें बाकी बच्चों से अलग बनाता था. उनके व्यवहार में चिड़चिड़ापन, झगड़ा और खराब ग्रेड के चलते उन्हें कई बार स्कूल से निकाला भी गया.

Credit: Fanpop/boytoy_84

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 4/10

स्टैलॉन की उम्र के साथ उनकी जिंदगी का संघर्ष बड़ा होता चला गया. खराब हालात और पैसों की तंगी के चलते उन्हें घर से निकाल दिया गया. इस बीच उन्हें एक सॉफ्ट पॉर्नोग्राफी फिल्म में काम का ऑफर मिला, जिसमें दो दिन काम करने के उन्हें करीब 200 डॉलर मिले. स्टैलॉन कहते हैं कि मेरे पास फिल्म में काम करने या डकैती डालने के अलावा तीसरा कोई रास्ता नहीं बचा था.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 5/10

कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़कर स्टैलॉन न्यूयॉर्क चले गए. वहां उन्हें एक्टर बनने की हर मुमकिन कोशिश की. वह ढेरों कास्टिंग एजेंट से मिले, लेकिन कोई भी उनके पैरालाइज्ड फेस और भारी आवाज पर दांव खेलने को तैयार नहीं था. साल 1975 सिल्वेस्टर स्टैलॉन के लिए बड़ा टर्निंग प्वॉइंट साबित हुआ. मशहूर बॉक्सर मुहम्मद अली और चुक वैप्नर के बीच एक फाइट ने मानो स्टैलोन को उनका मकसद ही समझा दिया.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 6/10

इस फाइट के बाद स्टैलॉन एक्टिंग की बजाय स्क्रीनप्ले राइटिंग में करियर बनाने के बारे में गंभीरता से सोचने लगे. फाइट की रात वो घर लौटे और महज तीन दिन में 'रॉकी' की स्क्रिप्ट तैयार कर ली. 'रॉकी' की स्क्रिप्ट हाथ में लिए स्टैलॉन ने न जाने कितने ही फिल्म डायरेक्टर्स का दरवाजा खटखटाया होगा. लेकिन किसी को उनकी स्क्रिप्ट समझ में नहीं आती थी तो कोई फिल्म में उनके लीड रोल से नाखुश था.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 7/10

कास्टिंग एजेंट और डायरेक्टर्स के ऑफिस के चक्कर लगाते-लगाते स्टैलॉन के हालात इतने बदतर हो चुके थे कि उनके पास खाने तक के पैसे नहीं बचे थे. स्टैलॉन के पास एक पालतू कुत्ता भी था जिसे वो बेस्ट फ्रेंड से कम नहीं समझते थे. इस बुरे वक्त में उन्होंने उसे भी 50 डॉलर में किसी अजनबी को बेच दिया था.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 8/10

स्टैलॉन इंडस्ट्री में नए थे और कोई भी उन पर पैसा लगाने को तैयार नहीं था. उनकी अदाकारी का एक भी नमूना इससे पहले किसी ने नहीं देखा था. डायरेक्टर्स उनसे कहते थे कि वो एक राइटर हैं, एक्टर बनने के चक्कर में अपना समय बेवजह खराब कर रहे हैं. जिन डायेरक्टर्स को रॉकी की स्क्रिप्ट पसंद आई वो उसकी अच्छी कीमत देने को तैयार थे, पर शर्त यही थी कि पर्दे पर स्टैलॉन की जगह कोई और होगा. कोई बड़ा एक्टर.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 9/10

स्टैलॉन को विश्वास था कि उनकी स्क्रिप्ट, उनसे बेहतर अभिनय कोई और कर ही नहीं सकता है. आखिरकार एक स्टूडियो फिल्म में उनके अभिनय के साथ काम करने पर राजी हो गया. लेकिन तब शर्त यह थी कि फिल्म बहुत कम बजट में बनाई जाएगी. स्टैलॉन को जैसे ही फिल्म बनाने की पहली किश्त मिली, वो फौरन अपने कुत्ते को अपने पास ले आए.

Credit: Getty Images

सिल्वेस्टर स्टेलॉन कैसे बने 'रॉकी'
  • 10/10

1976 में रॉकी जब रिलीज हुई तो मानो रातोंरात स्टैलॉन बुलंदियों पर पहुंच गए. रॉकी एक बड़ी कमर्शियल हिट साबित हुई और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जबर्दस्त कलेक्शन की. इतना ही नहीं, ऑस्कर अवॉर्ड की रेस में भी फिल्म ने सबको पीछे छोड़ दिया. एक के बाद एक फिल्म के पांच भाग रिलीज हुए. 2006 में 'रॉकी बैलबोआ' नाम से एक और फिल्म रिलीज की गई. 2015 और 2018 में क्रीड-1 और क्रीड-2 नाम से दो फिल्में रिलीज हुईं, जिनमें स्टैलॉन बतौर कोच नजर आए.

Credit: Getty Images